नोट की लिमिट बढ़ी, टेंशन नहीं घटी

Updated Date: Wed, 16 Nov 2016 07:41 AM (IST)

बैंक के साथ एटीएम पर लगी लंबी कतारे, कई जगह कैश खत्म

एटीएम से निकले दो हजार तो चेहरे पर आई मुस्कान, बैंककर्मियों से हुई झड़प

ALLAHABAD: केंद्र सरकार ने खाते से कैश निकासी और रुपए एक्सचेंज की लिमिट बढ़ा दी है, लेकिन पब्लिक की टेंशन कही से घटने का नाम नहीं ले रही है। बैंकों और एटीएम के बाहर मंगलवार को भी लंबी कतार दिखी। थोड़े से कैश के लिए लोगों को घंटों जूझना पड़ा। एटीएम भी पूरी तरह से चालू नहीं रहे। केवल ब्रांच में लगे एटीएम ने ही नोट उगले।

दिखा छुट्टी का असर

सोमवार को गुरुनानक जयंती की छुट्टी के बाद बैंक खुले तो असर साफ नजर आया। अन्य दिनों की अपेक्षा लाइनों में अधिक भीड़ नजर आई। युवा, महिलाओं समेत बुजुर्ग भी घंटों लाइन में लगे अपनी बारी की प्रतीक्षा करते रहे। लोगों का कहना था कि घर में रुपए नही हैं, घर चलाने के लिए पैसों की जरूरत है इसलिए लाइन में लगे हैं। महिलाओं का भी कहना था कि पति काम पर गए हैं इसलिए लाइन में लगने की जिम्मेदारी उनके कंधों पर आ गई है। वही बैंक अपने समय से खुले और उसके बाद धीरे-धीरे लोगों को पैसे मिलने लगे।

बार-बार खत्म हुआ कैश

इलाहाबाद बैंक, यूनियन बैंक, एसबीआई, सेंट्रल बैंक, पीएनबी आदि की कई शाखाओं में दिनभर कैश खत्म होने की बात सामने आती रही। इसके चलते लोगों को खासी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। बैंकों का कहना था कि कैश मंगाया गया है और उसके बाद फिर से बांटा जाएगा। थोड़ा इंतजार करना ही होगा। इस बीच बैंकों के सिक्योरिटी गार्डो और पुलिस से पब्लिक की झड़प होती रही। कई जगह लाइन में लगने को लेकर लोग ही आपस में भिड़ गए। गाली-गलौज के अलावा उनमें मारपीट की नौबत तक आ गई। लोगों की सहूलियत के लिए इलाहाबाद बैंक की मेन ब्रांच में मंगलवार को टोकन सिस्टम लागू कर दिया गया था।

अपने रवैये पर कायम रहे एटीएम

मंगलवार को भी एटीएम का पुराना रवैया जारी रहा। बैंकों की ब्रांच को छोड़ दे तो कई जगह एटीएम काम नही कर रहे थे। पर्याप्त कैश नही होने की वजह से इनको चालू नही किया जा सका। जहां पर सौ रुपए की करेंसी डाली गई थी वह एटीएम कुछ ही घंटों में खाली हो गए। इससे पब्लिक को झटका लगा। उधर, एसबीआई के कुछ एटीएम ने दो हजार की नोट पहली बार उगली तो लोगों के चेहरे पर मुस्कान दौड़ गई। हालांकि, बाद में मार्केट में फुटकर की क्राइसिस होने की बात सोचकर उनके माथे पर भी शिकन फैल गई।

नहीं पहुंचे पांच सौ के नोट

फिलहाल, एक बार फिर लोगों के लंबे इंतजार के बावजूद पांच सौ रुपए की नए नोट नजर नही आए। इससे लोगों को निराशा हाथ लगी। बैंक अधिकारियों का कहना था कि पांच सौ का नोट आने के बाद काफी राहत मिलेगी। बताया जा रहा है कि बुधवार को बैंकों में यह नोट आ सकते हैं। इसके अलावा बैंकों में दस और बीस के पुराने नोट बांटे जाने से लोगों ने नाराजगी जाहिर की। कई बैंकों में नई करेंसी भी बांटी गई। बैंकों का कहना है कि एक सप्ताह और लगेगा लाइन कम होने में।

दोपहर से लाइन में लगे थे, लेकिन पैसे नही मिले। अंत में घर से मौसी को बुलाकर लाइन में लगाना पड़ा। अब उन्हें कैश मिल जाएगा। कई लोगों को महिलाओं को लाकर कैश लेना पड़ रहा है।

राज

घर में सभी लोग पैसे की कमी से परेशान हैं। कोई सुनवाई नही हो रही है। एटीएम के बार लाइन लंबी है और नंबर आने तक कैश खत्म हो जाता है।

सुमित

बैंकों में भरपूर पैसा होना चाहिए। जिससे कैश खत्म होने की नौबत न आए। कोई दो से तीन घंटे लाइन में लगे और अंत में उसे पैसा न मिले तो यह निराशा वाली बात होती है।

विनोद

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.