गंगा-यमुना ने ओढ़ ली सितारों की चादर

Updated Date: Thu, 26 Nov 2015 07:40 AM (IST)

-देव दीपावली के अवसर पर हजारों दीपों से रोशन हुए संगम के घाट

-लोगों में दिखा उत्साह, आतिशबाजी संग सांस्कृतिक कार्यक्रम भी हुए

ALLAHABAD: कार्तिक पूर्णिमा पर संगम तट पर झिलमिलाते हजारों दीये और गंगा व यमुना के जल में चमकता उनका अक्स देखकर ऐसा लग रहा था कि दोनों ने सितारों की चादर ओढ़ ली हो। इस दिव्य दृश्य को देखने ओर उसका हिस्सा बनने के लिए शहरवासियों में गजब का उत्साह दिखा। जिला प्रशासन के सहयोग से आयोजित हुए देव दीपावली महोत्सव में हजारों की संख्या में लोगों ने संगम पहुंचकर दीपदान किया। पूरे संगम घाट की शानदार सजावट की गई थी।

भजन के साथ आगाज

देव दीपावली के अवसर पर आयोजित हुए कार्यक्रम की शुरुआत भजन से हुई। इसके बाद शाम पांच से साढ़े पांच बजे तक दीपमालाओं का प्रज्ज्वलन किया गया। इसके बाद मां गंगा की भव्य आरती की गई, तत्पश्चात उपस्थित लोगों ने सामूहिक रूप से गंगा को स्वच्छ बनाने के लिए संकल्प लिया। संकल्प में संगम क्षेत्र को सदैव स्वच्छ रखने, पॉलीथिन मुक्त रखने, खुले में शौच नहीं करने, गंगा-यमुना के जल को सदैव निर्मल बनाए रखने, चलो जन गंगा के तीर, करे गंगा-यमुना का निर्मल नीर समेत अन्य बातों को शामिल किया गया। संकल्प के बाद सांस्कृतिक कार्यक्रमों का शुभारम्भ हुआ। इस मौके पर हुई भव्य आतिशबाजी से संगम क्षेत्र रोशनी से जगमगा उठा। कार्यक्रम में स्कूल के स्टूडेंट्स के साथ ही सिविल डिफेंस, आर्मी, नेहरू युवा केन्द्र, एनएसएस, एनसीसी, पुलिस विभाग, व्यापार मंडल सहित अन्य संस्थाओं व विभाग के लोग शामिल हुए। डीएम के आह्वान पर बड़ी संख्या में लोग अपने साथ पांच-पांच कैंडिल लेकर संगम तट पर पहुंचे और दीप प्रज्ज्वलन में अपनी हिस्सेदारी पेश की। संगम के साथ ही साथ गंगा यमुना नदी के किनारे, बड़े हनुमान मंदिर, गंगा आरती स्थल, दारागंज, दशाश्वमेध घाट, यमुना तट, सरस्वती घाट, बोट क्लब, बलुआ घाट, झूंसी क्षेत्र के सभी पक्के घाट पर भी दीप प्रज्ज्वलन किया गया।

नाग वासुकी मंदिर में भव्य आरती

देव दीपावली के पावन अवसर पर पौराणिक नागवासुकी मंदिर व प्रयागराज सेवा समिति की ओर से भव्य आयोजन किया गया। इस विशेष अवसर पर मंदिर को 11 हजार दीपों से सजाया गया। उसके बाद वैदिक मंत्रोच्चार के बीच बाबा नागवासुकी के दरबार में देवताओं का आह्वान किया गया, जिसके बाद मंदिर के प्रबंधक व पुजारी पंडित श्यामधर त्रिपाठी के निर्देशन में बाबा नागवासुकी का सुगंधित पुष्पों व विभिन्न प्रकार के रत्नों से मनमोहक श्रृंगार किया गया। शाम साढ़े सात बजे मां गंगा की आरती की गई। इस मौके पर सांसद केशव प्रसाद मौर्या, मेयर अभिलाषा गुप्ता व पूर्व कैबिनेट मंत्री डॉ। नरेन्द्र कुमार सिंह गौर शामिल हुए। महाआरती के पश्चात फिल्म निर्देशक राकेश श्रीवास्तव के निर्देशन में सांस्कृतिक कार्यक्रम का शुभारम्भ हुआ। इसकी शुरुआत प्रयागराज सेवा समिति के अध्यक्ष पं। धर्मराज पाण्डेय ने दीप प्रज्ज्वलित करके किया। सांस्कृतिक कार्यक्रम के क्रम में भक्ति गीतों की धुन पर नाग नागिन द्वारा बाबा नागवासुकी की आराधना व भक्ति में आलिंगन नृत्य की प्रस्तुति हुई। जिससे देखकर दर्शक मंत्रमुग्ध हो गए।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.