10 दिन से गायब हैं 2 किसान बरैला झील में 300 पुलिसकर्मियों ने चलाया सर्च अभियान

2019-01-06T06:00:30Z

-बरामदगी के लिए चलाया सर्च अभियान

HAZIPUR/PATNA: विगत 10 दिनों से अपराधियों द्वारा अगवा किए गए जंदाहा थाना के महिसौर निवासी 2 किसानों की बरामदगी को लेकर शनिवार को बड़ी संख्या में पुलिस द्वारा बरैला झील में सर्च अभियान चलाया गया। करीब 300 से ज्यादा की संख्या में वैशाली जिला के विभिन्न थाना क्षेत्रों के पुलिस बल और पुलिस केंद्र वैशाली से भेजे गए पुलिस बल के अलावा पटना से आई एसटीएफ की टीम के साथ जवानों तथा एसएसबी के जवानों एवं रैपिड एक्शन फोर्स के जवानों द्वारा शनिवार को अहले सुबह से योजनाबद्ध तरीके से बरैला झील के चारों ओर से किसान की खोज को लेकर सर्च ऑपरेशन चलाया गया। शाम लगभग 5:00 बजे तक जारी रहा।

30 किमी में की गई जांच

पुलिस के कां¨बग ऑपरेशन में शिवहर एवं सीतामढ़ी जिला से भी पुलिस बल पहुंचे तथा जवानों के साथ सर्च ऑपरेशन चलाया गया। इस दौरान पुलिस ने लगभग 30 किलोमीटर के क्षेत्रफल में स्थित बरैला झील के सूखे खेतों में लगाए गए सरसों की फसल गेहूं के फसल एवं जंगल में अगवा 2 किसानों की खोज को लेकर खाक छानती रही। लेकिन गायब किसानों का कोई सुराग पाने में पुलिस सफल नहीं हो पाई। वहीं पुलिस के कां¨बग ऑपरेशन में समस्तीपुर जिला के पुलिस बल ने भी सहयोग दिया। लेकिन गायब किसानों की कोई सुराग नहीं मिल पाई। नेतृत्व एएसपी अभियान वैशाली एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी महुआ कर रहे थे। पटना एसटीएफ के कई पदाधिकारी एवं पुलिस बल एसएसबी के सहायक कमांडेंट एवं पुलिस बल रैपिड एक्शन फोर्स के पदाधिकारी शामिल थे।

बरामदगी के लिए चलाया सर्च अभियान

व्यवसायी की हुई थी हत्या

उल्लेखनीय है कि विगत गुरुवार 27 दिसंबर की देर रात अपराधियों द्वारा जंदाहा थाना के डीह बूचौली निवासी पानी व्यवसाय ऋषिकेश झा को घर से खींच कर गोली से छलनी कर निर्मम हत्या कर दी गई थी। बचाने आए उनके चाचा उमाकांत झा को भी अपराधियों ने गोली एवं बम से प्रहार कर गंभीर जख्मी कर दिया था। उसी दौरान घटना को अंजाम देकर जाने के दौरान अपराधियों ने महिसौर निवासी किसान रंजीत कुमार सिंह उर्फ चुनचुन सिंह तथा रमेश झा को तब अगवा कर लिया जब दोनों किसान बरैला झील स्थित अमठामा गांव से अपने खेत में लगे गेहूं की फसल की ¨सचाई कर रात्रि लगभग 10:00 बजे अपने घर आ रहे थे। मालूम हो कि घटना के पश्चात बीते शुक्रवार से ही पुलिस द्वारा दोनों किसानों की खोज को लेकर लगातार अभियान जारी कर रखा गया है।

10 दिन बाद भी सुराग नहीं

घटना के 10 दिन बाद भी अब तक अपहरण किए गए दोनों किसानों का कोई पता नहीं चल पाया है। घटना को लेकर दोनों किसानों के परिजनों में हाहाकार मची है तथा दोनों किसान के परिजन किसी अनहोनी की घटना को लेकर भयंकर आशंकित हैं। गांव के लोगों में दहशत व्याप्त है। सगे संबंधी एवं ग्रामीण दोनों किसानों के परिजनों को संभालने में लगे हैं। इसी बीच पुलिस द्वारा आज शनिवार को किसानों की खोज को लेकर बड़े पैमाने पर खोजी अभियान चलाया गया। लेकिन दुर्भाग्यवश कोई सुराग नहीं मिल पाई। इस कारण परिजन हतोत्साहित हैं। साथ ही गांव में भी लोगों के मन में दहशत है। पुलिस जांच में जुटी हुई है।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.