'भौकाल' पर पुलिस का पहरा

Updated Date: Mon, 11 Jan 2021 08:42 AM (IST)

- मुकदमा दर्ज होते ही पुलिस भेज देगी रिपोर्ट

- असलहों से लेकर ठेकेदारी तक होगी प्रभावित

GORAKHPUR: जिले में असलहों के नए लाइसेंस पाने की डगर जितनी मुश्किल है, उससे कहीं ज्यादा पुराने असलहों को सुरक्षित रख पाना है। असलहे लेकर भौकाल दिखाने वालों को अब काफी संयम बरतना होगा। मामूली बातों पर तैश खाकर असलहे का इस्तेमाल करना उनके लिए भारी पड़ सकता है। कोई भी आपराधिक मुकदमा दर्ज होने पर असलहे से हाथ धो बैठेंगे। जिले में कुल 149 लोगों की स्कैनिंग पुलिस कर रही है। जितने लोगों को स्कैन किया जा चुका है। उनके लाइसेंस कैसिंल करने के संबंध में कार्रवाई जारी है। आगे भी यदि किसी के खिलाफ आपराधिक मुकदमा हुआ, तो रिपोर्ट डीएम को भेजी जाएगी। इसके बाद लाइसेंस भी कैंसल हो सकता है।

149 के खिलाफ हो रही जांच, 43 पर गिरी गाज

जिले में लाइसेंसी असलहे रखना आसान नहीं रह गया है। साल 2019 में फर्जी लाइसेंस पर गन खरीदने का प्रकरण सामने आने के बाद असलहों को लेकर पुलिस-प्रशासन की सक्रियता बढ़ गई है। फर्जी लाइसेंस प्रकरण में जहां पुलिस ने ताबड़तोड़ कार्रवाई की थी, वहीं अब लाइसेंस लेने के बाद क्रिमिनल एक्टिविटीज में शामिल पाए जाने पर शिकंजा कसना शुरू हो गया है। जिले में पिछले तीन साल के भीतर कुल 149 लोगों की जांच चल रही है। इनके खिलाफ किसी थाना में आपराधिक मामला दर्ज है। ऐसे सभी लोगों के लाइसेंस कैसिंल करने की संस्तुति पुलिस करेगी। दो दिन पूर्व पुलिस की रिपोर्ट पर जिले में 41 लोगों के लाइसेंस डीएम ने सस्पेंड कर दिए। 43 असलहा धारकों के खिलाफ मिली रिपोर्ट के आधार पर 41 लाइसेंस को डीएम ने कार्रवाई की। दो अन्य जिलों से संबंधित होने की वजह से उसकी रिपोर्ट भेजी गई है।

ऐसे कस रहे शिकंजा

- जिले में करीब 21 हजार लाइसेंस धारक हैं।

- हर थाना में लाइसेंसी असलहा धारकों की डिटेल होती है।

- थाना और चौकी के सेक्शन बोर्ड पर बाकायदा नाम लिखा जाता है।

- किसी तरह की शिकायत आने पर तत्काल पुलिस को जानकारी मिल जाती है।

- कोई भी आपराधिक मुकदमा दर्ज होने पर पुलिस इसकी रिपोर्ट बनाकर भेज देगी।

- एसएसपी की संस्तुति पर डीएम लाइसेंस कैसिंल करने का आदेश जारी करेंगे।

- लाइसेंस लेने के बाद उनके खिलाफ किस तरह केस दर्ज हुए हैं। इसकी पड़ताल होगी।

ऐसे मामलों में होगी कार्रवाई

- जानमाल की धमकी देने, मारपीट करने, बलवा, मर्डर, अपहरण, रंगदारी, गुंडा एक्ट, गैंगेस्टर सहित अन्य आपराधिक कृत्य

तीन असलहे हैं तो दे प्रशासन को सूचना

एक लाइसेंस पर तीन असलहे रखने पर भी रोक लग चुकी है। पूर्व में इस संबंध में आदेश जारी हो चुका है कि यदि किसी के खिलाफ एक लाइसेंस पर तीन असलहे हैं, तो एक असलहा जमा कराना होगा। इस आदेश से भी कई लाइसेंसी काफी परेशान हुए थे। लाइसेंस से जुड़े लोगों का कहना है कि अन्य के बारे में जांच कराई जा रही है। रिपोर्ट आते ही कार्रवाई पूरी कर ली जाएगी।

