लखीसराय में ट्रक ने डांस कर रहे 8 बारातियों को रौंदा

2019-07-12T10:46:42Z

इस भीषण हादसे में आठ लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई तथा करीब एक दर्जन लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए

patna@inext.co.in

LAKHISARAI/PATNA : लखीसराय जिले के हलसी प्रखंड मुख्यालय स्थित लखीसराय-सिकंदरा मुख्य सड़क किनारे बुधवार की देर रात को बरात में डांस कर रहे लोगों को तेज गति में लापरवाह ट्रक चालक ने रौंद दिया. इस भीषण हादसे में आठ लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई तथा करीब एक दर्जन लोग गंभीर रूप से जख्मी हो गए.

शराती पक्ष के पांच एवं बाराती पक्ष के तीन लोगों की मौत

मृतकों में तीन बाराती व पांच शराती शामिल हैं. इतने लोगों की मौत से परिजनों की चीत्कार से शादी का खुशनुमा माहौल अचानक गमगीन हो गया. घायलों को इलाज के लिए तत्काल स्थानीय समुदायिक स्वास्थ्य केंद्र ले जाया गया, जहां प्राथमिक उपचार के बाद उन्हें लखीसराय सदर अस्पताल रेफर कर दिया गया. वहां से तीन लोगों को बेहतर इलाज के लिए पटना स्थित पीएमसीएच भेज दिया गया है. घटना की जानकारी मिलते ही हलसी पुलिस घटनास्थल पर पहुंची. बड़ी संख्या में स्थानीय लोग भी वहां पहुंच गए. जानकारी के अनुसार हलसी गांव के दुखी मांझी की पुत्री मनीता कुमारी की शादी लखीसराय प्रखंड के गढ़ी विशनपुर के गरीबन मांझी के पुत्र सुरेन्द्र कुमार से हो रही थी. हलसी में बारात आने के बाद समधी मिलन के दौरान डीजे की धुन पर डांस कर रहे थे. इस दौरान ट्रक चालक ने तेज गति से ट्रक भीड़ में घुसा दिया. उनमें शराती पक्ष के पांच एवं बाराती पक्ष के तीन लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई.

 

मुआवजे के लिए किया सड़क जाम

चालक घटना स्थल से करीब तीन किलोमीटर की दूरी पर लखीसराय-सिकंदरा मुख्य सड़क पर गोवर्धनबीघा गांव के समीप ट्रक छोड़कर फरार हो गया. गुरुवार की सुबह घटना की जानकारी मिलते ही बारात पक्ष के गढ़ी विशनपुर के लोगों एवं हलसी गांव के ग्रामीणों ने शवों को लखीसराय-सिकंदरा मुख्य मार्ग पर तरहारी मोड़ के समीप रखकर उसे जाम कर दिया. इससे कुछ देर के लिए मार्ग पर आवागमन बाधित रहा. वे ट्रक चालक को गिरफ्तार करने तथा मृतकों के परिजनों को मुआवजा देने की मांग कर रहे थे. इस भीषण सड़क दुर्घटना की जानकारी मिलते ही एसडीओ सहित कई अधिकारी मौके पर पहुंचे. एसडीओ ने इस हादसे में मारे गए आठ लोगों के परिजनों को पारिवारिक लाभ योजना के तहत 20-20 हजार रुपये के चेक दिए. उन्होंने उन्हें कबीर अंत्येष्टि योजना के तहत दाह संस्कार के लिए 3-3 हजार रुपये की नकद राशि भी दी. स्थानीय निवासी चंदन कुमार ने भी सभी मृतक के परिजनों को दो-दो हजार रुपये की सहयोग राशि दी.


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.