शादी या सौदेबाजी

Updated Date: Sun, 28 Feb 2021 12:38 PM (IST)

- राजस्थान और हरियाणा में शादी का झांसा देकर कर रही गड़बड़ी

- पिपराइच में सामने आया मामला, तहरीर पर पुलिस कर रही छानबीन

- शादी के बहाने युवतियों को बेचने वाले गैंग की महिलाएं है एक्टिव

GORAKHPUR: 22 फरवरी, 2021 शादी के नाम पर बेटी को बेचने का आरोप लगाते हुए एक महिला ने पुलिस को सूचना दी थी। पिपराइच की रहने वाली महिला ने पुलिस को बताया था कि रजही कैंप की एक महिला ने उनको गुमराह किया। बिना दान दहेज के शादी कराने का झांसा देते हुए उसकी बेटी का सौदा राजस्थान के युवकों संग कर दिया। इस मामले में शिकायत होने पर कुछ लोगों ने समझौते का प्रयास किया, मगर कार्रवाई नहीं हो सकी। यह तो ताजा मामला है, जिसमें पुलिस कार्रवाई नहीं कर पाई है। इससे पहले भी जिले में शादी के नाम पर गरीब परिवारों की बेटियों की सौदेबाजी के मामले सामने आए हैं, लेकिन पुलिस की जांच ढीली ही रही है। हर साल घटनाएं सामने आने के बाद भी इन मामलों में पुलिस सख्ती से कार्रवाई नहीं कर रही है। मुकदमा दर्ज करके पुलिस सिर्फ कार्रवाई का कोरम पूरा कर दिया जा रहा है। पिछले पांच साल के भीतर कोई बड़ा गैंग नहीं पकड़ा जा सका।

लॉक डाउन के बाद शादी का प्रयास

तरकुलहा मंदिर में इसी तरह की शादी को लेकर हंगामा होने पर पुलिस पहुंची थी। तब पुलिस ने चार महिलाओं को अरेस्ट किया। बाद में इस मामले में कोई अन्य कार्रवाई नहीं हो सकी। शादी के बहाने सौदेबाजी कराने वाली महिलाएं कुशीनगर, चौरीचौरा, झंगहा और पिपराइच एरिया में ज्यादा सक्रिय हैं। चौरीचौरा में एक्टिव शादी गैंग की महिलाओं ने वर्ष 2020 में लॉक डाउन खुलने के बाद तरकुलहा मंदिर में शादी कराने का प्रयास किया। हंगामा होने पर पुलिस ने महिलाओं को पकड़ लिया। चार के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज हुई थी। हालांकि बाद में यह मामला दब गया।

ऐसे बनाती हैं शिकार

- शादी कराने वाली गैंग की महिलाएं गरीब परिवार की बेटियों की तलाश करती हैं।

- राजस्थान और हरियाणा में फ्री शादी कराने के साथ रुपए दिलाने की बात करती हैं।

- सौदा तय होने पर राजस्थान से दूल्हा और अन्य लोगों को बुलाया जाता है।

- लग्जरी गाड़ी से आने वाले तथाकथित दूल्हे सहित चार-पांच लोग पहुंचते हैं।

- वह अपने साथ ज्वेलरी और कपड़े सहित अन्य सामान भी ले आते हैं।

- कम उम्र की लड़की संग शादी करने वाले दूल्हे कम से कम 35 से 40 साल के होते हैं।

- शादी कराने के बदले में गैंग की महिलाएं पैसे लेती हैं। फैमिली को भी दिया जाता है।

सामने आ चुके हैं ये मामले

16 जनवरी 2020 : शादी कराने का झांसा देकर बिचौलियों ने हरियाणा के युवकों से करीब 50 हजार रुपए की ठगी कर ली। व्ही पार्क में युवती से मिलवाने का झांसा देकर फरार हो गए।

07 जनवरी, 2019 : हरियाणा के दो युवकों को शादी का झांसा देकर शादी गैंग ने एक लाख रुपए की ठगी कर ली। हरियाणा, कैथूल के कलायत निवासी जगदीश और जोगिंदर को कुशीनगर की महिला ने झांसा देकर बुलाया। ठगी के शिकार युवकों ने गोरखनाथ मंदिर में पत्र देकर सीएम से कार्रवाई की गुहार लगाई। आरोपित नहीं पकड़े जा सके।

09 फरवरी, 2018 : हरियाणा के युवक को झांसा देकर बुढि़या माई मंदिर में शादी कराई। बेचने की जानकारी होने पर युवती ने शोर मचाया। मुकदमा दर्ज कराकर कार्रवाई की मांग उठाई।

06 फरवरी, 2016 : खोराबार एरिया के बुढि़या माई मंदिर में हरियाणा के युवक की शादी कराई गई। कुशीनगर की युवती को झांसा देकर गैंग ने बेच दिया था। युवती के शोर मचाने पर मामले का पर्दाफाश हुआ।

6 अगस्त, 2016 : हरियाणा के युवक की गोरखनाथ मंदिर में शादी कराई गई। होटल में युवती के बेचने की सूचना पुलिस ने पकड़ा। लेकिन बिना किसी जांच पड़ताल के आरोपी छूट गए थे।

08 जुलाई, 2015 : हाटा, परसौनी निवासी तीन महिलाओं सहित छह लोगों को पुलिस ने अरेस्ट किया। पकड़े गए लोगों ने एक किशोरी को बहला- फुसलाकर हरियाणा में बेच दिया था। इसके बदले में 50 हजार रुपये लिया था। छह माह बाद किसी तरह से भागकर किशोरी घर पहुंची तो उसने सारा भेद खोला।

25 जुलाई, 2015 : झंगहा एरिया के जंगल गौरी नंबर दो उर्फ अमहिया की एक युवती ने शादी के नाम पर बेचने का आरोप लगाया था। 21 जुलाई को हरियाणा से आए लोगों की मौजूदगी में तरकुलहा मंदिर में उसकी सगाई कराई गई। युवती को हरियाणा भेजने के नाम पर एक महिला ने 20 हजार रुपये लिए थे।

एक तरह से लड़कियों को बेचना ही है। अपने लाभ के लिए बिचौलियां बहला-फुसलाकर शादी कराई जाती है। गरीब परिवारों की मजबूरी का फायदा उठाया जाता है। इसमें यदि किसी की शादी किसी अच्छे युवक संग हो गई तो ठीक है, लेकिन ज्यादातर मामलों में ऐसा होता है कि अधिक उम्र के लड़कों से शादी कराई जाती है। बाद में ऐसी लड़कियों का शोषण और उत्पीड़न भी होता है, इसलिए ऐसे मामले सामने आने पर समुचित धाराओं में केस दर्ज करके कार्रवाई की जानी चाहिए।

धर्मेद्र मिश्रा, सीनियर एडवोकेट, दीवानी कचहरी

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.