100 किलो कचरा उत्पन्न करने वाले चिह्नित

Updated Date: Thu, 29 Oct 2020 12:08 PM (IST)

- आगरा नगर निगम ने स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 को लेकर शुरू की तैयारी

- नगर निगम ने यूजर चार्ज भी किया तय

आगरा। स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 को ध्यान में रखते हुए नगर निगम ने टॉप-10 में आने के लिए तैयारियां शुरूकर दी हैं। अब शहर में हर रोज 100 किग्रा तक गार्बेज उत्पन्न करने वाली इकाइयों को चिह्नित किया गया है। इनके लिए यूजर चार्ज भी निर्धारित कर दिए गए हैं। इसके अलावा कूड़े के निस्तारण और गीला-सूखा कचरा अलग-अलग करने के लिए आठ ट्रांसफर स्टेशन भी बनाए गए हैं।

खुले में कचरा फेंकने पर एक्शन

अब शहर में कहीं भी खुले में कचरा फेंका तो नगर निगम के अफसर चालान के साथ जुर्माने की कार्रवाई भी करेंगे। इसके लिए विशेष अभियान चलाया जा रहा है। ओपन स्पेस में कचरा फेंकने पर फोटो किलक कर तुरंत जुर्माने की कार्रवाई की जाएगी। इसके लिए सेनेटरी इंस्पेक्टर को 30 मशीनें मुहैया कराई जाएगी। इस मशीन के माध्यम से फोटो किल्क कर जुर्माने की रसीद भी निकाली जा सकेगी।

इनको सौंपी गई जिम्मेदारी

जेएडएसओ

सेनेटरी सुपरवाइजर

सेनेटरी इंस्पेक्टर

जोनल सेनेटरी ऑफिसर

नोट::100 वार्डो में कूड़ा कलेक्शन और उठान की स्थिति की मॉनीटरिंग करने की इन्हें जिम्मेदारी सौंपी गई है।

जोन का नाम वार्ड डस्टबिन

हरीपर्वत 21 160

ताजगंज 23 63

लोहामंडी 26 164

छत्ता 30 121

- 2350 को किया गया चिह्नित

- अब निगम कचरा फैलाने वालों से वसूल करेगा यूजर चार्ज

यहां से निकलता है रोज 100 किलो से ज्यादा कचरा

- पेठा कारोबार

- शू फैक्ट्री व अन्य इंडस्ट्रीज यूनिट

- कोल्ड स्टोरेज

- अपार्टमेंट एवं ग्रुप हाउसिंग

- बड़े होटल एवं रेस्टोरेंट

- मैरिज होम

- हॉस्टल

- नìसग होम, हॉस्पिटल

रोज 100 किग्रा से कम गार्बेज उत्पन्न करने वाले 3.50 लाख चिह्नित

- हाउस होल्ड 3.20 लाख

- दुकानें

- स्ट्रीट वेंडर्स

- सरकारी कार्यालय

- सब्जी मंडी व अन्य मार्केट

- मंदिर

- रोड व अन्य मार्केट

-173 चिह्नित डलावघर

- 300 बल्क जनरेट गार्बेज प्वॉइंट

ये है नगर निगम द्वारा निर्धारित यूजर चार्ज

- दुकानदारों द्वारा खुले में कूड़ा डालने पर- 500 रुपये

- रेस्टोरेंट संचालक द्वारा खुले में कूड़ा डालने पर- 1000 रुपये प्रतिदिन

- सार्वजनिक स्थान पर गोबर या अन्य गंदगी डालने पर - 2500 रुपये

- बाइक रिपेयर मिस्त्री द्वारा रोड पर ऑयल फैलाने पर - 100 रुपये

- हेयर कटिंग सैलून द्वारा सार्वजनिक स्थान पर गंदगी फैलाना- 100 रुपये

- प्राइवेट हॉस्पिटल द्वारा गंदगी फैलाने पर - 1000 रुपये प्रतिदिन

- शादी- विवाह स्थल के बाहर कूड़ा फैलाने पर - 1000 रुपये प्रतिदिन

- मीट की दुकानों के बाहर गंदगी फैलाने पर- 200 रुपये प्रतिदिन

- खाली प्लॉट में कूड़ा फेंकने पर - 1000 रुपये

- खुले में कचरा जलाने पर 5000 रुपये

फूलों से तैयार हो रहा कंपोस्ट

शहर के 49 मंदिरों और 187 मैरिज होम से निकलने वाले 2 एमटीडी फूलों से कंपोस्ट तैयार किया जा रहा है। राजनगर में संचालित इस प्लांट से कंपोस्ट तैयार कर ई-कॉमर्स एप से बिक्री की जा रही है। इसके अलावा कुबेरपुर में 5 एमटीडी का आर्गेनिक वेस्ट कम्पोस्टर प्लांट संचालित किया जा रहा है। एक 20 एमटीडी प्लाट से गीले कूड़े से खाद तैयार किया जा रहा है।

बनाए गए हैं 8 ट्रांसफर स्टेशन

शहर में कूड़ा जमीन में न पड़ा रहे, इसके लिए नगर निगम की ओर से 8 ट्रांसफर स्टेशन बनाए गए हैं। इसमें एक जूता मंडी के पास राजनगर लोहामंडी, ताजगंज में पुरानी मंडी चौराहा, ताजमहल के पूर्वी गेट के पास ताजगंज, संजय प्लेस स्थित सीडब्ल्यूआर के सामने, ट्रांसपोर्ट नगर स्थित आईएसबीटी के पीछे ट्रांसफर स्टेशन बनाए गए हैं। डोर-टू-डोर कूड़ा कलेक्शन के बाद स्टेशनों पर गीला और सूखे कूड़े को अलग-अलग किया जाता है।

गार्बेज का उठान के बाद उसके निस्तारण पर भी फोकस किया जा रहा है। इसकी लगातार मॉनीटरिंग की जा रही है। हर सप्ताह इसकी समीक्षा की जा रही है।

निखिल टीकाराम फुंडे, नगर आयुक्त, आगरा

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.