घाटों पर दीप सजे, गंगाजल में उतरे सितारे

Updated Date: Tue, 15 Nov 2016 07:40 AM (IST)

चीफ जस्टिस दिलीप बाबा साहब भोसले ने दीप प्रज्जवलित कर किया देव दीपावली का शुभारंभ

जिला प्रशासन के आयोजन में संगम नोज पर जुटे थे कई स्वयं सेवी संगठन, पब्लिक भी जुटी

ALLAHABAD: काशी की तर्ज पर गंगा, यमुना व सरस्वती का अदृश्य पावन तट सोमवार को जगमगा उठा। कार्तिक पूर्णिमा के अवसर पर आयोजित देव दीपावली उत्सव में जिले के आला प्रशासनिक अधिकारी, न्यायमूर्तिगण, संत-महात्मा व बड़े-बजुर्गो से लेकर छोटे-छोटे बच्चों ने उल्लास के माहौल में न केवल सामूहिक सहभागिता की बल्कि देशहित में दीपदान, स्वच्छता व मतदाता जागरुकता की शपथ लेकर महोत्सव में चार चांद लगा दिया।

संगम नोज पर समारोह के मुख्य अतिथि इलाहाबाद हाईकोर्ट के चीफ जस्टिस दिलीप बाबा साहब भोसले ने जस्टिस तरुण अग्रवाल, जस्टिस कृष्ण मुरारी, जस्टिस दिलीप गुप्ता, जस्टिस सत्यव्रत मेहरोत्रा व जस्टिस विजय लक्ष्मी, अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेन्द्र गिरि, जिलाधिकारी संजय कुमार व एनसीआर के जीएम अरुण सक्सेना के संग दीप प्रज्जवलित कर महोत्सव का शुभारंभ किया। संगम की स्वर लहरियों के बीच रखे गए 11 तख्तों पर मां गंगा की महाआरती की पूजन सामग्री के साथ आरती उतारी गई। विशिष्टजनों की मौजूदगी में 200 बटुकों ने वैदिक मंत्रोच्चार व शंखध्वनि की। असंख्य दीपों की जगमगाहट के बीच मां गंगा की महाआरती की गई।

संगम नोज पर एकजुट होकर आरती का विहंगम नजारा देखने वालों ने उस प्रफुल्लित कर देने वाले दृश्यों को अपने कैमरे में कैद किया। उपस्थित जनसमूह ने गंगा मइया व यमुना मइया का जयकारा लगाकर दीपदान में सहभागिता की। संचालन डॉ। रंजना त्रिपाठी ने किया। इस मौके पर मेजर जनरल असीम कोहली, महाधिवक्ता विजय बहादुर सिंह, अपर महाधिवक्ता सीबी यादव व इमरान उल्ला, राज्यमंत्री इन्दु प्रकाश मिश्र, जिला अधिवक्ता संघ के पूर्व अध्यक्ष विनोद चंद दुबे सहित पुलिस प्रशासन के अधिकारी मौजूद रहे।

गंगा तेरा पानी अमृत

संगम नोज पर देव दीपावली के अवसर पर आयोजित सांस्कृतिक संध्या ने शहरियों को झूमने पर विवश कर दिया। संध्या का शुभारंभ भजन गायक मनोज गुप्ता ने 'विनती सुनिए हनुमान लला' से किया। उन्होंने 'गंगा तेरा पानी अमृत, झर-झर बहता जाए'। 'मेरा आपकी कृपा से सब काम हो रहा है', 'जैसे सूरज की गर्मी से जलते हुए तन को मिल जाए तरुवर की छाया' व 'गंगा ओ गंगा तू कितनी निर्मल' जैसे भक्ति गीतों की मनमोहक प्रस्तुति की। इसके बाद ज्योति अग्रवाल की 'मानो तो मैं गंगा मां हूं, ना मानो तो बहता पानी' प्रस्तुति पर खूब तालियां बजी। सर्वधर्म समभाव की भावना को समर्पित शबद-कीर्तन भाई अमरजीत सिंह, हरप्रीत सिंह व दिलप्रीत सिंह ने सुनाया। सतगुरु, कीर्तन 'नानक प्रगटिया, मिटे धुंध चारण होआ' ने तालियां बटोरी। रमा देवी बालिका इंटर कॉलेज की छात्राओं ने स्वागत गीत 'मन पावन चरण भूमि पर, स्वागत्म, स्वागत्म' की मधुर प्रस्तुति की। अगले ही पल ज्योति अग्रवाल ने शिव स्तुति पर कथक नृत्य की मंत्रमुग्ध कर देने वाली प्रस्तुति की।

स्वच्छता की शपथ

मैं शपथ लेता हूं कि गंगा मेरी मां हैं। इसको पवित्र रखना हमारा धर्म है। गंगा में पॉलीथीन, कूड़ा-करकट, फूलमाला, मूर्तियां व शव इत्यादि नहीं डालेंगे और न ही किसी को गंदगी डालने देंगे। अपने जीवित रहते मां गंगा की मर्यादा को कभी खंडित नहीं करेंगे। अपने घरों में शौचालय का निर्माण स्वयं करेंगे। खाने से पहले और शौच करने के बाद हाथ-मुंह जरुर धुलेंगे। निस्वार्थ भाव से राष्ट्र निर्माण में मदद करुंगा।

संजय कुमार, जिलाधिकारी

मतदाता जागरुकता की शपथ

मैं शपथ लेता हूं कि हम नागरिक लोकतंत्र में पूर्ण आस्था रखते हैं। देश की लोकतांत्रिक मर्यादा को हमेशा बनाए रखेंगे। शांतिपूर्व निर्वाचन की गरिमा को अक्षुण्ण रखेंगे। किसी भी प्रलोभन से प्रभावित हुए बिना अपने निर्वाचन का प्रयोग करेंगे और दूसरों को भी प्रेरित करने का काम करेंगे।

संजय कुमार, जिलाधिकारी

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.