उम्र 77 साल और सजा उम्रकैद दुष्‍कर्म के दोषी आसाराम कभी अनोखे अंदाज में देते थे आशीर्वाद देख सकते हैं ये तस्‍वीरें

2018-04-25T15:18:46Z

राजस्‍थान के जोधपुर सेंट्रल जेल में आज आसाराम को नाबाल‍िग से दुष्‍कर्म के मामले में उम्र कैद की सजा सुनाई गई है। सूत्रों की मानें तो फैसला सुनने के वक्‍त आसाराम बेचैन हो रहे थे। बतादें क‍ि यह वही आसाराम हैं जो खुद को कभी सेल्‍फ गॉड बता अनुयायि‍यों को धर्म का अनोखा पाठ पढ़ाते थे। इतना ही नहीं सज सवंरकर ठुमके लगाना और स्‍टाइल में रहना इनका पहला काम था। समर्थकों को आशीर्वाद देने का अंदाज भी काफी अलग था। यकीन न हो तो ये तस्‍वीरें आप देख सकते हैं

जज मधूसूदन शर्मा ने आसाराम पर सुनाया फैसला
(एजेंसियां)।
जोधपुर सेंट्रल जेल में पिछले साढे चार से बंद दुष्कर्म के आरोपी आसाराम पर आज जोधपुर सेंट्रल जेल में जज मधूसूदन शर्मा ने फैसला सुनाया है। आसाराम नाबालिग से दुष्कर्म के मामले में दोषी करार हो गए हैं।

(फोटो प्रेट्र)
जोधपुर सेंट्रल जेल के बैरक नंबर दो पास सुनाई गई सजा
आज 77 वर्षीय आसाराम पर जोधपुर सेंट्रल जेल के बैरक नंबर दो के पास बने बैरक में सुनवाई हुई। आसाराम पर पॉक्सो और अजा-जजा एक्ट की धाराएं लगाई गई थी। यूपी शाहजहांपुर की एक किशोरी ने  20 अगस्त, 2013 को उनके खिलाफ एफआइआर दर्ज कराई थी।

(फोटो प्रेट्र)
पीड़िता ने आसाराम पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे

पीड़िता ने आसाराम पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए थे कि छिंदवाड़ा आश्रम के कन्या छात्रावास में 12वीं कक्षा में पढ़ती थी। आसाराम को जोधपुर पुलिस ने 31 अगस्त, 2013 को इंदौर से गिरफ्तार किया था। वह 2 सितंबर, 2013 से न्यायिक हिरासत में है।
(फोटो प्रेट्र)

आसाराम के साथ ये लोग भी बनाए गए थे आरोपी
वहीं 6 नवंबर, 2013 को पोस्को अधिनियम, किशोर न्याय अधिनियम और आईपीसी के विभिन्न वर्गों के तहत आसाराम के साथ उसके प्रमुख सेवादार शिवा, रसोइए प्रकाश द्विवेदी, वार्डन शिल्पी और एक अन्य साथी शरतचंद्र भी विभिन्न धाराओं में आरोपी बनाए गए थे।
(फोटो प्रेट्र)

आसाराम खुद को सेल्फ गॉड के रूप में दिखाते थे
आसाराम अपने सर्मथकों के सामने खुद को सेल्फ गॉड के रूप में दिखाते थे। वैसे तो इनके समर्थक पूरे देश में हैं लेकिन गुजरात, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा जैसे इलाकों में इनकी की संख्या काफी ज्यादा रही। इस तस्वीर में आसाराम सूरत में जन्माष्टमी मना रहे हैं।
(फोटो प्रेट्र) 
जम्मू में कुछ इस तरह से होली देखते आसाराम  
आसाराम के सत्संगों में लाखों की संख्या में समर्थक जुटते थे। आसाराम बड़े-बड़े तीज त्योहारों में अपने अनुयायियों के साथ काफी मस्ती करते रहते थे। अब उनकी इस तस्वीर को ही देख लीजिए जिसमें वह जम्मू में वह होली के त्योहार पर अपने समर्थकों के साथ होली खेलते हुए। 
(फोटो प्रेट्र)
आसाराम हमेशा एक अलग स्टाइल में रहते थे
आसाराम खुद को हमेशा एक नए अंदाज में ही पेश करने की कोशिश करते थे। खास मौकों पर अपने सिर पर पगड़ी जरूर पहनते थे। इतना ही नहीं वह समर्थकों को साथ जबरदस्त ठुमके भी लगाते थे। हम नहीं कह रहे बल्कि इस तस्वीर में आप खुद ही देख सकते हैं।
(फोटो एफपी)
आशीर्वाद में चॉकलेट, टॉफी आदि फेकते थे आसाराम
आसाराम अक्सर बड़े कार्यक्रमों में एक स्वचलित मशीन पर बैठकर अपने समर्थकों पर आशीर्वाद में चॉकलेट, टॉफी आदि फेकते थे। अहमदाबाद आध्यात्मिक केंद्र में गुरुपूर्णिमा के पर्व पर इस तरह का तरीका अपनाते थे। आसाराम के इस तरीके को यह तस्वीर साफ बयां कर रही है।
(फोटो एफपी)
कुछ ही देर में जेल कोर्ट में सुनाया जाएगा आसाराम पर फैसला, राजस्थान से लेकर दिल्ली तक काबू किए जा रहे समर्थक
स्कूटी सवार युवती ने युवकों द्वारा स्कर्ट खींचे जाने का दर्द ट्वीट से किया बयां, CM बोले शर्मनाक दर्ज हुआ केस



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.