झंगहा एरिया में कमाने की बात कहकर घर से निकले दो किशोरों की बॉडी ईंट भ_े के गड्ढे में मिली. मंगलवार दोपहर कुत्तों के मिट्टी खोदने पर दुर्गंध हुई तो लोगों ने करीब जाकर देखा. मर्डर करके बॉडी दफनाने की सूचना से पूरे एरिया में सनसनी फैल गई. पुलिस ने मिट्टी खुदवाकर किशोरों की बॉडी निकलवाई. दोनों के हाथ और पैर बंधे थे. सिर सहित बदन के अन्य हिस्सों पर गंभीर चोट के निशान थे. दोनों किशोरों का मर्डर किसने और क्यों किया है. पुलिस इसकी तहकीकात में जुटी है.


गोरखपुर (ब्यूरो): परिजनों ने किसी से दुश्मनी होने से इंकार किया। जबकि लोगों ने प्रेम संबंधों में मर्डर की आशंका जताई। घटना की सूचना पर डीआईजी जे। रविंद्र गौड़, एसएसपी डॉ। विपिन ताडा, एसपी नार्थ मनोज कुमार अवस्थी सहित अन्य पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। पुलिस अधिकारियों का कहना है कि जल्द ही घटना का पर्दाफाश कर लिया जाएगा। घर से कमाने की बात कहकर निकले दोस्त


झंगहा के नौवाबारी पलिपा निवासी साहब जायसवाल का बेटा आकाश (17) और जितेंद्र का बेटा गणेश (16) दोस्त थे। सात जनवरी को दोनों अबूझ हाल में लापता हो गए। गणेश के पिता जितेंद्र ने इसकी सूचना पुलिस को दी। पुलिस उनकी तलाश में गंभीरता दिखाती। इसके पहले 10 जनवरी को दोनों दिन में लौट आए। रात में आठ बजे बाहर कमाने जाने की बात कहकर घर से निकल गए। गणेश ने अपनी बहन नेहा से कमाने की बात कही थी। उनके बाहर जाने की वजह से परिजन भी निश्चिंत हो गए। सबको लगा कि दोनों कमाने गए हैं। हाथ नजर आने पर लोगों ने मचाया शोर

मंगलवार दोपहर गांव से करीब 600 मीटर दूरी पर ईंट भट्ठे के गड््ढे में कुत्ते मिट्टी खोद रहे थे। उस जगह से बदबू उठ रही थी। कुछ लोगों ने करीब जाकर देखा तो एक बांह निकली नजर आई। लोग शोर मचाते हुए गांव में पहुंचे। कुछ ही देर में वहां भीड़ जमा हो गई। लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने जब मिट्टी निकलवाई तो बॉडी देखकर लोग सकते में आ गए। दोनों की पहचान आकाश और गणेश के रूप में हुई। दोनों के हाथ पैर-बंधे थे। आकाश के मुंह पर टेप चिपका था। दोनों के सिर में पीछे की ओर चोट के निशान थे। उनकी बॉडी के पास ही एक मोबाइल फोन भी मिला। गणेश के परिजनों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने बेटे को मोबाइल नहीं दिया था। किसने किया मर्डर, सवालों में उलझा मामला

बॉडी मिलने के बाद परिजनों में कोहराम मच गया। दोनों का मर्डर किसने और क्यों किया है। इस बात की चर्चा पूरे एरिया में शुरू हो गई। आकाश तीन भाई दो बहनों में सबसे बड़ा था। उसके पिता खेती करते हैं। खर्च चलाने के लिए वह मजदूरी करता था। गणेश भी तीन भाइयों और एक बहन में दूसरे नंबर का था.15 साल पूर्व गणेश की मां का निधन हो गया। पिता जितेंद्र ने बच्चों को संभाल रहे हैं। उन्होंने दूसरी शादी नहीं की थी। बच्चों को पढ़ाने के लिए वह टेंपो चलाते हैं। 11वीं का स्टूडेंट गणेश पढऩे-लिखने में काफी होनहार था। दोस्तों की तलाश में जुटी पुलिस टीम परिजनों ने पुलिस को यह बताया कि दोनों अपने कुछ दोस्तों संग घर से बाहर गए थे। चार दोस्त उनको साथ लेकर गए। वह पहले गणेश के घर गए। फिर आकाश को बुलाया। तभी से दोनों लापता थे। आकाश और गणेश से जुड़े युवकों के जरिए पुलिस मामले की सच्चाई जानने की कोशिश में जुटी है। दोनों की हत्या आसपास एरिया में कहीं करके बॉडी को दफनाया गया है। घटनास्थल और उनका गांव नजदीक होने से यह साफ हो गया है कि वारदात में कोई आसपास के व्यक्ति शामिल हैं। दो किशोरों की बॉडी मिली है। पोस्टमार्टम से मौत की सही वजह सामने आ सकेगी। घटना की जांच की जा रही है। इस मामले में सख्त कार्रवाई की जाएगी। डॉ। विपिन ताडा, एसएसपी गोरखपुर

Posted By: Inextlive