मैनेजर की हत्या में हसन के दो साथी भी भेजे जेल

Updated Date: Sun, 25 Oct 2020 01:08 PM (IST)

-शराब व्यवसायी के मैनेजर की हत्याकर लूटे थे छह लाख रुपये

-हसन को भगाने में साथियों ने किया था सहयोग

आगरा। शराब व्यवसायी के मैनेजर की हत्या कर छह लाख रुपये लूटने के आरोपी हसन को पकड़ने के बाद शनिवार को पुलिस ने उसके दो और साथी गिरफ्तार कर लिए। इनमें से एक ने घटना के बाद भागते समय हसन को बदलने को कपड़े दिए थे, जबकि दूसरे ने बाइक से शहर पार कराया था। पुलिस ने शनिवार को दोनों को जेल भेज दिया। अब लूटी गई रकम की बरामदगी के प्रयास किए जा रहे हैं।

सीसीटीवी फुटेज के जरिए की हत्यारे की पहचान

एत्माद्दौला के नवलगंज में 19 अक्टूबर को शराब व्यवसायी विनोद यादव के मैनेजर सोनू यादव की गोली मारकर हत्या करने के बाद बदमाश ने छह लाख रुपये से भरा बैग लूट लिया था। सोनू हाथरस के सहपऊ में बुढ़ायच का रहने वाला था। सीसीटीवी फुटेज से बदमाश की पहचान सीता नगर निवासी हसन अली के रूप में हो गई। पुलिस ने गुरुवार देर रात उसे मुठभेड़ में गोली लगने के बाद गिरफ्तार कर लिया था। शुक्रवार को उसे जेल में भेज दिया गया।

टी-शर्ट बदलकर, बाइक से छोड़ा ग्वालियर रोड

शनिवार को पुलिस ने उसके साथी सीता नगर निवासी प्रमोद जाट उर्फ बाबू और खंदौली निवासी इमरान मलिक को गिरफ्तार कर लिया। एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि घटना के बाद भागते हसन अली को प्रमोद जाट ने पहनने को दूसरी शर्ट दी थी। हसन ने उसे आठ हजार रुपये दिए थे। इसके बाद इमरान मलिक भगवान टाकीज पर पहुंच गया। वहां से इमरान ने हसन को बाइक से ग्वालियर रोड पर छोड़ दिया।

लूट के दो लाख रुपये ही हो सके बरामद

हसन ने पूछताछ में बताया कि बैग में 4.87 लाख रुपये मिले थे। 40 हजार रुपये उसने सफर में खर्च कर दिए। दो लाख रुपये उसके पास से बरामद हुए थे। पुलिस ने प्रमोद और इमरान को साक्ष्य मिटाने और अभियुक्त की मदद करने की धारा में जेल भेजा है। उनके पास से 15 हजार रुपये, हसन की एक आइडी और उसका मोबाइल बरामद हुआ है। लूट की शेष रकम हसन की खाला और मुंबई निवासी दोस्त राजू खान के पास है। पुलिस उसे भी बरामद करने का प्रयास कर रही है।

नहीं मिला बैग

पुलिस के अनुसार लूटा गया बैग हसन ने प्रमोद को दे दिया था। उसी में घटना के समय पहनी गई टीशर्ट रख दी थी। प्रमोद ने बैग पास के ही एक कूड़ेदान में डाल दिया था। कूड़ेदान के कूड़े के साथ बैग कुबेरपुर स्थित खत्ताघर पहुंच गया। वहां भारी मात्रा में कूड़ा पड़ा है। पुलिस ने जेसीबी से कूड़े में बैग दिखवाया, क्योंकि बैग और हसन की टीशर्ट दोनों ही अहम साक्ष्य थे। घटना के समय के सीसीटीवी कैमरे में ये दिख रहे हैं। पुलिस के प्रयास के बाद भी बैग नहीं मिला।

एत्मादपुर थाना क्षेत्र नवलगंज में हसन की गिरफ्तारी के बाद उसके साथी इमरान मलिक और प्रमोद जाट उर्फ बाबू को गिरफ्तार किया है। उन्होंने अपराधी को भगाने और साक्ष्यों को छुपाने में आरोपी का सहयोग किया था। उनको जेल भेजा गया है।

बौत्रे रोहन प्रमोद, एसपी सिटी

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.