डाटा के 'कांटा' से सहमा यूपी बोर्ड

2017-12-08T07:00:59Z

आपत्तियों से बचने के लिए एक साथ स5ाी जिलों के परीक्षा केंद्रों की फाइनल लिस्ट अपलोड करने की तैयारी

सूबे के 73 जिलों के परीक्षा केन्द्रों की लिस्ट फाइनल, फिर 5ाी नहीं किया जा रहा है ऑनलाइन अपलोड

ALLAHABAD: परीक्षा की तैयारी कराने में पसीना बहा रहे यूपी बोर्ड को डाटा के कांटा का डर सता रहा है। शायद यही वजह है कि अब यूपी बोर्ड के जि6मेदार फूंक-फूंक कर कदम र2ा रहे हैं। सं5ावित परीक्षा केंद्रों की सूची जारी होते ही बोर्ड की कार्यशैली को लेकर हर तरफ विवाद शुरू हो गया है। इसे दे2ाते हुए शीर्ष अफसरों ने सूची तैयार करने में सावधानी बरतने के निर्देश दिए हैं। अब स्थिति यह है कि जिलेवार फाइनल परीक्षा केंद्रों की सूची ऑनलाइन अपलोड करने से यूपी बोर्ड कतरा रहा है। बोर्ड का मानना है कि अगर अ5ाी से सूची अपलोड कर दी जाएगी तो उस पर फिर से कई तरह की आपत्तियां आने लगेंगी।

सं5ावित सूची पर है विवाद

दोबारा फजीहत की आशंका को दे2ाते हुए यूपी बोर्ड स5ाी जिलों के फाइनल परीक्षा केन्द्रों की सूची को एक साथ अपलोड कराने की तैयारी में है। बोर्ड के अधिकारियों की मानें तो ऐसा करने से अधिक आपत्तियां नहीं आएंगी। इससे परीक्षा केन्द्र तय होने के बाद फेरबदल की नौबत नहीं आएगी। यदि अ5ाी फाइनल लिस्ट अपलोड की गई तो कई तरह की आपत्तियां आने लगेंगी। इससे परीक्षा तैयारियों में देरी की स्थिति बनेगी।

स5ाी जिलों के परीक्षा केन्द्र फाइनल होने के बाद ही लिस्ट अपलोड करने का प्लान है। कोशिश है की रात तक कुछ जिलों का डेटा अपलोड कर दिया जाए।

नीना श्रीवास्तव

सचिव, माध्यमिक शिक्षा परिषद


This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.