विद्यार्थियों ने की सीटों की सफाई, फिर शुरू हुई पढ़ाई

Updated Date: Thu, 26 Nov 2020 12:02 PM (IST)

-बरेली कॉलेज में कक्षाएं शुरू होने के दूसरे दिन भी पटरी पर नहीं आई व्यवस्था

बरेली : बरेली कॉलेज में नए सत्र की स्नातक कक्षाओं के दूसरे दिन बुधवार को भी व्यवस्थाएं पटरी पर नहीं दिखीं। काफी छात्र-छात्राएं समय से कॉलेज पहुंच गए। लेकिन पढ़ाई से पहले उन्हें अपने क्लास रूम में गंदी धूल भरी सीटों को साफ करना पड़ा। उसके बाद क्लास शुरू हो पाई। कुछ कक्षाओं में शिक्षक न होने से छात्र वापस लौट गए।

यूजी की शुरू होनी थी क्लास

बरेली कॉलेज की ओर से तय शेड्यूल के मुताबिक यूजी (बीए) प्रथम वर्ष की कक्षाएं शुरू होने के लिए वेडनसडे और थर्सडे का दिन तय है। सुबह 9.20 मिनट पर कमरा नंबर सात के बाहर बीए प्रथम व द्वितीय वर्ष जनरल इंग्लिश के कुछ छात्र-छात्राएं पहुंचे। वहां शिक्षक गजेंद्र दत्त शर्मा खड़े थे। कमरा खोला तो दंग रह गए। मेज और सीटें धूल से भरी थीं। बैठना मजबूरी थी तो छात्र-छात्राओं ने खुद ही सीटें साफ कीं। जिसके बाद क्लास शुरू हुई। बाकी कमरों में सन्नाटा पसरा रहा। बहुत से अभिभावक अपने बेटा-बेटी को लेकर पहले दिन की वजह से कॉलेज छोड़ने पहुंचे। लेकिन क्लास न मिलने को लेकर इधर-उधर दौड़ लगाते रहे।

चॉक डस्टर बिना पढ़ाने पहुंचे गुरुजी

बरेली कॉलेज अर्थशास्त्र की क्लास सुह 10 बजे कमरा नंबर 11 में शुरू होनी थी। शिक्षक पहले से मौजूद थे। सीटें धूल से भरी थीं। बीए प्रथम वर्ष का एक छात्र पहुंचा तो सीट साफ करके बैठा। फिर शिक्षक को याद आई कि चॉक और डस्टर नहीं है। छात्र से बोले,'बोले जाओ विभाग से चाक-डस्टर लेकर आओ'। तब तक 15 मिनट बीत चुके थे। छात्र भागता हुआ चॉक लेकर आया। फिर क्लास शुरू हुई।

कहीं सन्नाटा तो कहीं मैदान में क्लास

बीए प्रथम वर्ष सेक्शन ए-3 ¨हदी की क्लास सुबह 10 बजे से कमरा नंबर 56 में शुरू होनी थी। लेकिन 10.27 मिनट तक शिक्षक नहीं थे। दो छात्र आए और खाली क्लास देख वापस लौट गए। पास में ही एमए प्रथम वर्ष के शिक्षक डॉ। एसके मेहरोत्रा क्लास विभाग के बाहर क्लास ले रहे थे।

थर्मल स्क्री¨नग में लापरवाही

बरेली कॉलेज में कोविड-19 की गाइड लाइन के अनुसार दूसरे दिन गेट नंबर एक पर सैनिटाइजर की व्यवस्था कर दी गई। लेकिन थर्मल स्क्री¨नग में लापरवाही दिखी। सुबह 9.50 तक विद्यार्थियों को बिना चेक किए ही एंट्री दी गई।

कोट

कक्षाओं में साफ-सफाई तो कराई गई थी। अगर किसी जगह गंदगी है तो उसके साफ कराया जाएगा। कक्षाएं समय से लगे, इसके लिए भी शिक्षकों से कहा गया है।

डॉ। अनुराग मोहन, कार्यवाहक प्राचार्य, बरेली कॉलेज

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.