विकास दुबे एनकाउंटर और बिकरू हत्याकांड की होगी न्यायिक जांच, यूपी सरकार ने दिए आदेश

यूपी सरकार ने विकास दुबे एनकाउंटर और बिकरु हत्याकांड की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं। यह जांच रिटायर्ड जस्टिस शशिकांत अग्रवाल की देखरेख में होगी।

Updated Date: Sun, 12 Jul 2020 05:10 PM (IST)

लखनऊ (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश सरकार ने बिकरू गांव में 3 जुलाई को हुई मुठभेड़, जिसमें आठ पुलिसकर्मी मारे गए और 10 जुलाई को कानपुर के पास मुख्य आरोपी विकास दुबे के एनकाउंटर की न्यायिक जांच के आदेश दे दिए हैं। जांच का नेतृत्व रिटायर्ड जस्टिस शशिकांत अग्रवाल करेंगे। कानपुर में इसका मुख्यालय बनाया जाएगा। जांच रिपोर्ट दो महीने के भीतर प्रस्तुत की जाएगी। इस अवधि के दौरान पुलिस द्वारा की गई अपराधियों की मुठभेड़ों को भी कवर किया जाएगा।

अतः राज्य सरकार द्वारा आज जारी अधिसूचना के माध्यम से जांच आयोग अधिनियम 1952 ( अधिनियम संख्या 60 सन् 1952 ) की धारा 3 के तहत सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति श्री शशि कांत अग्रवाल जी के नेतृत्व में एकल सदस्यीय जांच आयोग गठित करने का निर्णय लिया गया है। इस आयोग का मुख्यालय कानपुर में होगा।

— Government of UP (@UPGovt) July 12, 2020


पुलिस-अपराधियों की सांठगांठ की भी जाँच
बता दें तीन जुलाई से 10 जुलाई के बीच पुलिस ने एनकाउंटर में छह अपराधियों को मार दिया गया था। आधिकारिक विज्ञप्ति के अनुसार न्यायिक आयोग भविष्य में ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति की जाँच करने के लिए पुलिस-अपराधियों की सांठगांठ की भी जाँच करेगा। आयोग को ऐसे नेक्सस को विकसित होने से रोकने के उपाय सुझाने का काम सौंपा गया है। राज्य सरकार ने 3 जुलाई की घटना में पुलिस की भूमिका की जांच करने के लिए शनिवार को अतिरिक्त मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी के नेतृत्व में एक विशेष जांच दल का भी गठन किया।

आयोग, दिनांक 10 जुलाई, 2020 को पुलिस एवं विकास दुबे के मध्य हुई मुठभेड़ की गहनतापूर्वक जांच करेगा। इसके साथ ही, आयोग दिनांक 02-03 जुलाई, 2020 एवं दिनांक 10 जुलाई, 2020 के मध्य पुलिस और इस प्रकरण से सम्बन्धित अपराधियों के बीच हुई प्रत्येक मुठभेड़ की भी गहनतापूर्वक जांच करेगा।

— Government of UP (@UPGovt) July 12, 2020


एसआईटी टीम पहूंची बिकरु गांव
कानपुर के कुख्यात अपराधी विकास दुबे का एनकाउंटर तो हो गया। मगर विकास को इतना बड़ा अपराधी बनाने में किसका हाथ था, इसकी जांच अब शुरु हो गई है। इसके लिए एक एसआईटी टीम का गठन किया गया। जिसका नेतृत्व उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी कर रहे हैं। संजय की अगुआई में एसआईटी टीम जांच-पड़ताल के लिए रविवार को विकास के गांव बिकरु पहुंची। यहीं पर विकास ने अपने साथियों के साथ मिलकर आठ पुलिसवालों की हत्या कर दी थी। भूसरेड्डी ने कानपुर के रास्ते में पीटीआई को बताया, 'हम उस स्थान का दौरा करेंगे जहां फायरिंग हुई थी (बिकरू गांव)। हालांकि उन्होंने आगे विस्तार से जानकारी देने से इनकार कर दिया।

Posted By: Abhishek Kumar Tiwari
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.