बारूद से ढहेगा अतीक का 'किसान'

Updated Date: Tue, 22 Sep 2020 12:48 PM (IST)

02

हफ्ते से चल रही है पूर्व माफिया अतीक व उसके सर्किल के लोगों के खिलाफ कार्रवाई

11

इमारतों पर अभी तक चल चुका है पीडीए का बुलडोजर

10

प्रॉपर्टी को सीज कर प्रशासन ले चुका है अपने कब्जे में

04

हिस्सों में अंदावा के पास बना है पांच मंजिला कोल्ड स्टोरेज

10

हजार स्क्वॉयर मीटर पर किया गया है इसका निर्माण

मजबूत निर्माण के आगे मशीनों की ताकत फेल होने पर लिया जाएगा डायनामाइट का सहारा

आसपास के एरिया में नुकसान बचाने के लिए बुलाए गए एक्सप‌र्ट्स

अंदावा में अतीक की पत्‍‌नी के कोल्ड स्टोरेज की दीवारें तोड़ नहीं पा रही जेसीबीफ्लैग

vinay.ksingh@inext.co.in

बारूद के दम पर आतंक कायम करके अपना लम्बा-चौड़ा अम्पायर खड़ा करने वाले बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद के ड्रीम प्रोजेक्ट को बारूद लगाकर ही उड़ाने की तैयारी है। बारूद लगातार उड़ायी जाने वाली यह इमारत शहर से करीब बीस किलोमीटर दूर अंदावां मोड़ पर स्थित है। यहां पांच मंजिला कोल्ड स्टोरेज बनाया गया है। इसकी गिनती स्टोरेज क्षमता के मामले में जिले के गिने-चुने कोल्ड स्टोरेज में होती है। अब पता चला है कि इसे दबंगई के बूते बनवाया गया था। इसका कोई नक्शा पास नहीं था। इसकी जमीन अतीक की पत्‍‌नी शाइस्ता परवीन के नाम पर है। इस प्रोजेक्ट को खाली करके ढहाने की कार्रवाई करीब एक पखवारे से चल रही है। किसान कोल्ड स्टोरेज अंदावां में रखा सामान तो पहले ही खाली कराया जा चुका है लेकिन इसकी बिल्डिंग अभी तक ढहायी नहीं जा सकी है। इसे ढहाने के लिए प्रशासन की तरफ से जेसीबी लगायी गयी। लेकिन, भारी-भरकम कंस्ट्रक्शन को ढहाने में इस मशीन को महीने से भी ज्यादा का वक्त लग सकता है। इसी को देखते हुए इसे बारूद लगाकर उड़ाने का फैसला लिया गया है। बारूद बिछाने का फुलप्रूफ प्लान तैयार है। सुपर स्पेशलिस्ट से भी बातचीत हो चुकी है। महाराष्ट्र से आने वाले सुपर स्पेशलिस्ट की मौजूदगी में पूरी बिल्डिंग उड़ायी जाएगी ताकि आसपास की आबादी अथवा बिल्डिंग्स को कम से कम नुकसान हो।

अतीक के परिवार का ड्रीम प्रोजेक्ट

दरअसल पूर्व सांसद अतीक अहमद और उसके परिवार ने जिले में तमाम जगहों पर सम्पत्तियां बना रखी है। सिटी से करीब बीस किलोमीटर दूर अंदावा इलाके में अतीक के परिवार की तकरीबन चार बीघा जमीन है। इस बेशकीमती जमीन के करीब दस हजार स्क्वायर मीटर जगह पर अतीक ने कोल्ड स्टोरेज बनवा रखा है। पांच मंजिला कोल्ड स्टोरेज चार हिस्सों में है। यह जिले ही नहीं बल्कि आस पास के कई जिलों का सबसे बड़ा कोल्ड स्टोरेज था। करोड़ों की लागत होने और हर महीने इसके किराए से लाखों की आमदनी होने की वजह से इस कोल्ड स्टोरेज को बाहुबली अतीक के परिवार का ड्रीम प्रोजेक्ट भी कहा जाता है।

दो दिन में भी नहीं गिरा 10% हिस्सा

अंदावां मोड़ के पास स्थित पांच मंजिला कोल्ड स्टोरेज बाहुबली पूर्व सांसद अतीक अहमद का है। इसकी जमीन उन्होंने अपनी पत्नी शाइस्ता परवीन के नाम रजिस्टर्ड करा रखी है। अतीक के आर्थिक साम्राज्य की पड़ताल के बाद प्रशासनिक टीम को पता चला कि ज्यादातर प्रापर्टी अवैध रूप से अर्जित की गयी है। सरकारी अमले ने अतीक के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई शुरू की तो इस जमीन की भी पड़ताल की गई। पड़ताल में साफ हुआ कि कोल्ड स्टोरेज के निर्माण के लिए विकास प्राधिकरण से कोई मंजूरी नहीं ली गई थी। बिना नक्शे के बने कोल्ड स्टोरेज को दो हफ्ते पहले अवैध निर्माण घोषित कर उसके ध्वस्तीकरण के आदेश जारी किये गए थे। तीन दिन पहले कई बुलडोजर लगाकर इसके ध्वस्तीकरण की प्रक्रिया शुरू की गई। बताया जाता है कि कि अभी तक इस कोल्ड स्टोरेज का दस परसेंट हिस्सा भी नहीं गिराया जा सका है। बिल्डिंग को ढहाने में लगाये गये अफसर बताते हैं कि कांस्ट्रक्शन इतना मजबूत है कि इसे ढहाने में मशीने फेल हो जा रही हैं। जेसीबी को उल्टा नुकसान पहुंच गया है। इसके बाद सरकारी अमले ने इसे जमींदोज किये जाने को लेकर नई रणनीति बनाई। इसके तहत कोल्ड स्टोरेज की इमारत को डायनामाइट व दूसरे बारूद का इस्तेमाल करके उड़ाया जायेगा।

मुम्बई से आएंगे एक्सप‌र्ट्स

इस काम के लिए स्पेशलिस्ट्स की भी मदद ली जा रही है। एक्सप‌र्ट्स ने मौके की पड़ताल के बाद रिपोर्ट दी है कि डायनामाइट ब्लास्ट के जरिये कोल्ड स्टोरेज को गिराते समय आस-पास कोई भी मौजूद नहीं होना चाहिए। आसपास का इलाका खाली करा लिया जाना चाहिए ताकि जान-माल को कम से कम नुकसान हो। एक्सप‌र्ट्स ने आशंका जताई है कि एक्सप्लोसिव बलास्ट से आसपास के मकानों को नुकसान पहुंच सकता है। इसे बचाने के लिए पीडीए ने महाराष्ट्र की सुपर स्पेशलिस्ट टीम से सम्पर्क साधा है। यह टीम मुंबई में इस तरह के काम को अंजाम दे चुकी है। इस टीम की देखरेख में ही बारुद बिछाया जायेगा और बिल्डिंग को उड़ाने की कार्रवाई की जाएगी। इसमें एक-दो दिन का समय लग सकता है।

कोल्ड स्टोरेज को बुलडोजर और जेसीबी मशीनों से तोड़ने में लम्बा वक्त लग सकता है। इसलिए अब इसे ब्लास्ट कराकर उड़ा देने की तैयारी की है। यह काम सुपर एक्सप‌र्ट्स की निगरानी में कराया जाएगा। यूपी में यह पहला मौका होगा जब किसी माफिया की अवैध संपत्ति को बारूद के जरिये ब्लास्ट कर उड़ा दिया जाएगा।

आलोक पांडेय,

जोनल आफिसर, पीडीए

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.