6684 करोड़ से दिल्लीहावड़ा रूट पर बढ़ेगी ट्रेनों की रफ्तार

2019-06-20T10:32:21Z

दिल्लीहावड़ा रूट पर ट्रेनों की मैक्सिमम स्पीड 130 से बढ़ा 160 किमी प्रति घंटा करने का प्रस्ताव

kanpur@inext.co.in
KANPUR: देश के सबसे बिजी दिल्ली-हावड़ा रेल रूट को अब वंदे भारत एक्सप्रेस जैसी तेज रफ्तार ट्रेनों के हिसाब से तैयार किया जा रहा है. अच्छी बात ये है कि इस रूट पर ट्रेनों की मैक्सिमम स्पीड 130 किमी प्रति घंटा से 160 किमी प्रतिघंटा तब बढ़ाने के लिए रेलवे ने काम करना शुरू भी कर दिया है. रेलवे के लिए जरूरी देश के दो सबसे अहम रूट दिल्ली-हावड़ा और दिल्ली-मुंबई रूट पर ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाने के लिए केंद्र सरकार की आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी के पास 13 हजार करोड़ से ज्यादा का प्रपोजल रेलवे ने भेजा है. जिस पर इस जून में ही आ रहे पूर्ण बजट में फैसला हो जाएगा. इस प्रपोजल में दिल्ली-हावड़ा रूट के लिए 6684 करोड़ रुपए के काम भी शामिल हैं. जिससे इस रूट पर चलने वाली ट्रेनें ज्यादा तेज चल सकेंगी और इस रूट पर यात्रा में लगने वाले वक्त में 5 से 6 घंटे की कमी भी आएगी.

1114 करोड़ पहले ही मिले
वंदे भारत एक्सप्रेस को चलाए जाने के बाद रेलवे के ट्रांसफार्मेशन का जो काम शुरू हुआ है. उसे और तेज करने के लिए दिल्ली हावड़ा रूट पर ट्रेनों की रफ्तार बढ़ाना बेहद जरूरी है. इस रूट पर वंदे भारत एक्सप्रेस जैसी और ट्रेनें चलाने की रेलवे की योजना है. रेलवे के एक सीनियर आफिसर के मुताबिक अभी दिल्ली हावड़ा रूट में कई सेक्शन पर रेल ट्रैफिक देश में सबसे ज्यादा है. ट्रैक पर लोड कम करने और ट्रैक को ज्यादा इफीशिएंट बनाने के लिए इसे नए सिरे से अपग्रेड करने की जरूरत है. इस रूट पर डेडीकेटेड फ्रेट कारीडोर का काम अलग अलग सेक्शन में पूरा हो रहा है. इसके साथ ही अंतरिम बजट में भी इस रूट के अपग्रेडेशन के लिए 1114 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया था. वहीं जो नया प्रपोजल आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी को भेजा गया है. उसमें दिल्ली हावड़ा रूट पर होने वाले काम अाईआरसीओएन करेगी.

दिल्ली हावड़ा रूट स्टैटिस्टिक्स-

1449 किमी लंबा नई दिल्ली-हावड़ा रेल रूट

10 सेक्शन में बंटा पूरा रूट
97- किमी प्रति घंटा एवरेज स्पीड राजधानी, शताब्दी और गरीबरथ की कानपुर- इलाहाबाद सेक्शन पर दिल्ली हावड़ा रूट में सबसे बेहतर
91- किमी प्रतिघंटा एवरेज स्पीड कानपुर टूंडला सेक्शन पर शताब्दी, राजधानी जैसी ट्रेनों की
65.5- किमी प्रतिघंटा एवरेज स्पीड राजधानी, शताब्दी जैसी ट्रेनों की बर्धमान- हावड़ा सेक्शन पर दिल्ली हावड़ा रूट में सबसे बदतर
121 से 157 परसेंट- ट्रैक लोड गाजियाबाद-मुगलसराय रेलवे ट्रैक पर देश में सबसे ज्यादा
- 692 मेल, एक्सप्रेस ट्रेनें, 256 पैसेंजर ट्रेनें चलती हैं. इस रूट पर शताब्दी, राजधानी, वंदे भारत, दूरंतो, गरीबरथ जैसी ट्रेनों को मिला कर.
- कानपुर, इलाहाबाद, मुगलसराय, गया, आसनसोल, हावड़ा जैसे स्टेशन इस रूट पर
चार क्लासेस में बंटी ट्रेनों की रफ्तार इस रूट पर
क्लास-वन- राजधानी, शताब्दी, दूरंतो, तेजस, गरीबरथ, वंदेभारत एक्सप्रेस- 130 किमी प्रतिघंटा मैक्सिमम स्पीड
क्लास टू- सुपरफास्ट व एक्सप्रेस ट्रेन- 110 से 130 किमी प्रतिघंटा मैक्सिमम स्पीड
क्लास थ्री- पैसेंजर ट्रेन, इंटरसिटी मेमू- 70 से 90 किमी प्रतिघंटा टॉप स्पीड
क्लास फोर- मालगाड़ी- 60 से 75 किमी मैक्िसमम स्पीड
वर्जन-
दिल्ली-हावड़ा रूट में सबसे ज्यादा ट्रैक पर लोड एनसीआर रीजन में ही पड़ता है. इसलिए ट्रैक की कैपिसिटी बिल्डिंग के कई प्रोजेक्ट पहले से ही चल रहे हैं. इसके इतर ट्रैक पर ट्रेनों की मैक्सिमम स्पीड बढ़ाने को लेकर एक प्रपोजल सरकार को भेजा गया है. जिस पर जल्द फैसला होने की उम्मीद है.
- अजीत कुमार सिंह, सीपीआरओ, नार्थ सेंट्रल रेलवे जोन



This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.