क्रेडिट की जंग

Updated Date: Mon, 01 Oct 2018 01:42 AM (IST)

करछना आरओबी के उद्घाटन में सपा और प्रशासन आमने-सामने

जमकर हंगामे के बाद विधायक उज्जवल रमण सिंह ने दी गिरफ्तारी

पुलिस-पीएसी ने पुल के दोनों तरफ मिट्टी का ढेर लगाकर रोक दिया रास्ता

करछना आरओबी के उद्घाटन में सपा और प्रशासन आमने-सामने

जमकर हंगामे के बाद विधायक उज्जवल रमण सिंह ने दी गिरफ्तारी

पुलिस-पीएसी ने पुल के दोनों तरफ मिट्टी का ढेर लगाकर रोक दिया रास्ता

ALLAHABAD: allahabad@inext.co.in

ALLAHABAD: यमुनापार के कोरांव, खीरी, लेडि़यारी के साथ ही एक दर्जन से अधिक इलाकों के लोगों की सहूलियत के लिए निर्माणाधीन करछना रेलवे ओवरब्रिज के उद्घाटन में क्रेडिट पाने की होड़ में रविवार को करछना में जबर्दस्त हंगामा हुआ। इस हंगामे में पब्लिक को काफी परेशानी झेलनी पड़ी। राज्यसभा सांसद रेवती रमण सिंह व करछना विधायक उज्जवल रमण सिंह ने समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं और समर्थकों के साथ पहुंचकर आरओबी के उद्घाटन का प्रयास किया। पुलिस-पीएसी ने रोका तो पुलिस अधिकारियों और सपा नेताओं के बीच जमकर हंगामा हुआ। बाद में करछना विधायक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। दोनों को छोड़ने के बाद मामला शांत हुआ।

ऐसे हुआ तमाशा

-दिल्ली-हावड़ा रूट पर स्थित करछना आरओबी का निर्माण कार्य पूरा हो चुका है। रेलवे द्वारा अभी इसका उद्घाटन नहीं किया जा रहा है।

-इससे नाराज सपा के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद कुंवर रेवती रमण सिंह व करछना विधायक उज्जवल रमण सिंह ने रविवार को आरओबी के उद्घाटन का निर्णय ले लिया।

-पुलिस, प्रशासन और रेलवे अधिकारियों को जब इसकी जानकारी हुई तो उन्होंने नेताओं के पहुंचने से पहले ही पुलिस तैनात कर दी।

-रामपुर तिराहे पर सपा के राष्ट्रीय महासचिव व सांसद रेवती रमण सिंह, जिलाध्यक्ष कृष्णमूर्ति सिंह यादव, करछना विधायक उज्जवल रमण सिंह व अन्य सपा नेताओं को रोक दिया गया।

-इसके बाद भी नेताओं ने पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ बैरिकेडिंग तोड़ दिया और करछना आरओबी की तरफ बढ़ चले।

-पुलिस ने रोकने का प्रयास किया तो खींचातानी शुरू हो गई। देख लेने की धमकियां भी दी गई।

-मामले में पुलिस के सख्त हो जाने से नेताओं को बैकफुट पर आना पड़ा।

अरेस्ट तो कर लिया, ले कैसे जाएं

एडीएम, उपजिलाधिकारी अर्पित गुप्ता, एसपी यमुनापार दीपेन्द्र नाथ चौधरी व सीओ करछना रत्नेश सिंह समेत सैकड़ों पुलिसकर्मी मौके पर मौजूद रहे। दोनों तरफ से काफी खींचातानी के बाद अंतत: एसपी यमुनापार के समझाने पर सांसद और विधायक गिरफ्तारी देने पर राजी हुए। गिरफ्तारी देते हुए विधायक जाकर पीएसी की बस में बैठ गए। यह देख सपा कार्यकर्ताओं ने बस की हवा निकाल दी और सभी को जेल जाने की जिद पर अड़ गए। ऐसे में अधिकारियों के सामने अजीब सी स्थिति उत्पन्न हो गई। वे एक बार फिर नेताओं की शरण में पहुंचे। इसके बाद विधायक को छोड़ने की घोषणा हुई तो सांसद व विधायक ने रामपुर चौराहे के पास सभा को संबोधित कर सांकेतिक गिरफ्तारी दी।

बैरिकेडिंग से लग गया जाम

इस हंगामे के दौरान पुलिस की बैरिकेडिंग से राहगीरों को काफी असुविधा का सामना करना पड़ा। उन्हें मीलों पैदल चलने को विवश होना पड़ा। हंगामा व प्रदर्शन के दौरान ब्लॉक प्रमुख करछना विजयराज सिंह, चाका प्रमुख प्रतिनिधि राजकुमार यादव, रंगबहादुर पाण्डेय, सनील अहमद समेत सपा कार्यकर्ता व समर्थक मौजूद रहे।

इन इलाकों को होगी सहूलियत

यमुनापार के कोरांव, बड़ोखर, लेडि़यारी, खीरी, कोहड़ार, लालतारा के साथ ही मीरजापुर के लालगंज, हलिया क्षेत्र के लोगों तथा मध्य प्रदेश के सीधी, हनुमना, ड्रमंडगंज आदि इलाके लोग भी इस मार्ग से जुड़ सकेंगे।

करछना आरओबी का निर्माण अब करीब-करीब पूरा हो चुका है। जल्द ही इसका उद्घाटन होना है। रेलवे द्वारा अभी उद्घाटन की तिथि निर्धारित नहीं की गई है। नवंबर में प्रधानमंत्री के इलाहाबाद आगमन पर ही सभी विकास कार्यो के शुभारंभ की तैयारी की गई है।

-सुनील कुमार गुप्ता

पीआरओ इलाहाबाद मंडल

सुरक्षा की दुष्टि से पुलिस बल तैनात किया गया था। किसी प्रकार का कोई लॉ एंड ऑर्डर नहीं बिगड़ा, कुछ लोगो की गिरफ्तारी के बाद उन्हें छोड़ दिया गया।

-दीपेन्द्र नाथ चौधरी,

एसपी यमुनापार

ख्0क्म्

से हो रहा है दिल्ली-हावड़ा रूट पर स्थित करछना आरओबी का निर्माण

ख्0क्7

दिसंबर तक करछना आरओबी का 80 प्रतिशत निर्माण हो गया था पूरा

ख्0

प्रतिशत वर्क पूरा होने में आठ से नौ महीने का समय लगा

फ्8

करोड़ रुपए की लागत से हुआ है करछना आरओबी का निर्माण

7ख्8

मीटर लंबा बनाया गया है करछना आरओबी

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.