ट्रेन में लूटपाट करने वाले गैंग का भांडाफोड़

2020-02-16T05:45:42Z

JAMSHEDPUR: रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) टाटानगर पोस्ट की टीम ने संयुक्त छापेमारी कर ट्रेन के यात्रियों को चाकू का भय दिखाकर लूटने वाले गिरोह के नौ सदस्यों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार किए गए आरोपितों के पास से 70 हजार रुपये का सोना व जेवर समेत 11 सौ रुपये नगद व नौ मोबाइल जब्त किए गए हैं।

दिलचस्प बात यह कि इस गिरोह के सदस्य तय वेतन पर लूटपाट की वारदात को अंजाम देते थे। गिरोह का सरगना सुमित मंडल (बिहार के खगडि़या महेशखूट निवासी) इन लुटेरों को लूटपाट करने के लिए 15-20 हजार का महीना पगार दिया करता था। वह हर महीने इन लुटेरों के बैंक अकाउंट में यह राशि वेतन की तरह भेज दिया करता था। फिलहाल गिरोह का सरगना तक आरपीएफ नहीं पहुंच पाई है। उसके गिरोह में 15-20 सदस्य हैं, जिनमें से नौ को ही पकड़ा जा सका है। ये लुटेरे अलग-अलग ट्रेनों में लूटपाट कर लूट का माल सरगना तक पहुंचाया करते थे।

इनकी हुई गिरफ्तारी

सुभाष मंडल, निरंजन कुमार, सुधीर सहानी, गौतम कुमार, मंचन कुमार, सदन मंडल, मनोरंजन मंडल, रविंद्र कुमार, व प्रवेश कुमार मंडल। ये सभी आरोपित बिहार के खगडि़या के रहने वाले हैं। बहरहाल, छापेमारी में सीआइबी, जीआरपी, आरपीएफ टाटानगर, आरपीएफ चांडिल व आरपीएफ खगडि़या के सदस्य शामिल थे।

ऐसे हुआ खुलासा

टीम को पता चला कि हटिया-टाटा पैसेंजर ट्रेन में लूटेरे गिरोह के सदस्य सवार है। सूचना मिलने पर टीम के सदस्य सादे कपड़ों में ट्रेन में सवार हो गए। जहां तीन युवकों पर शक हुआ तो उनकी तलाशी ली गई। उनके पास से चोरी का सामान बरामद हुआ। फिर तीनों से कड़ाई से पूछताछ करने पर पूरा मामला खुलता गया। तीनों युवकों की निशानदेही पर कांड़्रा, बागबेड़ा डीबी रोड, चांडिल व हटिया-टाटा ट्रेन से नौ लूटेरों को गिरफ्तार किया गया। गिरोह के सदस्य कांड्रा में पिछले ढाई माह से किराए के दो रुम लेकर रह रहे थे। एक माह पहले करीब डेढ़ लाख रुपये के चोरी के जेवरात को खगडि़या पहुंचा कर चोर गिरोह के सदस्य शहर लौटे थे। विभिन्न मार्ग के ट्रेनों में गिरोह के सदस्य सवार होकर वारदात को अंजाम देते थे।

सोना व्यापारियों के बेचते थे सामान

यात्रियों से लूटा गया व चोरी किया गया सामान गिरोह का सरगना सुमीत मंडल सोना-चांदी के व्यापारी को बेचता था। वह भी औने पौने दाम में चोरी का माल उससे खरीदते थे।

ऐसे लूटते थे यात्रियों को

गिरोह के सदस्य ट्रेन में सवार होने के बाद मोती की माला यात्रियों को बेचते थे। जिस यात्री को मोती की माला गिरोह के सदस्य दिखाते थे। उस यात्री को गिरोह के सदस्य अपनी बातों में उलझा कर रखते थे और दूसरे सदस्य उक्त यात्री के लगेज को लूट कर फरार हो जाते थे।

ट्रेनों में यात्रियों को लूटने व चोरी की वारदात को अंजाम देने वाले गिरोह के नौ सदस्यों की गिरफ्तारी की गई है। गिरोह के मुख्य सरगना को गिरफ्तार करने के लिए छापामारी की जा रही है। गिरोह के पास से चोरी व लूट के जेवरात व नगद रुपये बरामद किए गए हैं।

-नूर मुस्तफा अंसारी, डीएसपी जीआरपी

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.