चेकिंग में पकड़े गए 'बॉस' और 'राम'

2018-11-17T06:00:57Z

- ट्रैफिक पुलिस ने नंबर प्लेट पर नाम लिखने वालों का काटा चालान

- दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने ऐसे वाहनों के खिलाफ चलाया था कैंपेन

GORAKHPUR: देर से ही सही लेकिन ट्रैफिक पुलिस ने अभियान तो चलाया। दैनिक जागरण आई नेक्स्ट ने सिटी में नियम तोड़ चलने वाली गाडि़यों के खिलाफ कैंपेन चलाया था। जिसके बाद आरटीओ ने कई गाडि़यों पर शिकंजा कसा था। इसी क्रम में अब नियम तोड़ने वालों के खिलाफ ट्रैफिक पुलिस भी उतर गई है। शुक्रवार को एसपी टै्रफिक आदित्य प्रकाश वर्मा के नेतृत्व में गाडि़यों पर राम और बॉस जैसे शब्द लिखने वाले वाहनों का चालान काटा गया। इसके साथ ही जो लोग बिना हेलमेट और तीन सवारी मिले उनका भी चालान काटा गया।

सड़क पर खुलेआम चलते हैं तीन सवारी

टै्रफिक पुलिस और आरटीओ की लाख सख्ती के बाद भी नियम तोड़ने वालों के कानों पर जूं तक नहीं रेंगती है। ऐसे लोगों का मानना है कि एक या दो दिन तो चेकिंग होती है इसमे इधर-उधर गलियों से निकल लो उसके बाद फिर कौन पूछता है। ये सही भी है क्योंकि चेकिंग भी कभी-कभी कुछ खास चौराहों पर ही होती है जो की चिन्हित हैं। जब भी चेकिंग होती है तब नियमों को तोड़ने वाले लोग इधर-उधर से निकल जाते हैं।

हेलमेट बांटने का भी असर नहीं

हर कोई टू व्हीलर चलाते समय हेलमेट लगाए इसके लिए एसपी ट्रैफिक आदित्य प्रकाश वर्मा ने हेलमेट भी वितरित किया। जिससे लोग जागरूक हों ओर बाइक चलाते समय हेलमेट जरूर लगाएं। लेकिन हालत ये है कि कुछ ही लोग हेलमेट में दिखते हैं। जबकि ज्यादातर लोग बिना हेलमेट के चलते दिखेंगे।

शौकिनों का बाजार गर्म

गाडि़यों में नियमों के विरुद्ध लगने वाले आइटम्स से सिटी के सभी मार्केट पटे पड़े हैं। इन मार्केट की हर दिन की अच्छी खासी कमाई भी है। सिटी के शौकिन लोग अपनी गाडि़यों में तरह-तरह के आइटम लगवाते हैं जो कि नियम के विरुद्ध हैं। इसी तरह शौकिन लोग आरटीओ से वीआईपी नंबर लेते हैं और उसे मामा, काका, बॉस और राम जैसे लिखवाते हैं। जिससे घटना होने पर नंबर ट्रेस नहीं हो पाता है।

चेकिंग में काटा चालान

शुक्रवार को एसपी ट्रैफिक के नेतृत्व में बिना हेलमेट, बिना सीट बेल्ट, तीन सवारी और गलत तरीके से लिखे नंबर प्लेट वाले 121 वाहनों का चालान काटा गया।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.