UPTET एग्‍जाम से पहले दो साल्वर हुुुए गिरफ्तार

2017-10-14T16:03:44Z

अध्यापक पात्रता परीक्षा टीईटी से पहले स्पेशल टॉस्क फोर्स ने सॉल्वर गैंग का भंडाफोड़ करते हुए दो ऑपरेटर को गिरफ्तार कर लिया है

allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: एसटीएफ की लखनऊ टीम ने बहरिया डिहवा निवासी संदीप पटेल पुत्र ओमकार नाथ व मऊआइमा किराव के रहने वाले शिवजी पटेल पुत्र राम अभिलाष को जॉर्जटाउन थाना क्षेत्र के हाशिमपुर चौराहे से गिरफ्तार कर लिया है. इनके कब्जे से तीन मोबाइल, 31 इलेक्ट्रानिक डिवाइस, 25 डिवाइस स्टीकर, 28 ब्लूटूथ डिवाइस, सात सिम और करीब 10 हजार रुपए बरामद हुए हैं. गौरतलब है कि टीईटी परीक्षा 15 अक्टूबर को होनी है.

 

ये हुआ बरामद

3 मोबाइल

31 इलेक्ट्रानिक डिवाइस

25 डिवाइस स्टीकर

28 ब्लूटूथ डिवाइस

7 सिम बरामद

10 हजार रुपए

 

व्यापमं से भी कनेक्शन

एसटीएफ के एडिशनल एसपी लखनऊ त्रिवेणी सिंह ने बताया कि गिरोह का सरगना इलाहाबाद के ही सुरेंद्र पाल व केएल पटेल हैं, जो विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में धोखाधड़ी करके अवैध वसूली करता है. उन्होंने बताया कि केएल पटेल मध्य प्रदेश के चर्चित व्यापमं घोटाले में भी जेल जा चुका है. गिरफ्त में आए अभियुक्तों से पूछताछ में यह भी पता चला है कि डिवाइस की सप्लाई करने वाला गैंग दिल्ली का है, जिसके बारे में एसटीएफ जानकारी जुटा रही है. साथ ही गिरोह में शामिल अन्य युवकों की तलाश में छापेमारी कर रही है.

 

ओरिजिनल मार्कशीट रख लेते थे

एसपी त्रिवेणी सिंह ने बताया कि गिरोह के सदस्य काफी शातिर हैं. वह परीक्षार्थियो को उत्तीर्ण कराने का प्रलोभन देते हैं और उनसे पैसा लेने के बजाय ओरिजनल मार्कशीट अपने पास रख लेते थे. फिर परीक्षा पास करने के बाद उनसे पैसा वसूलते हैं. उन्होंने बताया कि सॉल्वर परीक्षा के दौरान स्पाई डिवाइस का इस्तेमाल करते हैं. साथ ही कान में इयर प्लग यानी वायरलेस ईयरफोन का इस्तेमाल करते हैं, जो आवाज नहीं करता है. परीक्षा शुरू होते ऑपरेटर व सॉल्वर के इलेक्ट्रानिक उपकरण कनेक्ट हो जाते हैं. इसके बाद दो घंटे का पेपर 15 से 20 मिनट में हल कर देते हैं.


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.