बरेली 'कैंसिल हो शिक्षकों की काउंसलिंग चहेतों को दी जा रही मनचाही पोस्टिंग'

2019-07-14T08:46:10Z

इंग्लिश मीडियम के प्राइमरी स्कूलों में भर्ती के लिए हो रही काउंसलिंग। स्कूलों की लगाई गई लिस्ट में पारदर्शिता न बरतने का लगाया आरोप फ्राइडे को हंगामा किया था

bareilly@inext.co.in

BAREILLY: इंग्लिश मीडियम में अपग्रेड किए गए प्राइमरी स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती के लिए डायट परिसर में काउंसलिंग के दौरान फ्राइडे को हंगामे के बाद सैटरडे को बीएसए ऑफिस में शिक्षको को काउंसलिंग के लिए बुलाया गया, लेकिन काउंसलिंग के लिए स्कूल्स की लिस्ट लगते ही शिक्षकों ने फिर हंगामा शुरू कर दिया. शिक्षकों ने चहेतों को तैनाती देने के लिए एकल व बंद स्कूलों सहित सभी स्कूलों के नाम लिस्ट में शामिल नहीं करने के आरोप लगाए. उत्तर प्रदेशीय प्राथमिक शिक्षक संघ ने पटल सहायक को हटाकर काउंसलिंग निरस्त कराने की मांग करते हुए बीएसए को नौ सूत्रीय शिकायती पत्र भी सौंपा. आनन-फानन में विद्यालय सूची बदली गई. देर शाम तक काउंसलिंग कराई गई
यह लगाए आरोप
मीरगंज ब्लॉक के प्राइमरी स्कूल पैगा नगरी में भाषा अध्यापक का मात्र एक पद रिक्त था, फिर भी दूसरा शिक्षक और भेज दिया. समस्तपुर, गुलडि़या, पुहैया बुजुर्ग, रइया नगला, मुहम्मद गंज में भाषा शिक्षक के रिक्त पद सूची में नहीं खोले गए. जबकि नौसना, गुगई, मनकरा, कपूरपुर, हुरहुरी, घनेटा व असद नगर में विज्ञान के शिक्षक मौजूद हैं. यहां उर्दू, हिंदी, संस्कृत के शिक्षकों के रिक्त पदों पर तैनाती होनी थी लेकिन विज्ञान के शिक्षक फिर भेज दिए. बिथरी ब्लॉक के इंग्लिश मीडियम में अपग्रेड उच्च प्राइमरी स्कूल नत्थूरम्पुरा, क्यारा ब्लॉक के उच्च प्राइमरी स्कूल करेली व मोहनपुर चिकटिया स्कूल का नाम सूची में शामिल नहीं किया. जिन स्कूलों का नाम शामिल किया उनमें खाली पद कम दिखाए. भुता ब्लॉक के प्राइमरी बाकरगंज में भी प्रधानाध्यापक का पद रिक्त था, लेकिन इसे भी छिपाया गया.
दिव्यांगता का नहीं दिया लाभ
यूपीएस क्यारा के शिक्षक पुष्पेंद्र को दिव्यांगता का लाभ नहीं दिया. बिथरी ब्लॉक के पीएस उगनपुर के दिव्यांग शिक्षक महेश कुमार को फेल कर दिया. जबकि प्राइमरी के प्रधानाध्यापक व जूनियर के सहायक अध्यापक का संवर्ग एक होने पर भी इनकी काउंसलिंग अलग-अलग कराकर खेल किया.
शिक्षकों की शिकायतों का संज्ञान लेकर इंग्लिश मीडियम स्कूलों में शिक्षकों की भर्ती के लिए चल रही काउंसलिंग में पारदर्शिता बरती जाएगी.
तनुजा त्रिपाठी, बीएसए


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.