कपिलमुनी और सूरजभान पहुंचे जेल

Updated Date: Wed, 29 Apr 2015 07:00 AM (IST)

-जवाहर पंडित मर्डर केस में कपिलमुनि, सूरजभान व रामचंद्र ने किया सरेंडर

-उदयभान करवरिया पहले से ही हैं नैनी जेल में

जवाहर पंडित मर्डर केस में कपिलमुनि, सूरजभान व रामचंद्र ने किया सरेंडर

-उदयभान करवरिया पहले से ही हैं नैनी जेल में

ALLAHABAD: allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: शहर के चर्चित जवाहर पंडित मर्डर केस के हाईप्रोफाइल आरोपी पूर्व सांसद कपिलमुनि, सूरजभान और उनके कजिन राम चन्द्र ने मंगलवार को कोर्ट में सरेंडर कर दिया। अपर न्यायिक जज सुभाष चन्द्रा ने सरेंडर के बाद इन्हें सलाखों के पीछे भेज दिया। इस दौरान पूर्व सांसद के समर्थकों का कोर्ट कैंपस से लेकर नैनी जेल तक जमावड़ा लगा रहा। वकीलों की लम्बी फौज कोर्ट में मौजूद रही। पूर्व सांसद की जमानत की सुनवाई बुधवार को होगी।

क्9 साल पहले की घटना

सिविल लाइंस में क्9 साल पहले एक ब्7 से जवाहर पंडित की गोलियों से भून कर हत्या हुई थी। इस हमले में दो अन्य लोग भी मारे गए थे। जवाहर पंडित के घर वालों ने कपिलमुनि और उनके भाइयों पर मर्डर का आरोप लगाया। जांच शुरू हुई एफआईआर भी दर्ज हुई। लेकिन पुलिस कार्रवाई नहीं कर सकी। मर्डर केस में फर्जी फंसाए जाने की बात को लेकर विवेचना कई बार ट्रांसफर हुई। इस मर्डर केस में दो बार सीबीसीआईडी ने जांच की। पहली बार में कपिलमुनि व उनके घर वाले आरोपी बने लेकिन बसपा शासन काल में फिर कहानी बदल गई। दोबारा सीबीसीआईडी जांच हुई और सभी आरोपी बरी हो गए। लेकिन एक बार फिर से सत्ता परिवर्तन के बाद कहानी बदल गई और आरोपियों की तलाश शुरू हो गई।

हाईकोर्ट से लिया था स्टे

इस मर्डर केस में आरोपी बने पूर्व सांसद कपिलमुनि ने हाईकोर्ट से अरेस्टिंग स्टे ले लिया। लेकिन सिविल कोर्ट में फिर से सुनवाई के बाद कहानी बदलने लगी। मामला इतना बढ़ गया कि कपिलमुनि के भाई पूर्व विधायक उदयभान को सलाखों के पीछे पहुंचा दिया गया। हाईकोर्ट में अरेस्टिंग स्टे के खिलाफ लोग पहुंच गए। फिर हाईकोर्ट से सिविल कोर्ट को आर्डर दिया कि वह आठ महीने के अंदर इस केस का निस्तारण करे। इसके साथ ही अरेस्टिंग स्टे खत्म हो गया। ऐसा होते ही कोर्ट ने तीनों आरोपियों को कोर्ट में तत्काल सरेंडर करने का आदेश जारी किया। साथ ही यह भी कहा गया कि अगर वह खुद सरेंडर नहीं करते हैं तो पुलिस अरेस्ट करेगी।

भूकंप के कारण नहीं कर सके थे सरेंडर

शनिवार को कपिलमुनि, सूरजभान और राम चन्द्र को कोर्ट में सरेंडर करना था। लेकिन उस दिन अचानक भूकंप आ जाने से कोर्ट का काम ठप हो गया था। नेक्स्ट डे संडे था। सोमवार को भी सरेंडर नहीं होने के बाद फाइनली मंगलवार को तीनों आरोपियों ने खुद को सरेंडर कर दिया।

एक नजर में जवाहर हत्याकांड

सिविल लाइंस में क्9 साल पहले सरेशाम हुई थी घटना

-गोलियों से छलनी कर दिए गए थे पूर्व विधायक जवाहर पंडित

-हमले में दो अन्य लोग भी मारे गए थे

-इलाहाबाद में पहली बार किसी घटना में इस्तेमाल हुई थी एके ब्7

-पहली बार इस्तेमाल किए गए थे भाड़े के शूटर्स

-बालू खनन था हत्या की जड़ में

-जवाहर पंडित के घर वालों ने कपिलमुनि, सूरजभान और उदयभान करवरिया को किया था नामजद

-दो बार इस केस की जांच कर चुकी है सीबीसीआईडी, दोनों बार रिपोर्ट अलग-अलग

-पूर्व सांसद कपिलमुनि और सूरजभान ने ले रखा था हाईकोर्ट से अरेस्टिंग स्टे

-पूर्व विधायक उदयभान पहले से ही हैं जेल में बंद

-जमानत याचिका पर आज हो सकती है सुनवाई

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.