कहीं भजनों की गूंज तो कहीं हवन की आरती

Updated Date: Tue, 27 Oct 2020 07:08 AM (IST)

GORAKHPUR: कहीं भजनों की गूंज तो कहीं हवान की आरती के साथ स्वाहा के स्वर, हवनकुंड के पवित्र धुएं से घिरे देवी मंदिर और पूजा पंडाल धूप, अगरबत्ती व हवन की खुशबू से सराबोरे हो रहे। रविवार को नवरात्र की नवमी का नजारा कुछ ऐसा ही दिखा। पूरा वातावरण देवीमय रहा।

घरों में दुर्गा के नौवें रूप मां सिद्धिदात्री की पूजा की गई। हवन के बाद कई घरों में मां दुर्गा के रूप में पधारी नौ कन्याओं का भक्तों ने श्रद्धा के साथ पांव पखार कर पूजन-अर्चना किया। जहां एक तरफ लोग घरों में पूजन की व्यवस्था में जुटे रहे तो वहीं दूसरी तरफ काफी संख्या में देवी भक्तों ने तड़के देवी दर्शन के लिए माता के मंदिरों का रुख किया। बड़ी संख्या में मंदिर और पंडालों में पहुंचे भक्तों ने माता रानी की पूजा अर्चना कर मंगलकामना की। सुबह से देर राम तक बज रहे देवी गीत माहौल को भक्तिमय बना रहे हैं। कुछ लोगों ने घरों पर हवन कराया तो कुछ लोगों ने मंदिरों और पंडालों में सामूहिक हवन कर नौ दिन के उपवास की पूणर्1ाहुति दी।

हवन के बाद किया कन्या पूजन

नवरात्र की पूर्णाहुति देने के बाद भक्तों ने माता रुपी नौ कन्याओं का पूजन अर्चन किया। देवी मंदिरों के साथ ही घरों में पहुंची कन्याओं का भक्तों ने पैर धुलाया फिर रंग लगाया। इसके बाद फल, पुड़ी हलवा मिष्ठान आदि का भोग लगाकर दक्षिणा रूवरुप उपहार दिए। अघोर पीठ ट्रांसपोर्ट नगर में नौ कन्याओं का पूजन किया गया। उन्हें भोजन, पात्र, फल और दक्षिणा स्वरूप उपहार दिए गए। पीठ प्रमुख अवधूत छबीले राम ने नवमी पूजन के बाद कन्या पूजन किया।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.