CM योगी ने अयोध्या के 'प्रसाद' के रूप में सेना प्रमुख को भेंट किया रामायण-हनुमान चालीसा व सिक्का

Updated Date: Fri, 07 Aug 2020 04:08 PM (IST)

भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने शुक्रवार को सीएम योगी के आवास पर उनसे मुलाकात की। इस दाैरान सीएम ने सेना प्रमुख को अयोध्या के 'प्रसाद' के रूप में रामायण हनुमान चालीसा और सिक्का की पेशकश की।

लखनऊ (एएनआई)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को भारतीय सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाने अपने आवास पर बुलाया। इस दाैरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाने को एक रामायण, हनुमान चालीसा और एक सिक्का अयोध्या के 'प्रसाद' (पवित्र भेंट) के रूप में दिया। वहीं दूसरी ओर सेना प्रमुख ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को स्मृति चिन्ह भेंट किया। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस मुलाकात के दाैरान सेना प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवाने ने नेपाल के साथ सीमा विवाद को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बातचीत की। सेना प्रमुख सेना के केंद्रीय कमांड के मुख्यालय का दौरा करने के लिए लखनऊ आए हैं।

Lucknow: Army Chief General Manoj Mukund Naravane meets Chief Minister Yogi Adityanath at latter's residence.
The Army Chief is in Lucknow to visit Army's Central Command Headquarters. pic.twitter.com/5dbhOUK7uV

— ANI UP (@ANINewsUP) August 7, 2020


5 अगस्त को अयोध्या में शुरू हुआ राम मंदिर निर्माण
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बीते बुधवार, 5 अगस्त को अयोध्या 'भूमि पूजन' समारोह में हिस्सा लिया और राम मंदिर के निर्माण के लिए आधारशिला रखी। यह वो जगह है जिसको लेकर पांच सदियों से दो पक्षों के बीच विवाद चला था। इस दाैरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, राज्यपाल आनंदीबेन पटेल और राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रमुख मोहन भागवत सहित कई अन्य लोग अयोध्या में समारोह में उपस्थित थे। सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल 9 नवंबर को केंद्र सरकार को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए स्थल सौंपने का निर्देश दिया था। इसके बाद पीएम ने संसद में अयोध्या में राम मंदिर के लिए 15 सदस्यीय ट्रस्ट की घोषणा की राम मंदिर ट्रस्ट पदाधिकारियों की नियुक्ति करता है।

Posted By: Shweta Mishra
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.