Trump India Visit : पुलिस अवकाश रद, बनाए सेफ रूम मंगाई न्यू एंबुलेंस

शहर में अमेरीकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आगमन को लेकर सुरक्षा व्यवस्था के साथ शहर की स्थिति को बेहतर करने किया जा रहा है अनहोनी संभावना से निपटने के लिए सेफ रूम के साथ नई एंबूलेंस की व्यवस्था की गई है वहीं बोर्ड एग्जाम के दौरान परीक्षार्थियों को भी शासनस्तर से राहत देने का कार्य किया गया है। वहीं सुरक्षा व्यवस्था को ध्यान में रखते एसएसपी बबलु कुमार द्वारा पुलिसकर्मियों के अवकाश निरस्त करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

Updated Date: Sat, 22 Feb 2020 06:43 PM (IST)

आगरा (ब्यूरो) अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के लिए चार सेफ रूम बनाए गए हैं। खेरिया एयरपोर्ट से ताजमहल तक आठ स्थानों पर एंबुलेंस के साथ स्टैटिक टीम रहेंगी। सीएमओ डाॅ। मुकेश वत्स ने बताया कि एयरफोर्स स्टेशन, शांति मांगलिक हॉस्पिटल में सेफ रूम बनाया गया है। एसएन मेडिकल कॉलेज की इमरजेंसी और पुष्पांजलि हॉस्पिटल में सेफ रूम सुरक्षित रखे गए हैं। सेफ रूम में पांच विशेषज्ञ चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टाफ रहेगा। इसके साथ ही आठ जगहों पर स्टेटिक टीम रहेगी, इसमें डॉक्टर, पैरामेडिकल स्टाफ के साथ एंबुलेंस होगी। इसे लेकर शुक्रवार को बैठक होगी।

यहां रहेंगी स्टेटिक टीम

रोड ब्लॉक के दौरान अर्जुन नगर, आगरा कैंट क्रॉसिंग ईदगाह, प्रतापपुरा चौराहा, ताज घर चौराहा, फूल सैय्यद चौराहा, होटल ताज व्यू तिराहा, टीडीआइ मॉल क्रॉसिंग, शिल्पग्राम पार्किंग। इस दौरान मुख्य मार्गो पर भारी संख्या में फोर्स की मौजूद रहेगी। खेरिया मोड से लेकर ताज के पूर्वी गेट तक बिल्डिंगों और मकानों की छत्तों पर फोर्स मुस्तैद रहेगा।

एडमिट कार्ड दिखा निकल सकेंगे स्टूडेंट्स

अमेरिकी राष्ट्रपति के आगमन को लेकर बोर्ड एग्जाम को लेकर असमंजस की स्थिति बनी थी, बुधवार को वीडियो कॉफ्रेंस में मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि 24 फरवरी को रोड ब्लॉक के दौरान परीक्षार्थियों को नहीं रोका जाएगा। उनके भविष्य को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया है। डीआईओएस रविन्द्र कुमार ने बताया कि इस संबंध में जारी गाइड लाइन से परीक्षार्थियों को राहत मिली है।

पुलिसकर्मियों के अवकाश निरस्त

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आगमन पर सुरक्षा व्यवस्था के कड़े इंतजाम किए गए हैं। एसएसपी बबलु कुमार ने सभी पुलिसकर्मियों के अवकाश निरस्त करने के निर्देश जारी कर दिए हैं। अवकाश को लेकर विभाग में सौ से अधिक प्रार्थनापत्र आए थे, जिसमें शादी, विवाह कार्यक्रम के साथ अन्य समस्याओं का जिक्र किया गया था।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.