दूसरे के नाम लाइसेंस पर भी नजर

ऐसा नहीं है कि सिर्फ उनके खिलाफ ही कार्रवाई होगी जिनके नाम से लाइसेंस है। बल्कि ऐसे लोगों पर दायरे में लाया जाएगा जिसके परिवार में पत्नी, बेटे या अन्य किसी रिश्तेदार के नाम से लाइसेंस लिया गया है। आपराधिक मुकदमा दर्ज होने पर कई लोग अपनी पत्नी के नाम से लाइसेंस ले लेते हैं, इसलिए ऐसे लोगों को इस दायरे में लाने की तैयारी है।

इनके खिलाफ हुई है कार्रवाई

महादेव झारखंडी निवासी नरेंद्र मणि त्रिपाठी और राजेंद्र मणि त्रिपाठी, बेलीपार निवासी बलदेव यादव, गुलरिहा करमहा निवासी अली हुसैन के दो लाइसेंस, बांसगांव निवासी अंशुमान सिंह के बेटे कमलेश कुमार सिंह, चौरीचौरा के सोनबरसा निवासी जययप्रकाश जायसवाल, चौरीचौरा के देवीपुर निवासी विरेंद्र यादव, उरूवा के असिलाभार निवासी अजय चन्द, खजनी के रुद्रपुर निवासी अवधेश कुमार तिवारी, भीटी खोरिया निवासी अरविंद उर्फ मुन्नू पांडेय, सोनबरसा निवासी वेद प्रकाश जायसवाल, चौरीचौरा के बरही निवासी गौतम यादव, सुकरौली निवासी महेश्वर पांडेय, बेलीपार के बिस्टौला खुर्द निवासी भीमसेन निषाद, खजनी-बसडीला निवासी कमलेश शर्मा, बड़हलगंज के दवानाडीह निवासी मनोज कुमार, यहीं के धर्मराज, बेलघाट के शाहपुर निवासी इजहार, बेलघाट के टेकुआनाथ निवासी अरुण सिंह, एकौना निवासी लालजी यादव, तिवारीपुर के डोमिनगढ निवासी इंद्रपाल यादव, धर्मशाला बाजार निवासी बबलू कुमार गुप्ता, मृतक सईद अहमद, सुबा बाजार निवासी रामस्नेही, बड़हलगंज के मोहम्मदपुर निवासी सोनू ओझा, सीधेगौर निवासी ओम प्रकाश तिवारी, सिकरीगंज के बनकटा निवासी जीत बहादुर सिंह, सिकरीगंज के छतियारी निवासी योगेंद्र यादव, सिकरीगंज के सोड़ा निवासी श्रीलाल देव, सिकरीगंज के दीनानाथ, बिजौरा अमरेंद्र प्रताप सिंह, हरपुर बुदहट के डुमरैला निवासी धमुषधारी, बरयामीर निवासी पारस यादव, गोला के सेमरी गांव निवासी महेंद्र तिवारी, गोला निवासी सदन तिवारी, मन्नीपुर निवासी संजय तिवारी, बांसगांव के लालपुर निवासी डोगई यादव, बड़हलगंज के दवनाडीह निवासी राजू उर्फ राजीव, झझवा निवासी रमेश दुबे, साऊखोर निवासी धर्मेंद्र यादव, त्रिलोकपुर निवासी ओमकारनाथ मिश्रा, जिगिनिया निवासी विजय बहादुर यादव

आपराधिक मामले दर्ज होने पर कार्रवाई होगी। जिसके खिलाफ मुकदमा दर्ज होगा। उसकी रिपोर्ट भेजी जाएगी। इसकी शुरूआत की जा चुकी है। यह प्रक्रिया जारी रहेगी। इस संबंध में सभी थानेदारों को निर्देश दिया जा चुका है।

जोगेंद्र कुमार, डीआईजी/एसएसपी

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.