विरोधियों को फंसाने के लिए रची किडनैपिंग की साजिश

बिहार के सीवान में मिली लोकेशन, एसएसपी ने दिया कार्रवाई का निर्देश

ब्यूटी पार्लर संचालक महिला के मर्डर में तीन साल से फरार चल रहा आरोपी

बेटी से बदसलूकी का विरोध करने पर महिला की हत्या के नामजद आरोपित ने विरोधियों को फंसाने के लिए अपनी गर्लफ्रेंड संग मिलकर अपहरण की कहानी रची। एक साजिश के तहत उसके घरवालों और गर्लफ्रेंड ने पुलिस को मामले की जानकारी दी। जांच में सच्चाई सामने आने पर आरोपित की तलाश में पुलिस लग गई है। उसका लोकेशन बिहार के सीवान में मिलने पर पुलिस की एक टीम भेजी गई।

मोहल्ले की महिला के मर्डर में है नामजद

चौरीचौरा, टेल्हनापार निवासी सुनील यादव उर्फ डिंपल के पिता यूपी पुलिस में कांस्टेबल है। वह अपने मोहल्ले की किशोरी संग आए दिन बदसलूकी करता था। आरोप है कि विरोध करने पर आठ मई 2020 को सुनील ने अपने घरवालों के साथ मिलकर किशोरी की मां, ब्यूटी पार्लर संचालिका आशा देवी की पीट-पीटकर हत्या कर दी। आशा के पति नीरज कन्नौजिया ने छह लोगों के खिलाफ मर्डर, अनुसूचित जाति के उत्पीड़न, बलवा सहित अन्य धाराओं में केस दर्ज कराया। तभी से सुनील फरार चल रहा है।

भाई ने दी पुलिस को अपहरण की सूचना

आरोपित अपने मोहल्ले में आता जाता रहा। लेकिन पुलिस ने उसे अरेस्ट नहीं किया। 29 अगस्त की शाम करीब साढ़े चार बजे सुनील के बड़े भाई अनिल ने डायल 112 पर काल करके सूचना दी। बताया कि सुनील का अपहरण हो गया है। मर्डर में वांटेड मुल्जिम की किडनैपिंग से पुलिस हरकत में आई। इस दौरान पता लगा कि वह बेलीपार में रहने वाली अपनी गर्लफ्रेंड के घर में छिपा था। वहीं से उसका अपहरण कर लिया गया है। पुलिस ने जब सुनील की गर्लफ्रेंड और उसके भाई से पूछताछ की तो सही बात सामने आई। पुलिस को देखकर विरोधियों को फर्जी मुकदमे में फंसाने के लिए तीनों ने साजिश रची थी। तथाकथित अपहृत की बरामदगी में पुलिस की एक टीम बिहार रवाना हो गई है।

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.