तो पोस्टर से पट जाएंगे चौराहे

Updated Date: Sat, 26 Sep 2020 09:48 AM (IST)

- रेप, छेड़छाड़ के मामलों को कार्रवाई के लिए नए निर्देश

- औसतन रोज एक मामला आता सामने, पुलिस करती कार्रवाई

GORAKHPUR: प्रदेश में महिलाओं के साथ होने वाले सेक्सुअल हैरेसमेंट की घटनाएं रोकने के लिए सीएम ने डीजीपी को एंटी रोमियो दस्ते को मजबूत बनाने और ऑपरेशन दुराचारी का अभियान चलाने का निर्देश दिया है। सीएम योगी ने कहा है कि महिलाओं, लड़कियों और बच्चियों से दु‌र्व्यवहार, क्राइम और सेक्सुअल हैरेसमेंट करने वाले अपराधियों के चौराहों पर पोस्टर लगाए जाएं। महिलाओं के साथ होने वाले क्राइम पर संबंधित सीओ, एसएचओ, एसओ, बीट इंचार्ज, चौकी इंचार्ज और बीट कांस्टेबल की जिम्मेदारी तय होगी। सीएम के निर्देश ठीक से अमल हुआ को जिले के चौराहे ऐसे दुराचारियों के पोस्टरों से पट जाएंगे। जिले में औसतन रोजाना रेप, छेड़छाड़ और किडनैपिंग के आरोपित की गिरफ्तारी होती है। हालांकि यह योजना कब से लागू होगी। इस बात की जानकारी पुलिस अधिकारी नहीं दे पा रहे हैं। बता दें कि सीएए प्रोटेस्ट के दौरान बवाल काटने वालों की तलाश में सिटी के भीतर पोस्टर लगाए गए थे।

10 दिनों में 14 अरेस्ट, किडनैपिंग-रेप के आरोप

जिले में औसतन रोजाना एक आरोपित की गिरफ्तारी रेप, छेड़छाड़, अपहरण और मारपीट के मामले में होती है। पिछले 10 दिनों के रिकार्ड के अनुसार विभिन्न थानों की पुलिस ने 14 आरोपियों को अरेस्ट किया। उनके खिलाफ पहले से केस दर्ज कराए गए थे। इसके अलावा नई घटनाएं भी सामने आती है। तमाम मामलों को जहां लोकलाज और पारिवारिक मजबूरी के कारण पीडि़त दबा देते हैं। वहीं मुकदमे दर्ज होने के बाद पुलिस कार्रवाई कर पाती है। हाल के दिनों में रेप, छेड़छाड़ और किशोरियों की किडनैपिंग की घटनाओं में आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई में तेजी आई है। ऐसे मामलों में आरोपियों के पोस्टर चौराहों पर चस्पा करने के निर्देश सीएम ने दिए हैं। कहा जा रहा है कि इससे सेक्सुअल हैरेसमेंट करने वालों की पहचान सामने आएगी। लोग उनसे सतर्क रहेंगे। इसके अलावा समाज में उनका बहिष्कार हो सकेगा।

यह जारी हुए हैं निर्देश

- महिलाओं और बच्चियों संग क्राइम तत्काल रजिस्टर्ड किए जाएं। अभियुक्तों की गिरफ्तारी हो।

- संवेदनशील स्थानों पर महिला पुलिस कर्मचारियों के साथ निरंतर गश्त हो। पब्लिक प्लेस पर सीसीटीवी कैमरे लगवाएं जाएं।

- एसएचओ, एसओ और चौकी प्रभारी अपनी टीम के साथ स्थान- स्थान बदलकर पैदल गश्त करें।

- बालिका विद्यालयों में शिकायत पेटिकाएं लगवाई जाएं। थानों पर महिला डेस्क और महिला संतरी की नियुक्ति की जाए।

- एसएसपी, एसपी ऑफिस में महिला सहायता केंद्र बनें, रात में यूपी 112 की गाडि़यों से महिलाओं को उनके स्थान तक सुरक्षित पहुंचाने के लिए सुरक्षा कवच योजना का पालन किया जाए।

वर्ष रेप अपहरण दहेज हत्या

2020 50 144 30

2019 53 239 25

2018 112 387 29

नोट: यह आकड़ा अगस्त माह तक है

10 दिनों में हुई कुल गिरफ्तारियां

25 सितंबर 2020: बड़हलगंज एरिया में 10 साल की बच्ची संग रेप की कोशिश के आरोप में अधेड़ अरेस्ट

