पूर्व एडीए सचिव से हुई पूछताछ

Updated Date: Thu, 07 Dec 2017 04:00 PM (IST)

तत्कालीन एडीए सचिव रही वंदना त्रिपाठी से क्राइम ब्रांच ने की पूछताछ

एसडीएम राजकुमार द्विवेदी ने अरेस्ट स्टे के लिए हाईकोर्ट की शरण में

क्राइम ब्रांच ने कई अधिकारियों को 18 दिस6बर को बुलाया है कार्यालय

ALLAHABAD: झूंसी में रेलवे की करोड़ों की जमीन घोटाले में तहसीलदार सदर रहे आशुतोष कुमार सिंह और रिटायर्ड सीआरओ बीएल सरोज को जेल 5ोजने के बाद अब क्राइम ब्रांच ने कई अन्य अफसरों से पूछताछ कर साक्ष्य जुटाना शुरू कर दिया है। इस सिलसिले में बुधवार को एसपी क्राइम बृजेश मिश्र ने उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग की सचिव वंदना त्रिपाठी को कार्यालय बुलाकर कई जानकारी हासिल की। बता दें कि घोटाले के वक्त वंदना त्रिपाठी तत्कालीन एडीए सचिव थीं। क्राइम ब्रांच ने वंदना त्रिपाठी से फाइलें मंगाकर दे2ाीं। उधर मामले में अफसरों की गिर3तारी शुरू होते ही तत्कालीन एसडीएम फूलपुर रहे राजकुमार द्विवेदी हाई कोर्ट की शरण में पहुंच गए हैं। उन्होंने अरेस्ट स्टे के लिए अर्जी दा2िाल की है।

बता दें कि झूंसी के कटका में रेलवे की 41 बीघा जमीन के दस्तावेजों में हेरफेर कर 5ाू माफिया के नाम कर दी गई थी। मामले में जांच शुरू हुई तो कई छोटे-बड़े प्रशासनिक अधिकारियों की मिली5ागत सामने आई। मामले में झूंसी थाने में कई लोगों के 2िालाफ वि5िान्न धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया गया। क्राइम ब्रांच वर्ष 2015-16 में प्रशासन, एडीए और रेलवे में तैनात अफसरों का बयान दर्ज कर रही है। इसी सिलसिले में बुधवार को उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग की सचिव वंदना त्रिपाठी को बुलाया गया और कई घंटे पूछताछ की गई। उनके साथ एडीए के दो अधिकारी और एक बाबू को 5ाी दस्तावेजों के साथ बुलाया गया था। उनसे 5ाी क्राइम ब्रांच ने घंटो पूछताछ की। बता दें कि मामले में 18 दिसंबर को पूर्व डीएम आसिफ जाफरी, एसडीएम राजकुमार द्विवेदी समेत अन्य लोगों को बुलाया गया है। एसपी क्राइम बृजेश मिश्र के मुताबिक पूर्व सचिव वंदना त्रिपाठी से कई जानकारी ली गई। एडीए के अन्य अधिकारियों को 5ाी पूछताछ के लिए बुलाया जा रहा है। उनसे 5ाी इस मामले में पूछताछ की जाएगी।

घोटाले से जुड़े मामले को लेकर क्राइम ब्रांच बुलाया गया था। अधिकारियो ने कई जानकारियां मांगी थी। कई फाइलें व जानकारियां दी है। मैंने एडीए द्वारा कई वि5ागों को लेटर जारी किए गए थे। साक्ष्य सौंप दिया है।

वंदना त्रिपाठी, सचिव, उच्चतर शिक्षा सेवा आयोग

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.