मान सिंह के सिर सजा एमएलसी का ताज

Updated Date: Sat, 05 Dec 2020 03:58 PM (IST)

-लगातार चार बार से एमएलसी रहे यज्ञ दत्त शर्मा को दी शिकस्त

-इलाहाबाद-झांसी एमएलसी चुनाव में सपा ने मारी बाजी

PRAYAGRAJ: एमएलसी चुनाव में आखिरकार सपा को जीत हासिल हो गई। शुक्रवार को आए परिणाम में सपा के उम्मीदवार मान सिंह यादव ने भाजपा के यज्ञदत्त शर्मा को हरा दिया। इस तरह से 24 साल बाद प्रयागराज के हाथ से एमएलसी की सीट फिसल गई। इस बार कौशांबी ने बाजी मारी है। दिनभर चली कांटे की टक्कर के दौरान दोनों प्रत्याशियों के समर्थकों के बीच गहमा-गहमी का माहौल रहा। सपा प्रत्याशी की जीत के बाद सपाइयों ने जमकर जश्न मनाया। चौराहों पर मिठाई खिलाने के साथ सपा कार्यकर्ताओं ने एक दूसरे को बधाई भी दी।

1996 से कर रहे थे राज

भाजपा के यज्ञदत्त शर्मा पिछले चार बार से इलाहाबाद-झांसी खंड स्नातक निर्वाचन क्षेत्र से एमएलसी रहे। पहली बार 1996 में उन्होंने इस पद पर बाजी मारी थी। इसके बाद वह 2002, 2008 और 2014 में इस क्षेत्र से एमएलसी चुने गए। लगातार चार बार उनके जीतने से प्रयागराज का सीट पर कब्जा बरकरार रहा था। इस बार भी भाजपा ने प्रयागराज के यज्ञ दत्त पर दांव लगाया था जो फेल साबित हुआ।

मनौरी में शिक्षक हैं मानसिंह

बैरमपुर कौशांबी के रहने वाले मानसिंह यादव श्रीकृष्ण यादव के बेटे हैं। इलाहाबाद विवि से उच्च शिक्षा प्राप्त करने के बाद यहीं से सिविल सेवा की तैयारी में जुट गए थे। हालांकि 2004 में उनका चयन इंटर कॉलेज अध्यापक पद पर हुआ। पहली नियुक्ति भी उन्हें बरहन आगरा में मिली। 2014 में स्थानांतरित होकर वह पब्लिक इंटर कॉलेज मनौरी में आ गए। इनकी पत्‍‌नी भी कॉलेज में शिक्षिका हैं। इसके पहले वाले चुनाव में उनको एमएलसी पद के लिए टिकट नही मिल सका था। इसके बाद 2017 में फरवरी में उन्हें समाजवादी शिक्षक सभा का प्रदेश उपाध्यक्ष और फिर 2018 में प्रदेश अध्यक्ष बना दिया गया। इस तरह से इस बार एमएलसी की सीट प्रयागराज के हाथ से निकलकर कौशांबी के खाते में चली गई।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.