24 सितंबर 2020: गगहा एरिया में किशोरी से छेड़छाड़, मारपीट का आरोपित अरेस्ट

23 सितंबर 2020: खोराबार एरिया में रेप, अपहरण का आरोपित गिरफ्तार

22 सितंबर 2020: गुलरिहा एरिया में किशोरी का अपहरण करके रेप के मामले में अभियुक्त जेल भेजा गया।

22 सितंबर 2020: पिपराइच एरिया में मारपीट ओर छेड़छाड़ में युवक पकड़ा गया।

22 सितंबर 2020: कोतवाली एरिया में किशोरी का अपहरण के युवक अरेस्ट

21 सितंबर 2020: खजनी एरिया में नाबालिग का अपहरण, रेप का आरोपित अरेस्ट

19 सितंबर 2020: शाहपुर में किशोरी को किडनैप करके उसके साथ रेप के मामले में अभियुक्त अरेस्ट

19 सितंबर 2020: किशोरी से छेड़छाड़, विरोध करने पर मारपीट में पुलिस ने युवक को पकड़ा।

17 सितंबर 2020: सहजनवां में छेड़खानी का आरोपित पकड़ा गया, पुलिस ने जेल भेजा।

16 सितंबर 2020: गीडा एरिया में किशोरी से छेड़छाड़ आरोपित को पुलिस ने दबोचा।

16 सितंबर 2020: हरपुर बुदहट में नाबालिग का अपहरण, रेप का आरोपित पकड़ा गया।

16 सितंबर 2020: झंगहा एरिया में पुलिस ने रेप और अपहरण में आरोपित को दबोचा।

महिलाओं की मदद के लिए हेल्पलाइन नंबर

- डॉयल 112 के नंबर पर काल करने से पीडि़त की सूचना, लोकेशन दोनों पुलिस को मिल जाती है।

- इमरजेंसी रिस्पॉन्स सपोर्ट सिस्टम एप की मदद भी ली जा सकती है। इस सिस्टम को पैनिक बटन भी कहते हैं। सभी मोबाइल फोन में इसको अनिवार्य रूप से लोड किया जाना चाहिए। गूगल प्ले स्टोर से इसे डाउनलोड कर इमरजेंसी में मदद ली जा सकती है।

- महिला हेल्प लाइन नंबर 1090 पर भी कॉल किया जा सकता है। छेड़छाड़, पीछा करने सहित अन्य वीमेन पॉवर लाइन नंबर 1090 की मदद ली जा सकती है।

- लोकल पुलिस स्टेशन, महिला थाना प्रभारी और अन्य पुलिस अधिकारियों के मोबाइल नंबर पर भी कॉल करके हेल्प ली जा सकती है।

शहर में काम कर रही एंटी रोमियो स्क्वॉयड

महिलाओं के साथ होने वाली छेड़छाड़ सहित अन्य घटनाओं को रोकने के लिए शहर में एंटी रोमियो स्क्वॉयड की तैनाती गई है। एक दारोगा, दो महिला और दो पुरुष कांस्टेबल हैं। वर्ष 2019 में पूरे साल चले अभियान में एंटी रोमियो स्क्वॉयड ने ग‌र्ल्स कॉलेज, कोचिंग सेंटर के आसपास घूमते मिले 19939 लोगों को चेतावनी देते हुए सफेद कार्ड जारी किया था। ब्लैक स्पॉट पर कई बार पकड़े गए 130 शोहदों को लाल कार्ड थमाया। पुलिस ने परिजनों को बुलाकर सभी की काउंसिलिंग भी कराई।

यहां चिन्हित किए गए इतने ब्लैक स्पॉट

कोतवाली-छह, कैंट-12, खोराबार-पांच, रामगढ़ताल-छह, तिवारीपुर-सात, राजघाट-आठ, शाहपुर-आठ, गोरखनाथ-पांच, गगहा-तीन, उरुवां-दो, गोला-चार, सिकरीगंज-पांच, बेलघाट-पांच, बांसगांव-तीन, खजनी-तीन, बड़हलगंज-चार, बेलीपार-पांच, हरपुर-बुदहट-पांच, सहजनवां-दो, चौरीचौरा-छह, गुलरिहा-पांच, पीपीगंज-तीन, गीडा-चार, कैंपियरगंज-चार, चिलुआताल-पांच, पिपराइच-पांच, झंगहा-चार

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.