मर्डर से एक दिन पहले अरेस्ट, छूटते ही बिजनेसमैन को ठोका

Updated Date: Sat, 16 Jan 2021 11:40 AM (IST)

गुड्डू सेठ मर्डर में पुलिस ने अच्छेलाल को बेटों संग दबोचा

शूटर हॉयर करने वाले बिचौलियां सहित तीन बदमाशों की तलाश

GORAKHPUR: गगहा एरिया में ईट भट्ठा कारोबारी जयनारायण सेठ के मर्डर में साजिशकर्ता, महिला सहित छह लोगों को पुलिस ने अरेस्ट किया। पुलिस ने दावा किया जमीन विवाद में बदमाशों ने उनको गोली मारी। घटना में शूटर हॉयर करने वाले शातिर और दो शूटरों की तलाश जारी है। गिरफ्तार किए गए लोगों में झंगहा थाने का हिस्ट्रीशीटर अच्छेलाल और उसके दो बेटे शामिल हैं। पुलिस का कहना है कि अच्छेलाल ही मुख्य आरोपित है। गैंगेस्टर अच्छेलाल के पास से डबल बैरल बंदूक मिली। अन्य के पास से तमंचे और कारतूस, घटना में इस्तेमाल फोर व्हीलर भी बरामद हुई।

प्रेस कांफ्रेंस के दौरान एसपी साउथ ने बताया कि अच्छेलाल का महिला से मधुर संबंध था। उसने पहले महिला की जमीन का सौदा कराया। जयनारायण ने उसे दरकिनार कर जब महिला को पूरा पैसा दे दिया तब वह जयनारायण से कब्जा दिलाने के लिए 10 लाख रुपए मांगने लगा। हालांकि पुलिस की कहानी भी कई सवालों में उलझी हुई है। मर्डर के एक दिन पहले झंगहा पुलिस ने हिस्ट्रीशीटर को आ‌र्म्स के एक वारंट पर अरेस्ट किया था।

जमीन कब्जा को लेकर था विवाद

गगहा एरिया के मेंहदिया निवासी 50 वर्षीय जयनारायण शाह उर्फ गुड्डू सेठ गोला के कोपवा में ईट भट्ठा चलाते थे। सोमवार शाम करीब सात बजे वह डेमुसा में सड़क पर बाइक सहित गिरे पड़े थे। लोगों ने एक्सीडेंट समझकर परिजनों को सूचना दी। अस्पताल ले जाने पर मालूम हुआ कि उनको गोली मारी गई थी। इस मामले की छानबीन में सामने आया कि गुड्डू सेठ ने मनोरमा से जमीन खरीदी थी। महिला के अच्छे संबंध हिस्ट्रीशीटर अच्छेलाल संग है। अच्छेलाल ने सेठ से कहा कि महिला को रुपए देने के बजाय वह उसे ही दे दे। लेकिन सेठ ने उसे पैसे देने से मना करते हुए सीधे महिला को दे दिया। तब अच्छेलाल ने दबाव देकर 10 लाख रुपए मांगे। लेकिन सेठ ने कोई पैसा नहीं दिया। उधर रुपए लेने के बाद भी मनोरमा भूमि पर कब्जा नहीं करने दे रही थी। इसी बात को लेकर सेठ से उनका विवाद चल रहा था।

भाड़े के शूटरों से कराया मर्डर

पुलिस का कहना है कि सेठ से सीधे पैसे न मिलने पर अच्छेलाल ने मनोरमा संग मिलकर मर्डर की कहानी बनाई। अच्छेलाल ने महिला को बताया कि सेठ के मर्डर के बाद जमीन पर किसी का कब्जा नहीं हो पाएगा तो बाद में दोबारा बेचकर पैसे कमा लेंगे। अच्छेलाल को लगा कि भूमि भी बची रहेगी और मनोरमा संग रिश्ते भी चलते रहेंगे। एसपी साउथ का कहना है कि इसलिए अच्छेलाल ने किसी से संपर्क कर बिहार से शूटर हॉयर किया, जिन्होंने पीछा करके सेठ की हत्या कर दी। शूटर हायर करने वाले बिचौलियां और दो अन्य की तलाश की जा रही है। मर्डर में अच्छेलाल की फोरव्हीलर का इस्तेमाल किया गया। उसके नाम से नागालैंड के लाइसेंस खरीदी गई डबल बैरल बंदूक मिली।

