योग्यता छिपाने पर नियुक्ति पत्र रोका

Updated Date: Sat, 26 Sep 2020 05:48 PM (IST)

लोक सेवा आयोग की ओर से एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती 2018 के तहत 15 विषयों के लिए निकली थी वैकेंसी

कला वर्ग में 468 अभ्यर्थियों का हुआ था चयन

prayagraj@inext.co.in

PRAYAGRAJ: यूपीपीएससी की ओर से राजकीय इंटर कालेजों में एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती 2018 के अन्तर्गत विज्ञापन जारी किया गया था। इन पदों पर नियुक्ति के लिए आयोजित हुई लिखित परीक्षा से ही विवाद शुरू हो गया। पेपर लीक होने के मामले को देखते हुए आयोग की ओर से 15 विषयों की भर्ती में दो विषयों को छोड़कर 13 का रिजल्ट जारी हो चुका है। कुछ दिन पहले ही आयोग ने रुके हुए दो विषयों ¨हदी व सामाजिक विज्ञान रिजल्ट भी जारी करने की घोषणा कर दी है। इन्हीं दोनों विषयों का पेपर लीक हुआ था। लेकिन जहां सभी विषयों का रिजल्ट जारी होने की तैयारी थी। वहीं अब कला विषय के चयनितों की नियुक्ति में पेंच फंस गया। शासन ने 12 विषयों के चयनितों को नियुक्ति देने का निर्देश दिया है। फार्म भरते समय अपनी योग्यता छिपाने के साथ ही गलत जानकारी भरने वाले चयनित अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र देने पर रोक लगा दी गई है।

15 विषयों के लिए 10,768 पदों पर होनी थी भर्ती

यूपीपीएससी ने घोषित की थी राजकीय इंटर कालेजों में एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती-2018

इसके तहत 15 विषयों में 10,768 पदों की भर्ती निकाली गई थी।

इसमें 13 विषयों में 7481 पदों के सापेक्ष 4243 अभ्यर्थी सफल घोषित किए गए थे।

भर्ती विज्ञापन में एलटी ग्रेड के तहत सहायक अध्यापक कला पद के लिए ललित कला से स्नातक के साथ बीएड या कला से स्नातक व बीएड की योग्यता आयोग की ओर से निर्धारित की गई थी।

प्राविधिक कला से इंटरमीडिएट करने वाले सैकड़ों अभ्यर्थियों ने भी फार्म भर दिया। उन्होंने बीएड भी नहीं किया था।

प्रदेश के अशासकीय विद्यालयों में सहायक अध्यापक कला पद के लिए बिना बीएड के प्राविधिक कला से इंटरमीडिएट मांगा जाता है।

कला विषय में 468 अभ्यर्थी सफल हुए हैं, उसमें 400 के लगभग वो चयनित हैं।

जिन अभ्यर्थियों ने प्राविधिक कला से इंटरमीडिएट किया है। ये योग्यता राजकीय इंटर कालेजों में कला विषय के सहायक अध्यापक पद पर नियुक्ति के लिए पात्रता नहीं रखता है।

मामले की जानकारी होने के बाद शासन की ओर से जांच शुरू हो गई है।

कला विषय के चयनितों के डाक्यूमेंट की जांच करायी जा रही है। जांच पूरी होने के बाद उसकी रिपोर्ट शासन को भेज दी जाएगी।

जगदीश

सचिव, यूपीपीएससी

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.