मंडी से निकलते ही बढ़ जा रहे हैं हरी सब्जियों के 'नखरे'

Updated Date: Fri, 25 Sep 2020 07:48 AM (IST)

- बारिश के कारण मंडी नहीं गए शहर के अधिकतर फुटकर व्यापारी

- थोक मंडी में मांग से ज्यादा सब्जियां होने से घट गए दाम

GORAKHPUR: लगातार बारिश की वजह से पूर्वाचल की थोक मंडी महेवा से निकलते ही हरी सब्जियों की दोगुनी कीमत हो जा रही है। थोक में सस्ता माल खरीदकर खुदरा बाजार में इन्हें मनमाने दामों पर बेचा जा रहा है। थोक मंडी में गुरुवार को हरी सब्जियों का भाव खुदारा के मुकाबले काफी कम रहा। सब्जी के दामों में आई तेजी से आम जनता परेशान है, लेकिन जिम्मेदारों की नजर अब तक उधर नहीं गई है। हालत यह है कि सामान खरीदने की मजबूरी में लोग मनमाने दाम पर सब्जियां खरीद रहे हैं।

बारिश की वजह से आया उछाल

दो दिनों से लगातार बारिश के चलते हरी सब्जियों के दाम और तेजी आने लगी है। दस रोज पहले सब्जी के भाव थोक मंडी में काफी थोड़ा फर्क था। वर्तमान में जो सब्जियां थोक मंडी में 10, 20 और 30 रुपए प्रति किलो के हिसाब से बिक रही हैं, वहीं खुदरा में उनके 40 से 60 रुपए प्रति किलो वसूल किए जा रहे हैं। एसोसिएशन के अध्यक्ष अवध गुप्ता ने बताया कि बारिश की वजह से मंडी में खुदरा कारोबारी मंडी में नहीं पहुंचे। मौसम मे उतार-चढ़ाव की वजह से धीरे-धीरे तेजी आ रही है। अगर बरसात लगातार होती रही तो भाव तेजी से बढ़ सकता है।

खुदरा में किलो नहीं रेट बता रहे पाव

खुदरा मार्केट में कोराबारी हरी सब्जियों का भाव किलो में न बताकर पाव में बता रहे हैं। जिसे सुनकर लोगों को लगे कि सब्जी सस्ती है। इन दिनों मार्केट में 40 से 60 रुपए प्रति किलो के भाव में सभी सब्जियां मिल रही है। यह हाल कहीं और का नहीं है, शास्त्री चौक, गोरखनाथ, दीवानी, कूडाघाट, असुरन, खजांची, अलीनगर आदि मार्केट का है। जहां सभी तरह की सब्जियां मिल जाने की वजह से लोग खरीदारी के लिए पहुंचते हैं।

सब्जी थोक रेट प्रति केजी खुदरा रेट प्रति केजी

टमाटर 20-30 60-80

परवल 20-30 50-60

गोभी 20-40 60-80

भिंडी 15-20 40

नेनुआ 10 40

पत्ता गोभी 15-20 60

प्याज 30-35 40

आलू 22-28 40

लौकी 10-12 30

हरा मिर्च 15-30 60

शिमला मिर्च 25-30 60

अदरक 30-50 100

कच्चा केला 14-15 40

कददू 08-10 30

थोक मंडी में हरी सब्जियों के भाव स्थिर है, लेकिन खुदरा कोराबारियों ने सब्जियों के भाव बढ़ा दिए है। जिसकी वजह से आम जनता की जेब पर अतिरिक्त बोझ पड़ रहा है। इसपर जिम्मेदार भी अंकुश नहीं लगा पा रहे हैं।

उमेश सिंह

लगातार हो रही बारिश का खुदरा कारोबारी फायदा उठा रहे हैं। जबकि थोक मंडी में विभिन्न हरी सब्जियों के रेट सामान्य है। ये आम जनता की मजबूरी का फायदा उठा रहे हैं। इस पर जिम्मेदारों को सोचना होगा।

अवधेश यादव

खुदारा मार्केट में हरी सब्जियां 40 से 60 रुपए बिक रहा है। जबकि थोक में 20 से 30 रुपए प्रति केजी है। इन कोराबारियों ने लोगों का बजट बिगाड़ दिया है।

संतोष

Posted By: Inextlive
This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy  and  Cookie Policy.