आधे एमएल की होगी वैक्सीन की डोज

Updated Date: Thu, 31 Dec 2020 10:40 AM (IST)

- 10 से 20 एमएल की हो सकती है कोरोना वैक्सीन की वाइल

- 18901 हेल्थकेयर वर्कर्स को लगाई जाएगी पहले चरण में वैक्सीन

आगरा। कोरोना की वैक्सीन को लेकर ताजनगरी में तैयारियां पूरी हो चुकी हैं। अब बस वैक्सीन का आना बाकी है। भारत सरकार तीन वैक्सीन को अप्रूवल दे सकता है। ऐसे में आगरा में कौन-सी वैक्सीन आएगी, ये अभी तक पता नहीं हैं। लेकिन यह जानकारी मिली है कि कोरोना वैक्सीन की पहली डोज 0.5 एमएल की होगी और जल्द ही वैक्सीन आगरा पहुंच सकती है।

पहले चरण में 18901 हेल्थकेयर वर्कर्स को लगेगी वैक्सीन

पहले चरण में जनवरी में स्वास्थ्य कíमयों को कोरोना वैक्सीन लगाई जानी है। कोरोना वैक्सीन को रखने के लिए सीएमओ परिसर में वैक्सीन स्टोरेज सेंटर भी बना दिया गया है। यहां दो से आठ डिग्री सेल्सियस तापमान पर वैक्सीन स्टोर की जा सकती है। 10 से 20 एमएल की कोरोना वैक्सीन की वाइल आगरा आ सकती है। वहीं, कोरोना वैक्सीन की पहली डोज 0.5 एमएल की होगी। इस तरह एक वाइल से 20 से 40 लोगों को वैक्सीन लग सकेगी। चीफ मेडिकल ऑफिसर डॉ। आरसी पांडे ने बताया कि पहले चरण में 18901 सरकारी और प्राइवेट हॉस्पिटल के स्वास्थ्य कíमयों को वैक्सीन लगाई जाएगी। 68 केंद्रों पर वैक्सीन लगाई जानी है, हर केंद्र पर पांच लोगों की टीम होगी और पुलिस कर्मी भी तैनात किए जाएंगे। सीएमओ ने बताया कि कोरोना वैक्सीन के लिए तैयारी पूरी कर ली गई है। हर कंपनी की अलग अलग वैक्सीन है। डोज भी अलग अलग है। लगाने का तरीका भी अलग अलग हो सकता है। कोरोना वैक्सीन सप्ताह में दो दिन लगाई जाएगी। सोमवार और शुक्रवार को 68 केंद्रों पर कोरोना वैक्सीन लगेगी। एक सत्र में 100 वैक्सीन लगाई जाएगी।

---------------

यूके से लौटे 42 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव

आगरा। कोरोना के नये स्ट्रेन ने देश में दस्तक दे दी है। उत्तर प्रदेश के मेरठ में भी कोरोना का नया स्ट्रेन मिल चुका है। इससे आगरा के लोगों में भी सनसनी मच गई है। बीेते दिनों आगरा में ब्रिटेन से 59 लोग आए थे। इसमें से 42 लोगों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। अन्य लोगों के भी सैंपल लिए जाने है। ऐसे में आगरा में लोगों के बीच नया स्ट्रेन नई चर्चा का विषय बन गया है। लोगों में अब कोरोना के प्रति चिंता बढ़ गई है। अब लोग कोरोना से बचाव के लिए ज्यादा सजग भी हो गए हैं।

सरोजनी नायडू मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायोलॉजी डिपार्टमेंट में बनी लैब में अब तक ब्रिटेन से आए 53 लोगों की जांच हो चुकी है। इसमें से आगरा के 42 लोग, हाथरस से 10 लोग और एक मैनपुरी का सैंपल लिया गया है। इन सभी की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कोविड टेस्टिंग सेंटर की नोडल डॉ। आरती अग्रवाल ने बताया कि अब तक यूके से आए 53 लोगों के टेस्ट निगेटिव आई है। अभी आगरा से और लोगों के सैंपल आना बाकी है। कुल 59 लोगों की लिस्ट आई है। उन्होंने बताया कि इन सभी की एंटीजन और आरटीपीसीआर दोनों तरह की जांच की गई हैं। सभी की दोनों रिपोर्ट निगेटिव आई हैं।

अलग वार्ड में रखा जाएगा नए स्ट्रेन का पेशेंट

कोरोनावायरस के गंभीर पेशेंट्स का इलाज कोविड हॉस्पिटल मे किया जा रहा है। कुछ पेशेंट्स को होम आइसोलेशन में भी ट्रीटमेंट दिया जा रहा है। लेकिन कोविड-19 के नए स्ट्रेन मिलने पर पेशेंट को अलग वार्ड में रखा जाएगा। सरोजनी नायडू मेडिकल कॉलेज के कोविड हॉस्पिटल के नोडल डॉ। प्रशांत गुप्ता ने बताया कि यदि कोविड के नए स्ट्रेन का कोई पेशेंट मिलता है तो उसे अन्य कोविड पेशेंट्स के साथ नहीं रखा जाएगा। क्योंकि कोरोना के नए स्ट्रेन का प्रभाव अलग है और नए स्ट्रेन के पेशेंट को अन्य पेशेंट्स के साथ रखा गया तो अन्य पेशेंट्स को भी नए स्ट्रेन का वायरस होने की आशंका रह सकती है। उन्होंने बताया कि नए स्ट्रेन के पेशेंट के लिए अलग वार्ड बनाने की एसएन में व्यवस्था है।

वर्जन

कोरोना वैक्सीन के लिए तैयारी पूरी कर ली गई है। हर कंपनी की अलग अलग वैक्सीन है। डोज भी अलग अलग है। लगाने का तरीका भी अलग अलग हो सकता है।

-डॉ। आरसी पांडेय, सीएमओ

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.