सीरियसली नहीं लिया प्री बोर्ड, अब मा‌र्क्स टेंशन

Updated Date: Thu, 22 Apr 2021 01:58 PM (IST)

i special

-सीबीएसई ने एग्जाम कैंसिल कर हाइस्कूल के बच्चों को प्रमोट करने का दिया निर्देश

-सभी स्टूडेंट्स परेशान मन आ रहे सवाल कैसे मिलेंगे नंबर

-सब्जेक्ट सेलेक्ट करने में भी आएगी परेशानी

anurag.pandey@inext.co.in

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा परिषद (सीबीएसई) ने दसवीं बोर्ड की एग्जाम कैंसिल करने के साथ ही इस बार स्टूडेंट्स को इंटर्नल असेसमेंट आधार पर प्रमोट करने का डिसीजन लिया है। स्टूडेंट्स के मन में इस बात को लेकर सवाल आ रहे हैं कि आखिर ग्यारहवीं में वे किस आधार पर वे सब्जेक्ट का सेलेक्शन करेंगे। साथ ही उनके मन में यह भी चल रहा है कि उनके नंबर सम्मानजनक होंगे या नहीं? हाई स्कूल एग्जाम देने की तैयारी कर रहे ऐसे कई स्टूडेंट्स ने दैनिक जागरण-आई नेक्स्ट रिपोर्टर के साथ अपने सवाल श्ेायर किए। इसके बाद हमने एक्सपर्ट आर्मी स्कूल के प्रिंसिपल विशाल त्रिपाठी के सामने इन सवालों को रखा। आइए जानते हैं स्टूडेंट के सवाल पर क्या है एक्सपर्ट का जवाब।

नंबर के आधार पर सेलेक्ट करते थे सब्जेक्ट

पहले एग्जाम के बाद जब रिजल्ट घोषित होता था तो स्टूडेंट अपने इंट्रेस्ट के साथ दसवीं के नतीजों और सब्जेक्ट में मिले नम्बरों के आधार पर ग्यारहवीं में विषय सेलेक्ट करते थे, लेकिन इस बार एग्जाम नहीं होगा। ऐसे में मा‌र्क्स को लेकर बोर्ड कौन सा तरीका अपनाएगा इसको लेकर अभी तक सस्पेंस की कंडीशन बनी हुई है।

स्टूडेंट के सवाल एक्सपर्ट का जवाब

सवाल: मा‌र्क्स या ग्रेड देने में इंटर्नल के अलावा भी कुछ और चीजों का नंबर जोड़ा जाएगा।

-अनुराग पाठक

जवाब: इंटर्नल के अलावा सीबीएसई कोई अपना सिस्टम ऑनलाइन या ऑफलाइन डेवलप करेगी उसके थ्रू जो ग्रेडिंग होगी वो जोड़ा जा सकता है।

सवाल: प्री बोर्ड सीरियसली नहीं दिया इसलिए उसमें अच्छे मॉ‌र्क्स नहीं आए। क्या इसका असर रिजल्ट पर भी पड़ेगा?

-विभव पांडेय

जवाब: हां बिल्कुल। अगर प्री बोर्ड में अच्छा स्कोर नहीं किया है तो उसके आधार पर कम नंबर या ग्रेंडिंग हो सकती है।

सवाल: प्रमोट करने और मा‌र्क्स या ग्रेड किस आधार पर दिए जाएंगे।

-वंशिका श्रीवास्तव

जवाब: प्रमोट करने का आधार इंटर्नल और प्री बोर्ड होगा। इसी आधार पर नंबर या ग्रेडिंग दी जाएगी।

सवाल: मैंने ईमानदारी से दोनों ऑनलाइन प्री-बोर्ड एग्जाम दिए। इसके जरिए मैंने जानने की कोशिश की कि मैं कहां कमजोर हूं। हालांकि प्री-बोर्ड में मेरे नंबर बहुत कम आए। अब डर सता रहा है कि क्या होगा?

-अमन राय

जवाब: आपको डरने की जरूरत नहीं है। आगे चलकर कभी ऑफलाइन की कंडिशन बनती है तो सीबीएसई ऐसे स्टूडेंट्स को एक मौका देगी। इसके तहत उनको एग्जाम देने का मौका मिलेगा। इसकी तैयारी अभी से करना शुरू कर दें।

सवाल: प्री बोर्ड में मेरे नंबर अच्छे आए थे। तो क्या मैं मानकर चल सकता हूं कि मेरे अच्छे मा‌र्क्स आएंगे?

-मो़ सैफ

जवाब: जीहां, बिल्कुल आपके नंबर अच्छे आए हैं तो रिजल्ट बेहतर ही रहेगा। आपको अच्छे नंबर या ग्रेडिंग मिलेगी।

सवाल: 9 वीं क्लास में अच्छे नम्बर आए थे। ऐसा हो सकता है कि मुझे 9वीं के आधार पर हाई स्कूल में नंबर मिल जाए।

-आदित्य

जवाब: ऐसा नहीं है। 9वीं का सिलैबस अलग होता है। 10वीं का सिलेबस अलग होता है। 10वीं प्री बोर्ड में जो नंबर मिले हैं उसी आधार पर सबकुछ होगा।

सवाल: मुझे इंटर में मैथ्स लेना है। अगर मेरे नंबर कम होंगे तो मैं अपना फेवरेट सब्जेक्ट कैसे चूज कर सकूंगी।

-आयुषी त्रिपाठी

जवाब: आपको भरपूर मौका मिलेगा। अगर नंबर कम लगता है तो इंप्रूवमेंट या ऑफलाइन एग्जाम में शामिल होकर एक कोशिश कर सकती हैं।

सवाल: क्या मैं अब 11वीं की तैयारी कर सकती हूं।

जवाब: आपके प्री बोर्ड में नंब अच्छे आए हैं और उससे आप संतुष्ट हैं तो आप आगे की तैयारी कर सकती हैं।

वर्जन

बच्चों के इंट्रेस्ट को ध्यान में रखते हुए ही उन्हें सब्जेक्ट सेलेक्ट करने की अनुमति मिलनी चाहिए। जिससे बच्चे मन लगाकर अगली क्लास में पढ़ाई कर सकें और अपना बेहतर प्रदर्शन जारी रख सकें।

-विशाल त्रिपाठी, प्रधानाचार्य, आर्मी पब्लिक स्कूल

बच्चों को अपने करियर को लेकर चिंतित होना स्वाभाविक है। तनाव लेने से बेहतर ये तय करना जरूरी है कि आने वाले समय में आप क्या करना चाहते हैं और उसी के मुताबिक अपने भविष्य की नींव रखने की कोशिश करें।

-अजीत दीक्षित, कोआर्डिनेटर, सीबीएसई

आखरी सवाल अंजली वर्मा का था

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.