ये हुए अरेस्ट

झंगहा के बौठा निवासी हिस्ट्रीशीटर अच्छेलाल यादव

गगहा के पांडेयपार निवासी अखिलेश यादव, सरदेंदु गुप्ता

बौठा के कुशल कुमार यादव, अजय कुमार यादव

गगहा के बलुआ बुजुर्ग निवासी मनोरमा देवी

दिन में कचहरी, शाम में दरोगा से मिला था

पुलिस ने अच्छेलाल मर्डर का पर्दाफाश भले कर दिया। लेकिन कई सवालों के जवाब देने में एसपी साउथ हिचकते रहे। बताया जाता है कि घटना के दिन अच्छेलाल की लोकेशन पहले कचहरी में थी। शाम में वह एक दरोगा से मिला था। प्रेस कांफ्रेंस में एसओ गगहा ने बताया कि अच्छेलाल भी घटनास्थल पर था। जबकि, यह बात होती रही कि मर्डर की योजना को अंजाम देकर उसने खुद को बचाने की पूरी कोशिश की है। एसपी साउथ ने कहा कि जल्द शूटर और उनको हॉयर करने वाले को पकड़कर पूरी कहानी बता दी जाएगी। अच्छेलाल ने कई लोगों से लाखों रुपए लिए हैं। इसके पहले पुलिस उसे कोलकाता से अरेस्ट करके जेल भेज चुकी है।

वारंट में पकड़ा गया था अच्छेलाल

झंगहा थाना में पुलिस ने आ‌र्म्स एक्ट के वारंट में अच्छेलाल को रविवार को अरेस्ट किया था। पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश किया तो जमानत मिल गई। पुलिस से जुड़े लोगों का कहना है कि आ‌र्म्स एक्ट का मुकदमा कैंट थाना में दर्ज हुआ था। कोर्ट ने झंगहा पुलिस को वारंट जारी किया था, जिसके आधार पर पुलिस ने कार्रवाई की। अच्छेलाल के साथ उसके बेटे अजय और कुशल भी पकड़े गए हैं। उनको मददगार बताया जा रहा है।

इन सवालों का नहीं मिला जवाब

-हिस्ट्रीशटर को रविवार को आ‌र्म्स एक्ट में अरेस्ट किया गया तो इतनी जल्दी कैसे छुट गया।

-अच्छेलाल के इशारे पर मर्डर हुआ तो कितने दिनों से साजिश गढ़ी जा रही थी।

-किसने शूटर हॉयर किया था। शूटर कौन थे, उनके बारे में कोई जानकारी नहीं है।

-रुपए न मिलने पर मर्डर करने से अच्छेलाल को क्या फायदा मिल सकता है।

-पुलिस का दावा है कि शूटरों संग अच्छेलाल भी फोर व्हीलर में था।

-अच्छेलाल शूटरों संग कितने समय मौजूद था। वह कहां-कहां गया।

-मर्डर के लिए कब, कितने दिनों से रेकी की गई थी।

हिस्ट्रीशीटर अच्छेलाल के अच्छे संबंध महिला संग है। वह पहले गुड्डू सेठ से रुपए मांग रहा था। बाद में पैसे न मिलने पर उसने महिला संग मिलकर सेठ के मर्डर की योजना बनाई। इससे महिला की भूमि भी बच गई और उसके रिश्ते भी बने रहे। शूटर को हायर करने वाले की पहचान हो गई है।

एके सिंह, एसपी साउथ

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.