ट्रैफिक जाम से परेशान है बनारस

2018-12-24T06:00:13Z

-सिर्फ सिगरा, मदहिया नहीं अन्य इलाके भी जाम से परेशान है लोग

- एसपी ट्रैफिक ने दे रहे भरोसा, जल्दी ही जाम से मिलेगी निजात

स्मार्ट सिटी बनारस की सबसे बड़ी समस्या क्या है? निश्चित है आप कहेंगे शहर में लगने वाला ट्रैफिक जाम। इन दिनों शहर में सिर्फ भीड़ वाले गिने चुने एरिया नहीं बल्कि शहर के आधे से ज्यादा चौराहों और उससे लगे हर रोड पर जाम लग रहा है। जिसकी वजह से अब लोगों को अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए घर से एक घंटे का एक्स्ट्रा टाइम लेकर निकलना पड़ रहा है। आज हम बात कर रहे है शहर के उन क्षेत्रों की जहां सरकारी महकमे से लेकर स्कूल कॉलेज के लोग जाम से परेशान हो रहे है। चौकाघाट से कचहरी और कचहरी से सारनाथ तक की सड़को पर गाडि़यां 30 से 35 की स्पीड से ज्यादा रफ्तार नहीं ले पा रही है। पीक आवर में तो कई एरिया में गाडि़यां रेंगती हुई चल रही है, जिसकी सबसे बड़ी वजह है ट्रैफिक जाम। हालांकि इन सब के बीच अधिकारी लोगों को भरोसा दिला रहे है कि जाम की समस्या को खत्म करने पर काम हो रहा है, जल्द ही इससे निजात मिल जाएगा।

यहां है हर वक्त जाम

शुरुआत चौकाघाट से करते है। यदि आपको चौकाघाट के रास्ते पांडेयपुर जाना है, तो इसके लिए आपको कम से कम आधे घंटे का एक्स्ट्रा टाइम लेकर चलना पड़ेगा। क्योंकि कि यहां चौकाघाट फ्लाइओवर से हुकुलगंज चौराहे तक जाम का सामना करना होगा। वहीं अगर आपको कचहरी अर्दलीबाजार या भोजूबीर, जाना है तो यहां भी बंपर जाम मिलता है। इसके साथ ही पांडेयपुर चौराहे से पहडि़यां के रास्ते सारनाथ रोड पर भी जाम की समस्या बनी हुई है। इसके अलावा भी अलईपुर स्टेशन, जैतपुरा समेत वरूणा पार क्षेत्र में क्षेत्र में ऐसे एरिया है जहां रोजाना लगने वाले जाम से लोग परेशान है।

प्लान है तैयार, थोड़ा करना होगा इंतजार

शहर में जाम समस्या हर किसी के लिए सिरदर्द है। शहर के अलग-अलग इलाकों में लगने वाले जाम को लेकर अधिकारियों का कहना हैं कि डिपार्टमेंट जाम की समस्या का खत्म करने के लिए प्लान तैयार कर चुकी है, जिसमें कुल 54 बिंदुओ पर काम हो रहा है.19 बिंदुओं पर काम हो चुका है, अन्य पर हो रहा है। अधिकारियों की माने तो तमाम परेशानियों के बाद भी आने वाले वक्त में बनारस का ट्रैफिक स्मार्ट होगा और सड़कों पर लोग बिना किसी रुकावट के फर्राटा भर सकेंगे। लेकिन इसके लिए थोड़ा इंतजार करना होगा।

------------------

फैक्ट फाइल

- 14

लाख वाहन हैं पूरे बनारस जिले में

- 300

ट्रैफिक के जवान करते हैं ट्रैफिक कंट्रोल

- 100

कांस्टेबल और शामिल होने वाले हैं

- 50

पीआरडी के जवानों की भी होगी तैनाती

-65

चौराहों पर लग रही है अभी जवानों की ड्यूटी

------

सुझाव

- चेतमणि से विजया मॉल की तरफ वनवे खत्म हो

- पार्किंग स्थल के बाहर पार्किंग कर्मचारियों द्वारा गाडि़यां पार्क न हो

- पाण्डेयपुर काली जी मंदिर से दौलतपुर वाले मार्ग को बंद किया जाये

- मैदागिन हरिश्चन्द्र डिग्री कॉलेज के बाहर चल रहे अवैध वाहन स्टैंड को हटाया जाये

- मैदागिन और गोदौलिया रुट से आगे स्कूल बसों का संचालन बंद हो

-स्कूल की बड़ी बसों को मेन मार्केट में जाने पर रोक हो

- बड़ी स्कूल बसों की जगह छोटी गाडि़यां चलाई जाये

- मुख्य मंदिरों में वीआईपी दर्शन का वक्त निर्धारित हो

- छुट्टा जानवरों को सड़कों से हटाने का काम हो

----

जाम की वजहें

- पीक ऑवर में स्कूल बसों का आना-जाना

- ई रिक्शों और ऑटो की अवैध पार्किंग

- अपनी हद से बढ़कर लगाई जा रही दुकानें

- ठेला खोमचा वालों का सड़कों पर कब्जा

- चौराहों पर तैनात ट्रैफिक पुलिस के सभी जवानों का वर्क सही से न करना

- दुकानों के बाहर वाहनों की पार्किंग

- वनवे का सही ढंग से पालन न होना

- चौराहों पर ट्रैफिक लाइट्स का वर्क न करना

समाधान

ऐसे दिलायेंगे जाम से निजात

- मरी माई चौराहा समेत 36 चौराहों की चौड़ाई कम होगी

- यातायात हेल्पलाइन नंबर 7317202020 पर आये कॉल पर तुरंत होगा एक्शन

- बीएचयू अस्पताल से लेकर शहर के मेन अस्पताल से जोड़ने वाले एक रुट को ग्रीन कॉरिडोर बनाया जायेगा

- मुख्य मंदिरों के मार्ग को एक रुट से जोड़ते हुए ट्रैफिक फ्री रुट बनाने की तैयारी है

बनारस में लगने वाले जाम को खत्म करने के लिए काम हो रहा हैं। इसके लिए डिपार्टमेंट 54 बिंदुओं पर काम कर रही है। थोड़ा इंतजार करना होगा, स्मार्ट ट्रैफिक व्यवस्था मिलेगी।

सुरेश चंद्र रावत, एसपी ट्रैफिक


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.