फिजिक्स आउट, केमेस्ट्री में डाउट!

Updated Date: Mon, 24 Feb 2020 05:45 AM (IST)

- फिजिक्स और इंग्लिश का पेपर हो चुका है सोशल मीडिया पर वायरल

- कुशीनगर, मऊ और बलिया में सामने आई है लापरवाही

- आज 12वीं स्टूडेंट्स देंगे केमेस्ट्री का एग्जाम, अधिकारी भी हुए चौकन्ने

GORAKHPUR: यूपी बोर्ड एग्जाम इस बार तीसरी आंख की निगरानी में हो रहा है। नकल रोकने के लिए पहली बार बोर्ड ने इस तरह की पहल की है। इसके बाद भी फिजिक्स और इंग्लिश के पेपर आउट होने की सूचना ने बोर्ड एग्जाम में दाग लगा दिया है। कुशीनगर, मऊ और बलिया में ऐसे मामले सामने आए हैं। फिलहाल गोरखपुर में अभी तक ऐसी कोई दिक्कत सामने नहीं आई है लेकिन इसके बाद भी डीआईओएस ज्ञानेन्द्र प्रताप सिंह भदौरिया ने सोमवार को इंटर का केमेस्ट्री पेपर होने की वजह से ड्यूटी में लगे सभी अधिकारियों को अलर्ट मोड में रहने का निर्देश दिया है।

बीएसए से मांगे और टीचर्स

बोर्ड एग्जाम में इस बार बेसिक स्कूलों के टीचर्स की भी ड्यूटी लगाई गई है। जिस भी सेंटर पर कक्ष निरीक्षक की कमी थी, वहां के लिए बीएसए से और टीचर्स की मांग डीआईओएस ने की थी। बीएसए ने भी मांग के अनुरूप और टीचर्स भेज दिए हैं जिनकी ड्यूटी सोमवार से लगाई गई है।

कठिन सब्जेक्ट बढ़ा रहा दिक्कत

जिस दिन से कठिन सब्जेक्ट्स के एग्जाम शुरू हुए हैं, उस दिन ही पेपर आउट होने के मामले सामने आए हैं। सबसे पहले इंटर के फिजिक्स के पेपर के दिन बड़ी लापरवाही सामने आई। कुशीनगर, मऊ और बलिया में फिजिक्स का पेपर एग्जाम वाले दिन ही सोशल मीडिया पर तैरने लगा। इसके बाद अधिकारियों के हाथ-पांव फूल गए। मऊ में तो कई सेंटर्स पर एग्जाम भी रद कर दिए गए। इसी तरह हाई स्कूल के इंग्लिश के पेपर वाले दिन भी बलिया में लापरवाही सामने आई।

आज केमेस्ट्री में अधिकारियों का एग्जाम

सोमवार को सुबह की पाली में गुजराती, उर्दू, पंजाबी, बंगला, मराठी, आसामी, उडि़या, कन्नड़, कश्मीरी, सिंधी, तमिल, तेलुगु, मलयालम और नेपाली भाषा का एग्जाम है। इसलिए सुबह की पाली में अधिकारियों को अधिक मेहनत नहीं करनी पड़ेगी। लेकिन दूसरी शिफ्ट में हाई स्कूल का संगीत वादन और इंटरमीडिएट का नागरिक शास्त्र, अर्थशास्त्र तथा वाणिज्य भूगोल और केमेस्ट्री का एग्जाम है। इसमें से केमेस्ट्री का एग्जाम अधिकारियों के पसीने छुड़ाएगा।

सर्विलांस सेंटर पर छह और कंप्यूटर

डीआईओएस ज्ञानेन्द्र प्रताप सिंह भदौरिया ने बताया कि जूबिली इंटर कॉलेज में बने हाइटेक सर्विलांस सेंटर पर छह और कंप्यूटर लगाए गए हैं। सोमवार को इस पर भी काम होगा। इसके लिए ऑपरेटर भी बढ़ा दिए गए हैं।

91 स्कूल्स को भेजा लेटर

फिजिक्स के एग्जाम वाले दिन बार-बार स्कूल ऑफलाइन हो जा रहे थे। वहीं कई स्कूल तो देर तक ऑनलाइन ही नहीं हो पाए थे। ऐसे 91 स्कूलों को डीआईओएस ने लेटर भेजा था। डाटा खत्म हो जाने की वजह से ये दिक्कत आ रही थी। इसलिए डीआईओएस ने हर स्कूल को कम से कम 6-7 जीबी डाटा रखने का निर्देश दिया है जिससे बीच में नेट बंद ना होने पाए।

एग्जाम में लगाए गए मजिस्ट्रेट - 56

जोनल मजिस्ट्रेट - 9

सेक्टर और स्टेटिक मजिस्ट्रेट - 22

फ्लाइंग स्क्वॉयड टीम - 5

एग्जाम सेंटर - 197

वर्जन

हाइटेक सर्विलांस सेंटर पर कंप्यूटर और बढ़ा दिए गए हैं। केमेस्ट्री के पेपर में चौकसी बरती जाएगी। इसके लिए सारी तैयारी पूरी कर ली गई है।

ज्ञानेन्द्र प्रताप सिंह भदौरिया, डीआईओएस

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.