बीटीसी पेपर लीक के आरोपी आशीष की मौत

Updated Date: Fri, 04 Jan 2019 06:01 AM (IST)

08

अक्टूबर 2018 को होनी थी बीटीसी चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा

07

अक्टूबर को ह्वाट्सएप पर लीक हो गये थे सभी पेपर

02

लोगों को एसटीएफ ने किया था गिरफ्तार। दोषी मिलने पर किया चालान

13

अक्टूबर को दोनों को पुलिस ने चालान करके जेल भेजा

29

दिसंबर को इंफेक्शन के कारण आशीष को एसआरएन हॉस्पिटल में कराया गया था भर्ती

02

जनवरी 2019 को लखनऊ ले जाते समय रास्ते में हालत बिगड़ने पर रायबरेली में कराया गया था भर्ती

---

रायबरेली जिला अस्पताल में तोड़ा दम, दूसरा आरोपी भी पहुंचा अस्पताल

PRAYAGRAJ: बीटीसी फोर्थ सेमेस्टर परीक्षा का पेपर लीक करने के आरोपी आशीष अग्रवाल की रायबरेली जिला अस्पताल में मौत हो गई। अक्टूबर से जेल में बंद आशीष डायबिटीज से पीडि़त था। बीमारी से पैर में आए गहरे जख्म ठीक नहीं हो रहे थे। इलाज के लिए उसे एसआरएन हॉस्पिटल से एसजीपीजीआई लखनऊ ले जाया जा रहा था। रास्ते में हालत ज्यादा बिगड़ी तो उसे रायबरेली के जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों उसे मृत घोषित कर दिया।

वाट्सएप पर लीक हुआ था पेपर

बीटीसी चतुर्थ सेमेस्टर की परीक्षा आठ अक्टूबर 2018 को होनी थी। परीक्षा के एक दिन पूर्व ही पहला पेपर लीक हो गया था। पेपर लोगों के वाट्सएप पर वायरल हो गया था। मामले की जानकारी होने पर अफसरों ने जांच शुरू कर दी। पड़ताल में एक-एक कर आठों पेपर लीक होने की बात सामने आई थी। मामले को लेकर जिला विद्यालय निरीक्षक ने मंझनपुर ने कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया और जानकारी परीक्षा नियामक को इसकी जानकारी दी थी। सूचना पर प्रदेश भर की परीक्षा निरस्त कर दी गई थी। केस की गंभीरता को देखते हुए कौशांबी पुलिस के साथ ही जांच में एसटीएफ की टीम भी लगा दी गई थी।

बाक्स

गिरफ्तारी से मौत तक का सफर

दीप्ती इंटरप्राइजेज को केंद्रों तक पेपर पहुंचाने की जिम्मेदारी सौंपी गई थी

एसटीएफ ने दीप्ती इंटर प्राइजेज की मालकिन के पति आशीष अग्रवाल निवासी फ्लैट नंबर 307 महालक्ष्मी अपार्टमेंट, बलरामपुर हाउस कर्नलगंज प्रयागराज को गिरफ्तार कर लिया था।

परीक्षा का पेपर भार्गव ¨प्र¨टग प्रेस में छपने की बात सामने आई थी।

एसटीएफ ने ¨प्र¨टग प्रेस के मालिक अर¨वद भार्गव निवासी बाई का बाग कीडगंज को गिरफ्तार किया था।

दोनों आरोपित 13 अक्टूबर से कौशांबी की जेल में बंद थे। आशीष अग्रवाल डायबिटीज के मरीज थे।

डेढ़ माह पहले पैर में चोट से हुआ जख्म इलाज कराने के बाद भी ठीक नहीं हो रहा था।

इंफेक्शन के चलते 29 दिसंबर 2018 को आशीष अग्रवाल को एसआरएन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया।

हालत सुधार न देख डॉक्टरों ने आशीष को एसजीपीजीआई के लिए रेफर कर दिया।

बुधवार को लखनऊ ले जाते समय रास्ते में उनकी हालत ज्यादा बिगड़ गई।

पुलिस ने उन्हें रायबरेली के जिला अस्पताल में भर्ती करा दिया। जहां रात करीब आठ बजे उनकी मौत हो गई

बाक्स

अर¨वद भी भर्ती है अस्पताल में

बीटीसी पेपर लीक मामले में आशीष के साथ पुलिस ने अर¨वद भार्गव को भी गिरफ्तार किया था। अर¨वद भार्गव भी ब्लडप्रेशर का मरीज है। कई बार अर¨वद की भी हालत जेल में बिगड़ चुकी है। इसे देखते हुए 29 दिसंबर को आशीष के साथ अर¨वद को भी एसआरएन हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। यहां अर¨वद का इलाज चल रहा है।

बीटीसी पेपर लीक प्रकरण में आरोपित आशीष अग्रवाल की उपचार के लिए लखनऊ ले जाते समय मौत हो गयी है। इसकी सूचना सभी जिम्मेदार अफसरों को भेज दी गयी है। एसआरएन हॉस्पिटल में भर्ती अर¨वद की सेहत में सुधार है।

-बीएस मुकुंद,

प्रभारी अधीक्षक, जिला जेल कौशाम्बी

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.