निगम के सर्वे तक ही सिमट जाता जर्जर इमारतों का भविष्य

2019-07-11T11:00:31Z

- नगर निगम ने पूरे शहर में करीब 100 जर्जर मकान किए थे चिन्हित

- चार से पांच मकानों पर कार्रवाई, शेष नोटिस देकर छोड़े

LUCKNOW: शहर की जमीन पर जर्जर इमारतें सीना ताने खड़ी हैं और ज्यादातर इमारतों में लोग रह भी रहे हैं। निगम की ओर से हर साल जर्जर भवनों का सर्वे तो कराया जाता है, लेकिन इसके बाद इनका भविष्य सिर्फ और सिर्फ नोटिस तक ही सिमट कर रह जाता है। हादसे होने के बाद शुरू हो जाता है लापरवाही को छिपाने का खेल।

100 के करीब जर्जर इमारतें

नगर निगम ने सर्वे कराकर करीब 100 जर्जर इमारतों को चिन्हित किया था। इनमें से अधिकतर इमारतें पुराने शहर की थीं। सर्वाधिक इमारतें जोन 1 में सामने आई थीं। चिन्हित की गई जर्जर इमारतों को निगम की ओर से नोटिस जारी की गई थी। नोटिस के बाद असर तो दिखा था लेकिन करीब आधा दर्जन इमारतें ऐसी थीं, जिनकी ओर से कोई एक्शन नहीं लिया गया। जिसके चलते निगम की ओर से करीब आधा दर्जन इमारतों को जमींदोज किया गया था।

नोटिस तक सिमटती कार्रवाई

हर साल जर्जर मकानों को चिन्हित किया जाता है और नोटिस जारी की जाती है। इसके बाद आगे एक भी कदम नहीं उठाया जाता है। पिछली बार भी नोटिस जारी की गई थी, लेकिन बारिश खत्म होते ही यह अभियान सिर्फ कागजों में ही सिमट कर रह गया।

विवाद बन रहा रोड़ा

ज्यादातर जर्जर मकानों में मकान मालिक और किराएदारों के बीच विवाद चल रहा है। अधिकतर मामले कोर्ट में हैं। जिससे जर्जर मकानों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हो पा रही है। हालांकि निगम के अधिकारियों का कहना है कि ऐसे विवादित मकानों की लिस्ट बनाकर कोर्ट भेजी जाएगी। कोर्ट के आदेश के बाद आगे जो भी जरूरी कदम होंगे, उठाए जाएंगे।

फैक्ट फाइल

- 8 जोन निगम के अंतर्गत

- 110 वार्ड निगम क्षेत्र में

- 100 जर्जर मकान चिन्हित किए थे

- 5-6 मकानों को गिराने की कार्रवाई की गई

- 7-8 के करीब जर्जर मकानों के हिस्से गिरे थे पिछले साल

बाक्स

इन इलाकों में हैं जर्जर मकान

बरफखाना, हुसैनगंज, उदयगंज, पुराना किला कैंट रोड, सरोजनी देवी लेन, गुरु गोविंद सिंह मार्ग, तारक मुखर्जी रोड, कैसरबाग, अमीनाबाद, टेढ़ी बाजार चौराहा, लोधपुरवा, घसियारी मंडी, लाटूश रोड, कैंट रोड, तिलक नगर, नाका हिंडोला, मोतीनगर, नेवाज खेड़ा, मवैया, रकाबगंज, यहियागंज, बेगमगंज, भीम नगर, ईटकी मोहल्ला, नवाबगंज, कुंडरी, सुभाष मार्ग, वशीरतगंज, पंजाबी टोला, नालबंदी टोला, पांडेय टोला, मेंहदी टोला, अब्दुल अजीज रोड, शीतला देवी नौबस्ता, ठाकुरगंज, मातादीन रोड सआदतगंज, शक्तिनगर आलमबाग आदि।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.