गैराज में रखते थे ज्वेलरी ड्राइवर गैंग ने कर ली चोरी

2019-05-27T09:56:43Z

एनईआर के डिप्टी चीफ इंजीनियर कंस्ट्रक्शन के घर में चोरी उनके ड्राइवर ने की थी घर से बाहर जाने पर इंजीनियर की फैमिली कीमती गहने गैराज में रखती थी

- एनईआर के डिप्टी चीफ इंजीनियर कंस्टक्शन के घर चोरी

- पुराने ड्राइवर ने बनाया सात का गैंग, तीन को किया अरेस्ट

Gorakhpur@inext.co.in
GORAKHPUR: एनईआर के डिप्टी चीफ इंजीनियर कंस्ट्रक्शन अखिलेश त्रिपाठी के घर में चोरी उनके ड्राइवर ने की थी. घर से बाहर जाने पर चोरी के डर से इंजीनियर की फैमिली कीमती गहने गैराज में रखती थी. इसकी जानकारी उनके पुराने ड्राइवर को थी. मौका मिलने ड्राइवर ने अपने साथियों संग मिलकर लाखों रुपए की ज्वेलरी चुरा ली. रविवार को एसपी सिटी विनय सिंह ने बताया कि ड्राइवर सहित को अरेस्ट किया गया है. चार अन्य की तलाश में पुलिस टीम लगी है.

फैमिली संग दिल्ली गए इंजीनियर, घर में चोरी
कैंट एरिया के गोल्फ कॉलोनी के मकान नंबर 780 में डिप्टी चीफ इंजीनियर अखिलेश त्रिपाठी फैमिली संग रहते हैं. 16 मई की सुबह वह किसी सरकारी काम से दिल्ली चले गए. उनके साथ पत्नी क्षमा त्रिपाठी भी बच्चों संग चली गई. कौआबाग मोहल्ला निवासी ड्राइवर रिशू कुमार उनको रेलवे स्टेशन पर छोड़कर आया. रात में उनके घर के गैराज में रखे करीब 50 लाख रुपए के गहने चोरी हो गए. 17 मई की सुबह नौकर संजय यादव ने पुलिस और अखिलेश त्रिपाठी को जानकारी दी. 18 मई को एफआईआर दर्ज करके पुलिस मामले की छानबीन में जुट गई.

गैराज में रखते गहने, जानते थे कुछ करीबी
रेलवे चौकी प्रभारी अक्षय मिश्रा की टीम ने जांच की तो किसी करीबी पर शक हुआ. गैराज में गहने रखने की जानकारी कुछ खास लोगों को थी. रविवार सुबह पुलिस ने मोहद्दीपुर, पांडेय पेट्रोल पंप के पास ड्राइवर रिशू कुमार, स्टेडियम कॉलोनी के राज और बिछिया के रामलीला मैदान निवासी अभिषेक को गिरफ्तार किया. उनके पास से रेलवे अधिकारी के घर से चुराई ज्वेलरी बरामद हुई. पूछताछ में पता लगा कि इनके अन्य चार अन्य बिछिया मोहल्ले के शुभम, दुर्गेश, पंकज और अबकर भी शामिल रहे हैं.

रेलवे अधिकारियों की गाड़ी चलाते हैं ड्राइवर
चोरी के आरोप में पकड़े गए रिशू, उसके साथी किसी न किसी रेलवे अधिकारी की गाड़ी चलाते हैं. इसके बदले में उनको आठ से 10 हजार रुपए की तनख्वाह मिलती है. आमतौर पर लोग ज्वेलरी आलमारी में रखते हैं. लेकिन चोरी के डर से इंजीनियर की पत्‌नी ज्वेलरी गैरेज में रखती थीं. पुलिस का कहना है कि जल्द अन्य आरोपियों को दबोच ि1लया जाएगा.

फंसता देखकर घर में फेंक दी ज्वेलरी
जांच शुरू होने पर आरोपियों ने कुछ ज्वेलरी इंजीनियर के घर में फेंक दिए. इसके बाद ड्राइवर रिशू ने फोन से बताया कि बांउड्री में उसने ज्वेलरी देखी है. इसकी जानकारी होने पर पुलिस का शक गहरा हो गया. सर्विलांस की मदद से पुलिस आरोपियों तक पहुंचने में कामयाब रही.

चोरी के आरोपित ड्राइवर और उसके साथियों को पुलिस ने अरेस्ट कर लिया गया है. चार अन्य की तलाश की तलाश की जा रही है.

विनय कुमार सिंह, एसपी सिटी


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.