..भूलकर भी न जाएं शहर के इन इलाकों में

Updated Date: Tue, 07 Apr 2020 05:45 AM (IST)

-डीएम ने शहर के एक दर्जन से अधिक इलाकों को सील करने की दी जानकारी

आगरा: आगरा में सोमवार शाम तक 53 कोरोनावायरस पॉजिटिव पेशेंट मिल गए हैं। जिसमें से 8 ठीक होकर घर जा चुके हैं जबकि 45 एक्टिव पेशेंट हैं, जिसका शहर के विभिन्न हिस्सों में बने आइसोलेशन सेंटर्स में इलाज चल रहा है। सोमवार डीएम प्रभु एन सिंह ने कहा है शहर के कुछ ऐसे सेंटर्स हैं, जहां एक से अधिक कोरोना पॉजिटिव मिले हैं। ऐसे क्षेत्रों में लोगों को अतिरिक्त ध्यान रखना होगा। इन क्षेत्रों को सील किया गया है, लोग अभी भूलकर भी इन इलाकों में न जाएं।

्रएक दर्जन इलाके सील

डीएम ने बताया जिन क्षेत्रों को सील किया गया है उनमें सबसे पहला नाम नामनेर का है। लोगों से अपील है कि इस क्षेत्र के आसपास अभी न जाएं। इसके अतिरिक्त जीवनी मंडी क्षेत्र में कृष्णा बिहार कॉलोनी, मोहनपुरा रावली और बाईपास रोड पर वाटरव‌र्क्स स्थित हॉस्पिटल के आसपास में एक से अधिक केस मिले हैं। लोग इन क्षेत्रों में न जाएं। इसके अलावा जो जमात से जुड़े लोगों की संख्या थी वो 31 है। यहां भी अलग से आठ विभिन्न क्षेत्र हैं जिनमें जमातियों की गतिविधियों की पुष्टि हुई है। इन क्षेत्रों को पुलिस ने बैरिकेडिंग लगाकर सील कर दिया है। यहां जाना आना बिल्कुल बंद कर दिया गया है। दैनिक उपयोग की वस्तुओं के लिए अलग से व्यवस्था कर दी गई है।

आजमपाड़ा की गलियों से नहीं निकले लोग

शाहगंज के आजमपाड़ा की मस्जिद में तब्लीगी जमात से जुड़े लोगों के ठहरे दो लोगों के कोरोना वायरस से संक्रमित होने की पुष्टि के छह दिन बाद भी यहां के लोग घरों से निकलने से डर रहे हैं। गलियों में सन्नाटा पसरा हुआ है, लोगों ने पुलिस की बेरीके¨डग के बाद अपने स्तर से भी गलियों में बांस-बल्ली लगाकर बाहरी लोगों का आना बंद कर दिया है। जगदीशपुरा के मगटई गांव की भी यही स्थिति है। जहां शामली के रहने वाले जमात के 11 लोग ठहरे थे।

बेरीकेडिंग लगाकर लोगों को रोका

आजमपाड़ा की मस्जिद में गाजीपुर के रहने वाले आठ जमाती ठहरे थे.इन जमाती के रिश्तेदार आजमपाड़ा में रहते हैं.बताते हैं इस परिवार ने उन्हें यहां ठहराया था। रिश्तेदार इन जमातियों के संपर्क में थे। दिल्ली की मकरज से जुड़े तब्लीगी जमात के लोगों में कोरोना संक्रमित के मामले सामने आने के बाद इलाके के कुछ लोगों जमातियों के यहां ठहराने का विरोध भी किया था। दो जमातियों के कोरोना पॉजीटिव होने की पुष्टि के बाद से बस्ती के लोग सतर्क हो गए हैं। वह अपने घरों से नहीं निकल रहे हैं। जो लोग इस दौरान जमातियों के संपर्क में आए थे। उक्त लोगों के संपर्क में बस्ती के जितने लोग भी आए थे। वह खुद सामने आकर स्क्री¨नग के लिए पहुंच रहे हैं। पुलिस के साथ इलाके के लोगों ने भी अपनी गलियों में बेरीके¨डग कर दी है। वह बाहरी लोगों को गली में नहीं आने दे रहे हैं। उधर, मगटई की मस्जिद में भी 11 जमाती ठहरे थे। इनमें से एक कोरोना पॉजीटिव पाया गया। यहां भी इन जमातियों से जुड़े लोगों के संपर्क में आने वाले स्क्री¨नग के लिए स्वास्थ्य विभाग के पास पहुंच रहे हैं। पुलिस लगातार ऐसे लोगों को खुद ही सामने आकर स्क्रीनिग के लिए जागरूक कर रही है। सोमवार को भी दो लोग स्क्री¨नग के लिए पहुंचे।

कोरोना संक्रमित संवेदनशील क्षेत्रों में न जाएं। इस स्टेज पर खुद को बचाने की बेहद आवश्यकता है। घर से बाहर किसी अन्य से बात करते समय मास्क जरूर लगाएं। क्योंकि सावधानी ही एकमात्र बचाव है। बचाव के इस तरीके को किसी भी परिस्थिति में नजरअंदाज न करें। -

-प्रभु एन सिंह, जिलाधिकारी, आगरा

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.