ड्राई रन रहा सक्सेसफुल, अब वैक्सीनेशन की तैयारी

Updated Date: Wed, 06 Jan 2021 01:42 PM (IST)

- 6 केंद्रों पर 11 सेशन में हुआ वैक्सीनेशन

- सीएमओ ने परखी व्यवस्थाएं

- 275 हेल्थवर्कर्स के लगी डमी वैक्सीन

आगरा। कोविड-19 वैक्सीनेशन का ड्राई रन सक्सेजफुल रहा। सभी वैक्सीनेशन सेंटर्स पर ट्रेनिंग के अनुसार हेल्थकेयर वर्कर्स तैनात रहे। सभी को पहले से अपना ड्यूटी के बारे में पता था। बेनेफिशियरीज के नंबर पर एक दिन पहले ही मैसेज से नोटिफिकेशन पहुंच गया था। ड्राई रन में वैक्सीनेशन के सभी मानकों का उपयोग किया गया। बस वैक्सीन नहीं लगाई गई। ड्राई रन जनपद के तीन शहरी और तीन ग्रामीण कोविड वैक्सीनेशन सेंटर्स पर 11 सेशन में किया गया। प्रत्येक सेशन में पहले से तय 25 स्वास्थकíमयों के डमी वैक्सीन लगाई गई।

सभी कोविड वैक्सीनेशन सेंटर्स पर हेल्थ डिपार्टमेंट द्वारा बनाए गए नोडल तैनात रहे। उनके ऑब्जर्वेशन में ही पूरा ड्राई रन संचालित हुआ। चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ। आर सी पांडेय ने बताया कि कोविड वैक्सीनेशन का ड्राई रन सक्सेजफुल रहा। सभी केंद्रों पर पहले से तय 275 लाभाíथयों का ड्राई रन किया गया। उन्होंने बताया कि वैक्सीनेशन का ड्राई रन बिल्कुल असली वैक्सीनेशन की तरह हुआ। बस इसमें वैक्सीन नहीं लगाई गई।

सीएमओ ने परखी व्यवस्थाएं

चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ। आर सी पांडेय ने कोविड वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर हर चरण की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। उन्होंने वैक्सीनेशन सेंटर पर जाकर वहां तैनात स्वास्थ्यकर्मी से पूछा कि मुझे वैक्सीनेशन कराना है। इसके बाद वहां तैनात स्वास्थ्यकर्मी ने तय मानकों के अनुसार उनका लिस्ट में नाम देखा। इसके बाद ही उन्हें अगले चरण की ओर जाने दिया गया। इसी प्रकार से सीएमओ ने प्रत्येक चरण पर तैनात कíमयों के काम की समीक्षा की और उन्हें सलाह दी।

पुलिस की भी रही नजर

मुख्यमंत्री के आदेशानुसार कोविड वैक्सीनेशन को चुनाव की तरह ही पूरी सजगता के साथ कराना है। इसलिए प्रत्येक वैक्सीनेशन सेंटर और वैक्सीन स्टोरेज सेंटर पर सुरक्षा का ध्यान रखा जाए। ड्राई रन में भी हर वैक्सीनेशन सेंटर पर पुलिस भी तैनात थी। उनके पास भी पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने वाले बेनिफिशियरीज की लिस्ट थी। यहां तैनात पुलिसकर्मी भी लिस्ट में देखकर ही बेनिफिशियरी वैक्सीन रूम में जाने दे रहे हैं।

