टोक्यो पैरालंपिक में ऊंची कूद में सिल्वर मेडल जीतने वाले मरियप्पन थंगावेलु पर इनामों की बारिश शुुरु हो गई। तमिलनाडु सरकार ने मरियप्पन को 2 करोड़ रुपये देने का एलान किया है।

चेन्नई (एएनआई)। तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एमके स्टालिन ने मंगलवार को टोक्यो पैरालिंपिक सिल्वर मेडलिस्ट मरियप्पन थंगावेलु के लिए 2 करोड़ रुपये नकद पुरस्कार की घोषणा की। स्टालिन ने ट्वीट किया, "भारत और तमिलनाडु दोनों ही मरियप्पन थंगावेलु के लगातार पदकों से खुश हैं। इसकी सराहना करने के लिए तमिलनाडु सरकार ने मरियप्पन थंगावेलु को दो करोड़ रुपये का इनाम देने की घोषणा की है।" चल रहे टोक्यो पैरालिंपिक में पुरुषों की ऊंची कूद स्पर्धा में रजत पदक जीतने के बाद, मरियप्पन थंगावेलु ने मंगलवार को कहा कि अगर हालात बेहतर होते और भारी बारिश नहीं होती तो वह 1.90 मीटर का निशान साफ ​​कर लेते।

बारिश के चलते चूके गोल्ड
यूरोस्पोर्ट द्वारा आयोजित एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान मरियप्पन थंगावेलु ने कहा, "शुरुआत में, बारिश हुई मगर सिर्फ बूंदा बांदी हो रही थी, इसलिए यह इतना मुश्किल नहीं था हम ठीक कर रहे थे लेकिन एक बार 1.80 मीटर और ऊंची छलांग लगाने के बाद, बारिश तेज हो गई और हालात मुश्किल हो गए। मेरे लिए और भी बुरा था क्योंकि मेरे मोजे गीले हो गए थे और इसने टेकऑफ को मुश्किल बना दिया था। यही कारण है कि मुझे ऊंची छलांग लगाने में मुश्किलें आईं।"

नहीं बन पाए थे ध्वजवाहक
थंगावेलु उद्घाटन समारोह में ध्वजवाहक होने से चूक गए थे क्योंकि उनकी पहचान एक कोविड ​​​​-19 संक्रमित व्यक्ति के निकट संपर्क के रूप में की गई थी। उद्घाटन समारोह से बाहर होने के बारे में बात करते हुए, थंगावेलु ने कहा: "अगर हालात बेहतर होते, तो मैं 1.90 मीटर का निशान पार ​​कर लेता, एक करीबी COVID-19 संपर्क के कारण ध्वजवाहक होने से चूकना परेशान कर रहा था, लेकिन मैं चाहता था देश के लिए पदक जीतूं। मैंने आयोजन की अगुवाई में अलगाव नियमों के कारण अलग से प्रशिक्षण लिया।"

एक दिन में आए दो मेडल
मरियप्पन थंगावेलु और शरद कुमार ने मंगलवार को टोक्यो के नेशनल स्टेडियम में पुरुषों की ऊंची कूद के फाइनल में क्रमश: रजत और कांस्य पदक जीता। वे दोनों स्पोर्ट क्लास T42 थे। मरियप्पन थंगावेलु ने 1.86 मीटर की छलांग लगाकर रजत पदक जीता। खेलों में यह उनका दूसरा पदक है, जो पहले ही रियो 2016 में स्वर्ण पदक जीत चुके हैं। इस बीच, शरद कुमार ने 1.83 मीटर के अपने सत्र के सर्वश्रेष्ठ अंक को हासिल करने के बाद कांस्य पदक जीता।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari