दुनिया की 10 जगहें जहां सबसे ज्‍यादा बारिश होती है

2015-06-29T10:59:55Z

बारिश का मौसम आते ही हर दिल झूम उठता है। झूमें भी क्‍यों न आखिर यह मौसम है ही इतना सुहाना। बारिश के सीजन में प्रकृति के करीब जाने का एक सुनहरा अवसर मिलता है। इसका अहसास दिल को हरा भरा कर देता है। शायद इसीलिए बच्‍चे बूढ़े युवक युवतियां जानवर पेड़ पौधे किसान हो या व्‍यवसाई सभी इस मौसम का बेसब्री से इंतजार करते हैं क्‍योंकि बारिश से इस जमीन को बहुत कुछ मिलता है। आज लोग बारिश के पानी को बचाकर रखने का भी प्रयास कर रहे हैं क्‍योंकि आज धरती पर बहुत से ऐसे स्‍थान हैं जहां पर पानी की कमी हैं। वहीं कुछ ऐसी भी खास जगहें हैं जहां पर अक्‍सर बारिश होती है। जहां पर भारी बारिश की वजह से हमेशा मौसम हरा भरा होता है। इतना नहीं पर्यटकों के लिए ये स्‍थान पहली पसंद बन चुके हैं और ये धरती के स्‍वर्ग के रूप में माने जाते हैं। ऐसे में आइए जानें दुनिया की टॉप 10 जगहें जहां पर भारी बारिश होती है

Cherrapunji:
सतंरो की भूमि के नाम से मशहूर चेरापूंजी सबसे ज्यादा बारिश होने वाली जगहों में टॉप पर है।चेरापूंजी, मेघाय, भारत-खासी हिल्स से लगभग 10 मील दूर स्थित है। यहां पूरे साल बारिश होती है। यहां पर बारिश का सालाना रिकार्ड 498 इंच हैं। चेरापूंजी को वहां पर क्षेत्रीय भाषा में लोग सोहरा नाम से भी पुकारते हैं। भारी बारिश की वजह से चेरापूंजी के जंगल हमेशा हरे भरे होते हैं। यहां पर दूर दूर से पर्यटक पूरे साल आते हैं। ऊंचाई से गिरते पानी के फव्वारे, कुहासे के समान मेघों को देखने में बड़ा अच्छा लगता है। भारी बारिश की वजह से यह गिनीज रिकॉड में भी दुनिया के सबसे ज्यादा नमी वाले स्थान के रूप में दर्ज हो चुका है। भारत सरकार ने यहां पर आने वाले पयटकों के लिए कई सारे रिसोर्ट और स्पॉट बनवाए हैं।

Mawsynram:

मेघालय के पूर्वी खासी हिल्स जिले में एक छोटा सा गांव है Mawsynram। यहां पर बारिश का सालाना औसत 461 इंच रिकॉर्ड हुआ है।वर्ल्ड रिकॉर्ड्स में गिनीज बुक के अनुसार, Mawsynram में 1985 में  सालान औसत बारिश 1000 इंच दर्ज की जा चुकी है। यहां पर मानसून बंगाल की खाड़ी से आता । यह इलका चेरापूंजी से लगभग 15 किमी दूर स्िथत है। हरियाली या सुहाने मौसम की वजह से यह भी पयर्टको की पसंद में एक हैं। यहां पर पूरे साल मौसम में नमी रहती है। यहां पर जनवरी से अगस्त के बीच में मौसम  का तापमान 10 डिग्री सेल्सियस से 20 डिग्री सेल्सियस तक होता है। यहां पर कई बड़े झरने है जो पयर्टकों को अपनी ओर खीचनें में कामयाब होते हैं।

Waialeale:

सयुंक्त राज्य अमेरिका स्िथत Waialeale में भी भारी बारिश होती है। यहां पर सलाना बारिश का औसत 451 इंच दर्ज हुआ है। अमेरिका स्िथत यह प्लेस भी काफी हरा भरा रहता है। यहां पर भी कई सारी खूबसूरत झीलें और पहाड़ हैं। इसे दुनिया का भारी बारिश वाला तीसरा स्थान दिया गया है।
Debudscha:
अफ्रीका स्िथत कैमरून माउंटेन, पश्चिम अफ्रीका की सबसे ऊंची चोटियों में एक माना जाता है। ऐसे में इसके पास एक देबूंदस्चा गांव बसा है। यहां पर हर साल काफी बारिश होती है।यहां आसमान में उड़ते हुए बादल देखने में काफी खूबसूरत लगते हैं। यहां पर सलान बारिश का औसत 404.6 इंच दर्ज हुआ है।

Quibdo:

हरियाली की घाटी के नाम से जाने वाले कोलंबिया के पास स्िथत Quibdo भी बारिश के मामले में अव्वल दर्जे पर है। यहां पर हर साल करीब 353.9 इंच बारिश होती है। यहां पर बारिश की वजह से ही कोलंबिया पूरे साल हरा भरा रहता है। यह दुनिया का पांचवा भारी बारिश वाला स्थान है।
Bellenden Ker:
ऑस्ट्रेलिया स्िथत पर्वत Bellenden Ker पर भी काफी बारिश होती है। दुनिया में भारी बारिश के वाले छठवें स्थान पर गिने जाने वाले Bellenden Ker का मौसम भी हमेशा हरा भरा रहता है। यहां पर भारी वर्षा के कारण, इस जगह भी Kearneys फॉल्स, जोसफिन फॉल्स, Tchupala फॉल्स, रजत क्रीक फॉल्स, Wallicher फॉल्स, Nandroya फॉल्स, गोरे फॉल्स और सीपी प्रपात जैस कई सारे झरने हैं। यहां पर सालाना बारिश 340 इंच दर्ज हुई।
Andagoya:
कोलंबिया स्िथत Andagoya गांव में भी साल भर काफी बारिश होती है। जिससे यहां का मौसम भी हमेशा नमी वाला रहता है। इस दौरान यहां का सालान बारिश का औसत 281 इंच दर्ज किया गया है। यह स्थान भी पर्यटकों की पंसद में विशेष रूप से शामिल होता है।
Henderson Lake:
कोलंबिया स्िथत हेंडरसन झील में भी काफी बारिश होती हैं। यहां पर बारिश का सालाना औसत 256 इंच दर्ज हुआ है। कोलंबिया की यह झील दुनिया की खूबसूरत झीलों में गिनी जाती है।
Kikori:
पापुआ न्यू गिनी स्थित Kikori में भी भारी बारिश होती है। यहां पर सालाना बारिश का औसत 242.9 इंच हैं।
Tavoy:
म्यांमार स्िथत Tavoy में भारी बारिश होती है। यह दुनिया के भारी बारिश वाले टॉप 10 स्थानों में सबसे अंतिम नंबर पर गिना जाता है। यहां पर भी सालाना बारिश 214.6 इंच दर्ज हुई है।

Hindi News from World News Desk

Posted By: Shweta Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.