तीन पुलिसकर्मियों का जोन से बाहर तबादला

2018-09-30T06:00:47Z

छात्रा के साथ की थी अश्लीलता, पहचान उजागर की थी

Meerut : यूपी 100 की पीआरवी में नर्सिंग छात्रा से अभद्रता व मारपीट के मामले में निलंबित महिला कांस्टेबल सहित तीनों पुलिसकर्मियों का तबादला जोन से बाहर कर दिया गया है। महिला कांस्टेबल को वाराणसी और अन्य दो पुलिसकर्मियों को गोरखपुर जोन भेजा गया है। एडीजी प्रशांत कुमार ने बताया कि जांच पूरी होने तक तीनों निलंबित रहेंगे।

वायरल की थी वीडियो

बीते रविवार को जागृति विहार सेक्टर-6 स्थित एक किराए के कमरे से हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं ने प्रेमी युगल को आपत्तिजनक हालत में पकड़ा था। युवक की पिटाई कर पुलिस को सौंप दिया था। हिंदू संगठन के कार्यकर्ताओं ने थाने पर हंगामा कर आरोपित छात्र के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी। छात्र-छात्रा के परिजन कार्रवाई न करते हुए उन्हें अपने साथ ले गए थे। बीते मंगलवार को पुलिस की करतूत का वीडियो वायरल हुआ। वीडियो में दिख रहा है कि यूपी-100 की पीआरवी चला रहे पुलिसकर्मी छात्रा से अश्लीलता कर रहे हैं, अभद्र धार्मिक टिप्पणियां कर रहे हैं। संप्रदाय विशेष के युवक के साथ पकड़े जाने पर पुलिसकर्मियों ने आपत्ति जताई। इसी दौरान पीछे बैठी महिला कांस्टेबल ने छात्रा को कई थप्पड़ भी जड़े।

हो चुके हैं सस्पेंड

वीडियो वायरल होने के बाद यूपी-100 की पीआरवी संख्या 563 पर तैनात हेड कांस्टेबल सलेखचंद, कांस्टेबल नीटू सिंह के अलावा छात्र से मारपीट करने वाली मेडिकल थाने की महिला सिपाही प्रियंका सिंह को निलंबित कर दिया गया था। होमगार्ड सेंसरपाल के खिलाफ कार्रवाई के लिए होमगार्ड कमांडेंट को पत्र लिखा गया था।

नहीं दर्ज हो सके बयान

छात्रा से अभद्रता और मारपीट के मामले में घिरी मेरठ पुलिस की जमकर किरकिरी हुई है। वहीं दूसरी ओर अभी तक पीडि़ता और उसके युवक के बयान दर्ज नहीं हो सके हैं। माना जा रहा है कि इस मामले में छात्रा और उसके सहपाठी के बयान दर्ज होने के बाद बड़ी कार्रवाई हो सकती है। मेडिकल थाना पुलिस ने बताया कि जल्द ही युवक-युवती के बयान दर्ज कराए जाएंगे।


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.