गोरखपुर में एक और लेडी गैंगेस्टर

Updated Date: Sun, 17 Jan 2021 09:40 AM (IST)

-गीता तिवारी के बाद खुली रिंकी गोस्वामी की हिस्ट्रीशीट

-जिले में पशु तस्करों के गैंग का करती हैं संचालन

GORAKHPUR: कभी जिले में पुरुष बदमाशों की दहशत का सिक्का चलता था। लेकिन अब महिलाएं भी गैंग की कमान संभालने लगी है। तिवारीपुर एरिया के सूर्य विहार की गीता तिवारी के बाद गगहा, कहला की लेडी गैंगेस्टर रिंकी गोस्वामी की हिस्ट्रीशीट पुलिस ने खोली है। पशु तस्करी का गैंग चलाने वाली रिंकी को एरिया में लोग लेडी डान कहते हैं। उसकी ठसक से पुलिस वाले भी कांप उठते हैं। जेल के एक बंदी रक्षक की फोर व्हीलर यूज करने वाली रिंकी पर एक्शन की हिम्मत थानेदार नहीं जुटा पाते थे।

एसएसपी ने बताया कि रिंकी के गैंग के खिलाफ कार्रवाई जारी है। उसकी हिस्ट्रीशीट खोली गई है। पेशेवर अपराधों में शामिल अन्य महिलाओं के खिलाफ कार्रवाई होगी।

पशु तस्करी में तीन साल से एक्िटव रिंकी

गगहा एरिया के कहला की रहने वाली रिंकी गोस्वामी के खिलाफ 2017 से मुकदमे दर्ज हैं। उसके खिलाफ पुलिस डायरी में मर्डर की कोशिश, साजिश रचने, पशु क्रूरता अधिनियमों की तहत करीब आधा दर्जन केसेज हैं। आरोप है कि रिंकी गोस्वामी उर्फ रिंकू पशु तस्करों के साथ मिलकर गैंग का संचालन करती है। 2017 में उसने कौड़ीराम में तैनात दरोगा पर हमला जानलेवा हमला किया था। पुलिस का कहना है कि रिंकी पति विदेश में रहकर कमाते हैं। बिहार के रहने वाले तस्कर अजय यादव से संपर्क में आकर वह पशु तस्करों की सरगना बन गई। जेल में तैनात एक बंदी रक्षक की कार से चलने वाली रिंकी से उलझने में पुलिस कर्मचारी बचते थे। कार्रवाई करने पर उसने गगहा के एक कांस्टेबल को सस्पेंड कराने की धमकी भी दी थी।

घर में गोली चलने पर पकड़ी गई थी गीता

देवरिया जेल में बंद सूर्य विहार, तिवारीपुर की रहने वाली गीता तिवारी की हिस्ट्रीशीट भी खुली है। उसके खिलाफ आधा दर्जन गंभीर मुकदमे दर्ज हैं। दो नंवबर को गीता तिवारी के घर में उसके नातिन की बर्थडे पार्टी में गोली चलने से दो लोग घायल हो गए थे। पुलिस की जांच में सामने आया कि गीता के घर कई शातिर बदमाश दावत खाने पहुंचे थे। लूट, मर्डर और मर्डर की कोशिश सहित कई मामलों में जेल जा चुके बदमाशों संग उसका जुड़ाव मिलने पर पुलिस ने कार्रवाई की। गैंगेस्टर को अरेस्ट करके पुलिस ने जेल भेज दिया। गोरखपुर जेल में उसने दबंगई दिखाने की कोशिश की तो उसे देवरिया शिफ्ट कर दिया गया।

टाप 10 में शामिल गोरखपुर, 68 पर हुई कार्रवाई

यूपी के 75 जिलों में गैंगेस्टर पर कार्रवाई और उनकी प्रापर्टी जब्त कराने के मामले में गोरखपुर पुलिस को टाप 10 में शामिल किया गया है। डीजीपी हेड क्वार्टर से जारी लिस्ट में गोरखपुर छठवें नंबर पर हैं। गोरखपुर में 2020 में कुल 68 गैंगेस्टर के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 38 करोड़ 20 लाख 80 हजार रुपए की प्रापर्टी पुलिस ने जब्त कराई है। 14 बदमाशों की प्रापर्टी जब्ती की रिपोर्ट डीएम को भेजी गई है।

वर्जन

रिंकी के खिलाफ गगहा थाना में मुकदमे दर्ज हैं। उसकी हिस्ट्रीशीट खोलकर कार्रवाई की जा रही है। पशु तस्करी से जुड़े गैंग के अन्य सदस्यों के खिलाफ भी एक्शन जारी रहेगा। यदि किसी पुलिस कर्मचारी मिलीभगत मिली तो उसे भी दायरे में लाया जाएगा।

जोगेंद्र कुमार, एसएसपी

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.