फिजिक्स के सवालों में उलझे, बायोलॉजी में आसानी

Updated Date: Mon, 07 May 2018 07:00 AM (IST)

-फिजिक्स का पेपर कठिन आने से स्टूडेंट ने छोड़े कई प्रश्न

-14 सेंटर्स पर कड़ी सुरक्षा में कराई गई नीट परीक्षा

BAREILLY:

मेडिकल अंडर ग्रेजुएट कोर्सेस में एडमिशन के लिए सीबीएसई (सेंटर बोर्ड सेकेंडरी एजूकेशन) की ओर से आयोजित नेशनल इलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस टेस्ट (नीट) शहर में कड़ी सुरक्षा के बीच हुई। शहर में बनाए गए 14 केन्द्रों पर हुई परीक्षा में बरेली से 8786 स्टूडेंट रजिस्टर्ड थे, जिसमें --- स्टूडेंट ने परीक्षा छोड़ दी। सुरक्षा के लिहाज से सभी परीक्षा केन्द्रों पर जैमर लगा दिए गए जिससे केन्द्र पर किसी भी डिवाइस का प्रयोग न किया जा सके। परीक्षा से पहले सेंटर पर स्टूडेंट्स से जूते मोजे, डेनिम शर्ट, छात्राओं की कान की बालियां, हाथ से कलावा भी निकालवा दिया। हालांकि सीबीएसई बोर्ड की तरफ से पहले ही परीक्षा के सभी दिशा निर्देश जारी कर दिए थे। हर परीक्षा केन्द्र पर भारी पुलिस बल भी तैनात रहा। परीक्षा केन्द्रों पर 100 मीटर की परिधि में धारा 144 लागू रही।

फिजिक्स ने रुलाया

नेशनल इलिजिबिलिटी कम एंट्रेंस एग्जाम में फिजिक्स के क्वेश्चन ने स्टूडेंट्स को खूब रुलाया। स्टूडेंट्स का कहना है कि पिछले साल के मुकाबले इस बार फिजिक्स का पेपर कठिन रहा। क्वेश्चन नंबर 124 से 131 तक के क्वेश्चन सबसे कठिन रहे। वहीं बॉयोलाजी का पेपर सरल आने से स्टूडेंट को राहत मिली।

जैमर के कारण नहीं चला फोन

बिशप कोनराड परीक्षा केन्द्र पर एग्जाम के दौरान एक छात्रा की तबीयत अचानक खराब हो गई। केन्द्र के बाहर परिजनों को तलाशने के लिए फोन लगाया गया मगर जैमर लगा होने के कारण फोन नहीं लगा। हालांकि प्राथमिक उपचार के बाद छात्रा की तबीयत में सुधार होने के बाद घर भेज दिया गया।

ये रहे परीक्षा केन्द्र

अल्मा मातेर, आर्मी स्कूल, बीबीएल, बिशप कोनराड, डीपीएस, जिंगल बेल्स, केवी एयरफोर्स, केवी एनईआर, केवी जेआरसी, माधव राव सिंधिया, पद्मावती एकेडमी, सेक्रेड हा‌र्ट्स, जीआरएम, वुडरो स्कूल को परीक्षा केन्द्र बनाया गया।

----------------------

पहली बार नीट परीक्षा दी है। फिजिक्स का पेपर सबसे कठिन रहा। कई प्रश्न तो सिर के ऊपर से ही निकल गए।

मुनीश

फिजिक्स के मुकाबले बॉयोलाजी का पेपर सरल आने से राहत मिली। सुबह तलाशी के दौरान हाथ से कलावा भी उतरवा दिया गया।

विशाल कश्यप

परीक्षा की जिस तरह से तैयारी की थी, पेपर कठिन रहा। अब रिजल्ट के बाद ही पता चलेगा। सुरक्षा के लिहाज से कान की बालियां भी निकला दी गई थीं।

प्रतिभा पाल

केन्द्र पर डेनिम शर्ट के कारण परेशानी हुई। अधिकारियों ने सुरक्षा के लिहाज से शर्ट निकलवा दी थी।

भनी गुप्ता

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.