इस तरह हुआ ड्राई रन

ड्राई रन के लिए सोमवार को ही सेशन के हिसाब से लोगों को मैसेज के माध्यम से सूचना दे दी गई थी। कोविड वैक्सीनेशन सेंटर पर भी हर स्टेप पर वैक्सीनेशन के लिए आने वाले लोगों की लिस्ट थी। सबसे पहले चरण में वैरीफायर द्वारा वैक्सीनेशन के लिए आए बेनिफिशियरी का लिस्ट में नाम जांचा गया। इसके बाद उसकी आईडी से मिलान किया गया। इसके बाद पुलिस द्वारा भी इसी प्रकार से जांच की गई। दूसरे चरण में वेटिंग रूम में बेनिफिशियरी ने अपनी बारी का इंतजार किया। इसके बाद उसका नंबर आने पर उसका वैक्सीनेशन किया गया। वैक्सीनेशन करने के बाद सीरिंज को तय मानकों के हिसाब से डिस्पोज किया गया। इसके बाद ऑब्जर्वेशन रूम में आधे घंटे तक लाभार्थी को बिठाया गया। जब उसे कोई परेशानी नहीं हुई तो उसे कोविड टीकाकरण केंद्र से जाने दिया गया।

यहां हुआ ड्राई रन

-एसएन मेडिकल कालेज

-पुष्पांजलि हास्पिटल

-सीएचसी खंदौली

-सीएचसी अछनेरा

-सीएचसी बरौली अहीर

-सीएचसी नरायच

कोविड वैक्सीनेशन का ड्राई रन सक्सेजफुल रहा। इसे तीन शहरी और तीन ग्रामीण केंद्रों पर किया गया। एसएन मेडिकल कालेज, पुष्पांजलि हास्पिटल,सीएचसी खंदौली, सीएचसी अछनेरा, सीएचसी बरौली अहीर पर दो सेशन में कोविड टीकाकरण का ड्राई रन हुआ, जबकि सीएचसी नरायच पर एक सेशन में कोविड टीकाकरण का ड्राई रन हुआ।

-डॉ। आरसी पांडेय, चीफ मेडिकल ऑफिसर

कोविड वैक्सीनेशन के ड्राई रन के लिए मेरे पास पहले ही मैसेज आ गया था। आज मैं वैक्सीनेशन के ड्राई रन के लिए आया हूं।

इमरान खान, बेनिफिशियरी

मैं यहां वैक्सीनेशन ड्राई रन में वैक्सीनेशन के लिए आई हूं। यहां पर वैरीफाई करने के बाद ही मुझे वैक्सीनेश रूम में जाने दिया गया।

नेहा बंसा, बेनिफिशियरी

तीन चरणों से गुजरना पड़ा

वेटिंग रूम- यहां पर हाथों को सेनेटाइज करने के बाद वैरीफायर ने पहले बेनिफिशियरी के बारे में लिस्ट में जांच की। उससे आईडी मांग कर उसे वैरीफाई किया। इसके बाद बेनिफिशियरी को वेटिंग रूम में अपनी बारी का इंतजार करने के लिए कहा गया। यहां दो गज की दूरी का ध्यान रखा गया।

वैक्सीनेशन रूम- यहां पर एक बार में एक ही बेनिफिशियरी को एंट्री दी गई। यहां पर वैक्सीन लगाने के लिए ट्रेंड डॉक्टर मौजूद थे। उनके साथ एक सहायक भी मौजूद था। यहां पर बेनिफिशियरी के डमी वैक्सीन लगाई गई। इसके बाद सिरिंज को तय मानकों के हिसाब से तोड़कर लाल रंग के डस्टबिन में डाल दिया गया।

ऑब्जर्वेशन रूम- वैक्सीन लगने के बाद बेनिफिशियरी को ऑब्जर्वेशन रूम में आधे घंटे तक बिठाया गया। यहां पर बीपी, पल्स मॉनिटर इत्यादि की व्यवस्था थी। यहां पर एक डॉक्टर ने बेनिफिशियरी से जानकारी ली। उसे कोई दिक्कत तो नहीं है। इसके बाद उसे आधे घंटे तक कोई दिक्कत न होने पर जाने दिया गया। इसके साथ ही उसे वैक्सीनेशन के अगली बारी के लिए जाने दिया गया।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.