प्रापर्टी डीलर पाल रहे शूटर

Updated Date: Sun, 01 Mar 2020 05:30 AM (IST)

-राकेश यादव के इशारे पर चलाते थे गोली

-प्रापर्टी के धंधे में निकालते रास्ते का कांटा

GORAKHPUR: शहर में प्रापर्टी के कारोबार को बढ़ाने के लिए लोग माफिया व शूटर्स का सहारा ले रहे हैं। प्रापर्टी के धंधे में रुकावट बनने वालों को निपटाने के लिए शूटर्स का इस्तेमाल हो रहा है। यह खुलासा क्राइम ब्रांच और गुलरिहा पुलिस की टीम ने चार शूटर को अरेस्ट कर किया है।

बताया कि गुलरिहा, झुंगिया निवासी छोटू प्रजापति को माफिया के इशारे पर गोली मारी गई थी। हमले में वह बच गया तो उसके करीबी अरुण निषाद की सुपारी दी गई। लेकिन इस बार शूटर की किस्मत दगा दे गई। सीओ क्राइम ने बताया कि माफिया राकेश यादव प्रापर्टी का कारोबार करता है। छोटू और अरुण उसके पैरलल खड़े होने की कोशिश करने लगे। राकेश के खिलाफ पिपराइच थाना में एफआईआर दर्ज हुई थी।

दो बार कराया हमला, हर बार बचा छोटू

झुंगिया निवासी माफिया राकेश यादव प्रापर्टी का कारोबार करता है। लूट, मर्डर, मर्डर की कोशिश, डकैती, बमबाजी सहित 41 से अधिक मुकदमें राकेश पर दर्ज है। पूर्व में छोटू प्रजापति और उसका दोस्त अरुण निषाद भी राकेश यादव के साथ काम करते थे। लेकिन बाद में दोनों ने अपना अलग रास्ता चुन लिया। खुद ही प्रापर्टी का काम शुरू कर दिया। इससे नाराज होकर राकेश यादव ने शूटर्स को सुपारी दे दी। मोबाइल को लेकर हुए विवाद में चिलुआताल थाना से लौट रहे छोटू पर गोली चलवाई। 4 अक्टूबर 2019 को हुए हमले में वह बाल-बाल बच गया। इसके बाद दोबारा 14 दिसंबर को मेडिकल कॉलेज के पास कार्यक्रम से लौटते समय छोटू पर गोली दागी गई।

दोस्त की सुपारी देकर फंस गया माफिया

शूटर के हमले में छोटू के बचने से नाराज माफिया राकेश का गुस्सा बढ़ता गया। इस बार उसने छोटू के अजीज दोस्त अरुण की सुपारी दे दी। शुक्रवार को गुलरिहा एरिया में पुलिस ने बदमाशों की घेराबंदी की। इस दौरान माफिया राकेश यादव, मंटू उर्फ आकाश, राजकुमार यादव और सन्नी दुबे फरार हो गए। जबकि, पुलिस ने व्यासनगर मोहल्ले के विपिन सिंह, अभिषेक सिंह, एल्मुनियम फैक्ट्री के अमित सिंह और जंगल छत्रधारी निवासी दिनेश यादव को अरेस्ट कर लिया। विपिन सिंह के खिलाफ शाहपुर और पिपराइच थानों में हत्या, हत्या के प्रयास, लूट के 10 मामले दजर्1 हैं।

प्रापर्टी के कारोबार में हुए हमले

16 मार्च 2019: सेंट एड्रंयूज डिग्री कॉलेज के पास प्रापर्टी डीलर के दफ्तर में घुसकर बदमाशों ने राइफल तानी, महादेव झारखंडी मोहल्ला निवासी सतीष श्रीवास्तव अपने परिचित राजन के आफिस में गए थे। तभी बदमाशों ने हमला किया।

25 नवंबर 2018: नार्मल टैक्सी स्टैंड के पास बाइक सवार बदमाशों ने प्रापर्टी डीलर राजघाट, पटवारी टोला निवासी मंगल तिवारी पर गोली दागी।

30 मई 2018: माफिया प्रदीप सिंह पर प्रापर्टी के मामले में होटल में बुलाकर धमकी देने का आरोप लगा। तत्कालीन एसएसपी शलभ माथुर ने गैंगेस्टर एक्ट में माफिया की प्रापर्टी जब्त कराने का निर्देश दिया।

08 अप्रैल 2018: चार फाटक ओवरब्रिज के पास मोहद्दीपुर निवासी प्रापर्टी कारोबारी संतोष को बदमाशों ने गोली मार दी। डेड बॉडी मिलने पर परिजनों को जानकारी हुई।

वर्जन

माफिया राकेश यादव के कहने पर शूटर ने छोटू पर गोली चलाई थी। छोटू के दोस्त अरुण पर भी हमले की योजना बनी थी। मामले की जानकारी होने पर कार्रवाई की गई। चार लोगों को अरेस्ट करके माफिया और उसके साथियों की तलाश की जा रही है। प्रापर्टी को लेकर इनके बीच में टशन चल रही थी।

प्रवीण कुमार, सीओ, क्राइम ब्रांच

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.