केंद्रीय मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल पश्चिम बंगाल के दौरे के दाैरान सिलीगुड़ी के नार्थ बंगाल मेडिकल कॉलेज में भर्ती दुष्कर्म की शिकार दस वर्षीय आदिवासी बच्ची से मिले। मासूम बच्ची से दुष्कर्म का आरोप सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता पर लगा है।


नई दिल्ली/कोलकाता (आईएएनएस)। पश्चिम बंगाल के दौरे पर पहुंचे केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने शुक्रवार को सिलीगुड़ी के नार्थ बंगाल मेडिकल कॉलेज में भर्ती दुष्कर्म की शिकार दस वर्षीय आदिवासी बच्ची का हालचाल लिया। केंद्रीय राज्य मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने बच्ची और उसके परिवार को ढांढस बंधाया। इस दौरान उन्होंने चिकित्सकों से भी सेहत के बारे में जानकारी लेते हुए उन्हें बेहतर उपचार का भी निर्देश दिया। जब मंत्री मेडिकल कॉलेज पहुंचे तो वहां गंदगी का ढेर लगा मिला। जिस पर उन्होंने नाराजगी जताते हुए कहा कि यह हाल तब है राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी खुद अपने पास स्वास्थ्य विभाग रखतीं हैं।महिला हो या मासूम बच्चियां, सभी के साथ अपराध हो रहे हैं
दस वर्षीय बच्ची से दुष्कर्म का आरोप सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ता पर लगा है। भाजपा कार्यकर्ताओं के दबाव के बाद पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी को जेल भेजा। इस पर केंद्रीय राज्य मंत्री प्रहलाद पटेल ने कहा कि बंगाल की सरकार और तृणमूल का यह वीभत्स चेहरा है। महिला हो या मासूम बच्चियां, सभी के साथ अपराध हो रहे हैं। दार्जिलिंग के सांसद राजू बिष्ट ने उन्हें बताया कि इससे पूर्व भी सिलीगुड़ी में लड़कियों के साथ अपराध की कई घटनाएं हो चुकीं हैं। जलपाईगुड़ी के राजगंज में दो बहनों के साथ दुष्कर्म के बाद जहर दे दिया गया था, जिससे एक की मौत हो गई थी। दुष्कर्म के मामले में पहले पुलिस केस दर्ज नहीं कर रही थीबता दें कि आदिवासी किशोरी के साथ दुष्कर्म के मामले में पहले पुलिस केस दर्ज नहीं कर रही थी। लेकिन भारतीय जनता युवा मोर्चा के दबाव के बाद पुलिस ने केस दर्ज किया। इस मामले में गिरफ्तार हुआ युवक टीएमसी का ब्लाक अध्यक्ष बताया जाता है। पीड़िता परिवार से बातचीत के बाद केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन मंत्री प्रहलाद सिंह पटेल ने कहा कि बंगाल की संस्कृति काफी आदर्श मानी जाती रही है, बावजूद इसके ऐसी घटनाएं सरकार और कानून व्यवस्था को कलंकित करने वालीं हैं।

Posted By: Shweta Mishra