मेरठ रिठानी में पसरा सन्नाटा दो गिरफ्तार

2018-10-04T17:38:38Z

शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए पुलिस ने निकाला फ्लैग मार्च

हिंसा के आरोप में दो युवकों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

 

MEERUT@inext.co.in
MEERUT : परतापुर के रिठानी में हुए जातीय संघर्ष को लेकर दूसरे दिन तनावपूर्ण शांति रही, लेकिन रिठानी का बाजार पूर्ण रूप से बंद रहा। गांव में पूरी तरह से सन्नाटा छाया रहा। पुलिस के मुताबिक जगेंद्र की तरफ से दलित समाज के 10 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था। जिसमें पुलिस ने दो युवक को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए लगातार दबिश दी जा रही है।

 

यह है मामला

गौरतलब है कि बीते मंगलवार को रिठानी में वर्चस्व की जंग को लेकर दलित व गुर्जर समुदाय में जातीय हिंसा हो गई थी। दोनों पक्षों में जमकर लाठी डंडे चले थे। इसके साथ दोनों पक्षों में फायरिंग भी हुई थी। इसके बाद दोनों ने एक दूसरे के घर पर पथराव भी कर दिया था। पुलिस ने पहुंचकर मामला शांत कराया था। घायलों को उपचार के लिए जिला अस्पताल में भेजा था।

 

पुलिस ने निकाला फ्लैग मार्च

बुधवार को दिन भर रिठानी का बाजार बंद रहा। पूरे गांव व सन्नाटा पसरा रहा। पुलिस ने शांति व्यवस्था बनाने के लिए बाजार में पुलिस ने फ्लैग मार्च भी निकाला, जिसके चलते बुधवार को दिन भर गांव में कोई अप्रिय घटना नहीं हुई। इंस्पेक्टर परतापुर नीरज मलिक ने बताया कि फायरिंग व हिंसा के आरोप में रिंकू व प्रदीप को गिरफ्तार कर लियगया है।

 

नहीं कराया मुकदमा

इंस्पेक्टर नीरज मलिक का कहना है कि गुर्जर व दलित समाज की तरफ से कई लोग घायल हुए है। अभी तक सिर्फ गुर्जर समाज ने दलित समाज के 10 युवकों को नामजद करते हुए मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि दलित समाज की तरफ से किसी ने अभी थाने में तहरीर नहीं दी है। इसलिए मुकदमा दर्ज नहीं हुआ है।

Posted By: Inextlive

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.