पोस्टरवार में इस बार योगी आदित्यनाथ बने 'हनुमान'

Updated Date: Sat, 09 Jul 2016 02:01 PM (IST)

- भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा ने ईद मिलन कार्यक्रम में जारी किया पोस्टर

- आदित्यनाथ को बनाया हनुमान, विपक्षियों को जमीन पर लिटाया

GORAKHPUR: गोरखपुर में पोस्टरवार खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। शुक्रवार को भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा की तरफ से एक और विवादास्पद पोस्टर जारी हुआ। भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के ईद मिलन कार्यक्रम में जारी इस पोस्टर में सदर सांसद योगी आदित्यनाथ को बजरंगबली के रूप में दिखाया गया है। उनके हाथ में राम मंदिर है। वहीं ओवैसी, अखिलेश, मायावती और राहुल गांधी का कार्टून बनाकर जमीन पर धराशायी दिखाया गया है। भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा ने फिर से विवादित पोस्टर को जारी कर गोरखपुर की राजनीति का हवा दे दी है। भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा के पूर्व प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य इरफान अहमद ने बताया कि ईद पर यह पोस्टर जारी करके यह संदेश देना चाहता है कि मुस्लिम समाज भी योगी आदित्यनाथ के साथ है।

पहले भी जारी हुए हैं पोस्टर

पिछले छह माह के रिकार्ड पर नजर डालें तो सभी पार्टियां एक-दूसरे पर आरोप लगा रही हैं। पोस्टरबाजी का खेल कांग्रेस ने शुरू किया था।

1 मई- कांग्रेस ने पोस्टर लांच किया, जिसमें राहुल गांधी दबंग और अन्य पार्टियों नेताओं को बाहुबली और भ्रष्टाचारी के रूप में थे।

आठ मई- भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बनने के बाद पहली बार गोरखपुर आ रहे केशव प्रसाद मौर्य के आगमन पर अल्पसंख्यक मोर्चा ने एक पोस्टर जारी किया था। इसमें योगी आदित्यनाथ को शेर के रूप में, जबकि अन्य नेताओं को बकरी बनाया गया था।

पांच जून- योगी आदित्यनाथ के जन्मदिन पर एक और पोस्टर जारी किया। इसमें उन्हें राम बनाया और रावण के मस्तक बना अन्य पार्टी नेताओं के चेहरे लगाए थे।

मैं आज कुछ अधिक व्यस्त था। पोस्टर जैसी किसी बात की जानकारी नहीं हो पाई है। मुझे नहीं पता कि वह किसने होर्डिग्स बनाया है।

योगी आदित्यनाथ, सदर सांसद गोरखपुर

भाजपा अल्पसंख्यक मोर्चा द्वारा सांसद योगी आदित्यनाथ को भगवान हनुमान का रूप देना हिन्दू आस्था के साथ खिलवाड़ है। भाजपा के लोगों को ऐसे कृत्य के लिए तत्काल माफी मांगनी चाहिए।

प्रबल प्रताप शाही, जिला संयोजक आम आदमी पार्टी

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.